गृह मंत्रालय ने NIA को सौंपी अमरावती उमेश कोल्हे की हत्या का केस

गृह मंत्रालय ने NIA को सौंपी अमरावती उमेश कोल्हे की हत्या का केस
केंद्रीय गृह मंत्रालय ने महाराष्ट्र के अमरावती शहर में 54 वर्षीय कैमिस्ट की मर्डर में बड़ा निर्णय सुनाया है. भाजपा (BJP) की निलंबित प्रवक्ता नुपुर शर्मा (Nupur Sharma Comment) के समर्थन में सोशल मीडिया पर कथित तौर पर कुछ टिप्पणी के चलते हुई कैमिस्ट उमेश प्रह्लादराव कोल्हे की मर्डर की जांच अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) करेगी. गृह मंत्रालय ने 21 जून को अमरावती महाराष्ट्र में उमेश कोल्हे की बर्बर मर्डर से संबंधित मुद्दे की जांच NIA को सौंप दी है. अब एनआईए (NIA) मर्डर के पीछे की साजिश, संगठनों की संलिप्तता और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों की गहन जांच करेगी.

आपको बता दें कि, हाल ही में उदयपुर की घटना को देखते हुए केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को अमरावती के एक दवा दुकान मालिक उमेश कोल्हे की मर्डर की जांच करने का निर्देश दे दिया है. उमेश कोल्हे ने फेसबुक पर निलंबित बीजेपी नेता नूपुर शर्मा के समर्थन में एक पोस्ट डाला था, जिसे लेकर यह मर्डर होने की बात सामने आई है. अमरावती के इस मर्डर के सिलसिले में अब तक कुल 6 लोगों को अरैस्ट किया जा चुका है. क्षेत्रीय न्यायालय ने सभी आरोपियों को 5 जुलाई तक पुलिस हिरासत में भेज दिया है

आपको बता दें कि, नुपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद के विरूद्ध आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिसके विरूद्ध राष्ट्र और दुनिया के कई हिस्सों में प्रदर्शन हुए थे. अभी राजस्थान के उदयपुर में दर्जी कन्हैया लाल की मर्डर (Udaipur Taylor Murder) की आग ठंडी भी नही पड़ी थी की एक बार उमेश की मर्डर कर दी गई.जिसकी चारों तरफ घोर निंदा हो रही है.

डीसीपी अमरावती विक्रम साली ने बताया है कि, अबतक इस मुद्दे में 6 लोगों को अरैस्ट किया गया है. पुलिस ने उन्हें अरैस्ट कारागार भेज दिया है. आरोपियों पर आईपीसी (IPC) की धारा 302 (हत्या),120 बी (आपराधिक साजिश) आदि के अनुसार मामला दर्ज किया गया.  न्यायालय ने उन्हें 5 जुलाई तक पुलिस रिमांड में भेज दिया है.