दिग्विजय सिंह ने पीएम मोदी को घेरा, पूछे दस सवाल       CAA हिंसा पर सोनिया गाँधी ने पहली बार तोड़ी चुप्पी       आज इन जगहों पर होगा भारी ट्रैफिक, ट्रंप का दिल्ली दौरा       दिल्ली हिंसा पर गृह मंत्रालय की बड़ी मीटिंग ख़त्म, अमित शाह बोले...       दिल्ली में कुछ उपद्रवी तत्व भड़का रहे हिंसा : किशन रेड्डी       सांस्कृतिक प्रोग्राम से भटकी मेलानिया ट्रंप की नजरे       राजीव शुक्ला ने गौतम गंभीर को लेकर बड़ा बयान       इल्तिजा मुफ़्ती का तंज, कहा- दिल्ली जल रही, लेकिन...       इन ​अधिकारियों पर मुकदमा हुआ दर्ज, भ्रष्टाचार के विरूद्ध मुख्यमंत्री योगी का जीरो टालरेंस       भीमा कोरेगांव मुद्दे में शरद पवार से की जाएगी पूछताछ       दिल्ली हिंसा पर मनोज तिवारी ने कहा कि भड़काने वालों को चिन्हित किया जाए       दिग्विजय मुझसे अभिव्यक्ति का अधिकार नहीं छीन सकते : भाजपा प्रवक्ता कोठारी       कपिल मिश्रा ने कहा कि ओवैसी मुझे गाली दे रहा है, क्योंकि मैंने आतंक के विरूद्ध बोलने का साहस किया       बिहार विधानसभा में CAA-NRC पर हंगामा, मुख्यमंत्री नितीश बोले...       सीएस प्रोफेशनल व एग्जीक्यूटिव के परिणाम घोषित, यहां देखें रिजल्ट       495 पदों के लिए निकली भर्ती, सैलेरी 1.77 लाख रुपए       कर्मचारी चयन आयोग के 1355 पदों पर भर्ती, जल्द से जल्द करें आवेदन       ऐसे करें इम्तिहान की तैयारी, गारंटेड होगा सिलेक्शन       उपनिरीक्षक, हेड कांस्टेबल पदों के लिए निकली भर्ती, फटाफट करें अप्लाई       इस दिन जारी होंगे राजस्थान बोर्ड 10वीं के एडमिट कार्ड      

40 जवानों की वीरगति को श्रद्धांजलि

40 जवानों की वीरगति को श्रद्धांजलि

14 फरवरी, 2019 का वो काला दिन जब अपने जवानों की वीरगति पर सारे देश की आंखों में आंसू थे. दोपहर के 3:30 बजे रहे थे, जब आतंकवादियों ने वीर जवानों के काफिले पर हमला कर दिया था. इसमें देश के 40 जवानों ने अपनी वीरगति दी थी. एक वर्ष हो गया है इस दुखद घटना को, लेकिन आज भी दिलों में पुलवामा हमला का दर्द उपस्थित है. वहीं, आज इन जवानों को श्रद्धांजलि भी दी जा रही है.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, 'मैं पुलवामा हमले के शहीदों को श्रद्धांजलि देता हूं. हिंदुस्तान हमेशा हमारे बहादुरों व उनके परिवारों का आभारी रहेगा जिन्होंने हमारी मातृभूमि की संप्रभुता व अखंडता के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया.'

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 2019 में इसी दिन पुलवामा (J & K) में हुए बेरहमी से हमले के दौरान शहीद जवानों को याद करते हुए कहा, 'भारत उनके बलिदान को कभी नहीं भूलेगा. संपूर्ण देश आतंकवाद के विरूद्ध एकजुट है व हम इस खतरे के विरूद्ध अपनी लड़ाई जारी रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं.'

पुलवामा आतंकवादी हमला

तारीख- 14 फरवरी, 2019

दिन- गुरुवार

समय- दोपहर के 3:30 बजे

सीआरपीएफ की 78 बसें करीब 2500 जवानों को लेकर नेशनल हाईवे 44 से गुजर रही थीं. हर बार की तरह इस बार सड़क पर दूसरे वाहनों की आवाजाही को रोके बिना ये काफिला आगे बढ़ रहा था. बसों में बैठे कई जवान छुट्टी पर वापस अपने घर जा रहे थे.

तभी एक कार ने सड़क की दूसरी तरफ से आकर इस काफिले के साथ चल रही बस में टक्‍कर मार दी. इसके बाद हुआ एक जबरदस्‍त धमाका, जिसमें बस के साथ जवानों के शरीर के परखच्‍चे भी उड़ गए. जवान कुछ समझ पाते या हमले का जवाब देने के लिए अपनी पॉजीशन ले पाते, इससे पहले उनके ऊपर आतंकवादियों ने फायरिंग प्रारम्भ कर दी. सीआरपीएफ जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की लेकिन आतंकवादी वहां से भागने में पास हो गए.

कुछ ही देर में ये समाचार मीडिया के जरिए सारे देश में आग की तरह फैल गई. हर कोई इस हमले से गुस्‍से में था. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. यह जवान सीआरपीएफ की 76 बटालियन से थे. इसके अतिरिक्त कई जवान घायल हो गए थे.


CAA हिंसा पर सोनिया गाँधी ने पहली बार तोड़ी चुप्पी

CAA हिंसा पर सोनिया गाँधी ने पहली बार तोड़ी चुप्पी

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरूद्ध दिल्ली में भड़की हिंसा पर कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी का बयान सामने आया है। उन्होंने दिल्ली की आवाम से सांप्रदायिक सद्भाव कायम रखने व देश को धर्म-मज़हब के आधार पर बांटने वाली फ़िरकापरस्त ताक़तों के गलत मंसूबों को नाकाम करने की अपील की है।

यहां जारी किए गए एक बयान में सोनिया गांधी ने हिंसा में मारे गए हेड कांस्टेबल रतन लाल की मृत्यु पर गहरा शोक और दुःख प्रकट करते हुए शोक संतप्त परिवार के प्रति अपनी संवेदना भी जाहिर की। उन्होंने देशवासियों से आह्वान किया कि किसी भी तरह की हिंसा का महात्मा गांधी जी के हिंदुस्तान में कोई स्थान नहीं हो सकती। देश में उन ताक़तों की कोई जगह नहीं है, जो अपनी सांप्रदायिक व विभाजनकारी विचारधारा को भारतवर्ष पर थोपना चाहते हैं।

आपको बता दें कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में सोमवार को जमकर हिंसा हुई। सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि इस हिंसा में अब तक एक पुलिसकर्मी सहित 6 लोग मारे गए हैं। IPS अधिकारी ACP गोकुलपुरी अनुज कुमार भी पत्थरबाज़ी में जख्मी हुए हैं। उन्हें मैक्स हॉस्पिटल पटपड़गंज में भर्ती कराया गया है। गंभीर रूप से जख्मी DCP शाहदरा अमित शर्मा की सर्जरी चल रही है।

Loading...