जनता से एकजुट होने की कर दी अपील, सोनिया गांधी ने गहरी साजिश का किया खुलासा!

जनता से एकजुट होने की कर दी अपील, सोनिया गांधी ने गहरी साजिश का किया खुलासा!

शनिवार को कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लोगों से एक​​ विशेष विनती की है। जिसके तहत उन्होने जनता से बोला कि वे अपने पर्सनल पूर्वाग्रहों से ऊपर उठकर संविधान व उसके मूल्यों की रक्षा के लिए एकजुट हों। सोनिया ने दावा किया कि संवैधानिक मूल्यों को एक गहरी साजिश के तहत निशाना बनाया जा रहा है।

कानून के विरोध को लेकर गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर सोनिया ने कहा, 'यह हर नागरिक का दायित्व है कि वह संविधान की रक्षा करने व देश की एकता को मजबूत करने की दिशा में काम करे। लोगों को धर्म, क्षेत्रवाद व भाषा के नाम पर बांटने की प्रयास की जा रही है। देश में अशांति, डर व असुरक्षा का एक अभूतपूर्व वातावरण तैयार कर दिया गया है। आम आदमी यह सोचने लगा है कि मौजूदा सरकार के हाथों में संवैधानिक मूल्य अब सुरक्षित नहीं रह गए हैं। '

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि वर्तमान केन्द्र सरकार अपनी आर्थिक नाकामियों, प्रशासनिक विफलता, आसमान छूती महंगाई, हर तरफ मंदी के माहौल व बढ़ती बेरोजगारी से लोगों का ध्यान हटाने के लिए माहौल बेकार करने का कार्य कर रही है। सोनिया ने कहा, संविधान का हर अक्षर महज छपा हुआ एक शब्द भर नहीं है, बल्कि यह हर नागरिक के लिए जीता-जागता एक दर्शन है। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर मचे बवाल के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 71वें गणतंत्र दिवस के मौके पर देश के लोगों, खासकर युवाओं को नसीहत दी है। गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर देश के नाम अपने संबोधन में राष्ट्रपति ने बोला कि किसी मामले को लेकर आंदोलन में अहिंसा के रास्ते पर चलना महत्वपूर्ण है। उन्होंने स्पष्ट किया कि हिंसा से कभी कोई लक्ष्य हासिल नहीं होता।