कुम्भ मेले से लौटने वाले लोग बढ़ा सकते हैं कोरोना महामारी को : संजय राउत

कुम्भ मेले से लौटने वाले लोग बढ़ा सकते हैं कोरोना महामारी को : संजय राउत

शिवसेना सांसद संजय राउत ने मंगलवार को यह आशंका व्यक्त की कि हरिद्वार के कुंभ मेले से लौटने वाले लोग कोविड-19 संक्रमण के संभावित वाहक बन जाएंगे, जिससे खतरा पैदा होगा। राउत की यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब एक दिन पहले हजारों भक्तों ने हरिद्वार में गंगा नदी के विभिन्न घाटों पर पवित्र डुबकी लगाई।

राउत ने कहा, ‘‘त्योहारों और धार्मिक समारोहों पर प्रतिबंध लगाना शिवसेना के लिए पीड़ादायक है, लेकिन पार्टी में लोगों के जीवन को बचाने के लिए ऐसा करने का साहस है। हमारी प्राथमिकता अधिक से अधिक लोगों की जान बचाना है। मेरा मानना है कि कुंभ मेला से आने वाले लोग कोरोना वायरस के संक्रमण को और अधिक फैला सकते हैं, जिससे तबाही होगी।’’ 

इससे पहले, दिन में पत्रकारों से बात करते हुए, मुंबई के प्रभारी मंत्री और कांग्रेस नेता असलम शेख ने कहा था कि राज्य सरकार को कुंभ मेले से लौटने वाले लोगों को लेकर दिशा-निर्देश तय करने होंगे, क्योंकि समारोह के दौरान कोविड-19 के उचित व्यवहार का पालन नहीं किया गया। 

कोविड-19 मामलों और इससे हुई मौतों की संख्या के मामले में महाराष्ट्र देश में सबसे अधिक प्रभावित राज्य है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, सोमवार तक राज्य में कोविड-19 के कुल 34,58,996 मामले आ चुके हैं, जबकि 58,245 मौतें हो चुकी हैं। 


अफगानिस्तान में भारतीय राजनयिक विनेश कालरा का मृत्यु

अफगानिस्तान में भारतीय राजनयिक विनेश कालरा का मृत्यु

अफगानिस्तान में हिंदुस्तान के वरिष्ठ राजनयिक विनेश कालरा का मृत्यु हो गया। मजारे शरीफ में हिंदुस्तान के कौंसिल जनरल के तौर पर तैनात कालरा कोविड-19 संक्रमण का शिकार होने के बाद बीते कुछ दिनों के काबुल के हॉस्पिटल में भर्ती थे।


विदेश मंत्री एस जयशंकर ने विनेश कालरा के मृत्यु पर शोक जताते हुए बोला कि, "उनके जैसे समर्पित सहयोगी का जाना बहुत दुःखद है। उनकी कमी हमेशा महसूस होगी। " वहीं विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने बोला कि, "हमने एक निष्ठावान ऑफिसर खोया है जिसने स्वयं आगे बढ़कर एक चुनौतीपूर्ण तैनाती को स्वीकार किया था। "


कालरा के मृत्यु पर अफगानिस्तान के विदेश मंत्रालय ने भी शोक संदेश जारी कर बोला है कि, "एक कर्मठ राजनयिक के तौर पर उन्होंने दोनों राष्ट्रों के संबंध मजबूत बनाने में जरूरी किरदार निभाई। " भारतीय विदेश सेवा में 2008 में आए विनेश कालरा राजनयिक के तौर पर मस्कट, ओमान, दक्षिण अफ्रीका, चाइना समेत कई राष्ट्रों में तैनात रहे।


कोरान संक्रमण से प्रभावित होने के बाद यह किसी भारतीय राजनयिक की मृत्यु का पहला केस है। हालांकि बीते दो महीनों के दौरान कई वरिष्ठ राजनयिक कोविड-19 संक्रमण की चपेट में आए हैं।


देश में अब तक 17.27 करोड़ से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन       अफगानिस्तान में भारतीय राजनयिक विनेश कालरा का मृत्यु       जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी को लिखी पांच पन्नों की चिट्ठी, कहा...       कोविड-19 मुद्दे में केन्द्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय को दी अति उत्साह में निर्णय ना लेने की सलाह, कहा...       Ghazipur में गंगा नदी में दर्जनों लाशें दिखने से मचा हड़कंप       राहुल का प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी पर जोरदार हमला, कहा...       नगालैंड और तेलंगाना सरकार ने लिया संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला!       सना मकबूल ने मनोकिनी में शेयर की कातिलाना फोटोज, तस्वीरों ने लूटा फैंस का दिल       शेफाली जरीवाला ने ट्रांसपेरेंट टॉप में दिखाईं ग्लैमरस अदाएं, देखें फोटोज       ये है दुनिया का सबसे अनोखा रेस्टोरेंट, हवा में ले सकते हैं खाना खाने का आनंद       अपने चेहरे को चमकदार और खूबसूरत बनाये रखने के लिए अपनाएं ये देसी तरीके       लम्बे समय तक ब्यूटीफुल और यंग दिखने के लिए फॉलो करें ये टिप्स       आखिर महिलाएं रोमांस के लिए क्यों करती है सर्दियों का इंतजार       अलाना पांडे के बोल्ड बिकिनी अवतार ने गर्माया इंस्टा का माहौल       अगर पैसे कमाने के बावजूद घर में नहीं टिकता है पैसा, तो...       घर में गलत दिशा में लगी घडी भी आपको कर सकती है बर्बाद       मौसमी बीमारी के कारण बन्द नाक को खोलने के उपाय       रोज शराब का सेवन करने से बढ़ता का कैंसर का खतरा       जानें क्या है "स्वाइन फ्लू" के लक्षण और रोकने के उपाय       जोड़ों के दर्द में फायदेमंद है कटहल का सेवन