आखिर ऐसा क्या हुआ की लखनऊ में फिर से रोकी मेट्रो

आखिर ऐसा क्या हुआ की लखनऊ में फिर से रोकी मेट्रो

लखनऊ में मेट्रो स्टेशनों पर बंदरों का उत्पात थम नहीं रहा. सोमवार को दुर्गापुरी मेट्रो स्टेशन पर बंदरों ने प्लेटफार्म पर रखे सेफ्टी कोन को ट्रैक पर गिरा दिया. अपलाइन से आ रही मेट्रो के इससे टकराने पर इमरजेंसी ब्रेक लग गया. ट्रेन में सवार कई यात्री इधर-उधर गिर पड़े. कुछ को चोटें भी आयीं. सूचना पर एलएमआरसी के इंजीनियरों और अधिकारियों की टीम मौके पर पहुंची.अधिकारियों ने लोगों को ट्रेन से बाहर निकलवाया. जाँच में मेट्रो में आई खराबी के बाद उसे वापस डिपो भेजवाया गया. हादसे के कारण मेट्रो का संचालन 30 मिनट ठप रहा.

दुर्गापुरी स्टेशन पर सोमवार को उत्पात कर रहे बंदरों ने शाम में करीब 4.20 बजे सेफ्टी कोन ट्रैक पर गिरा दिया. इसी बीच अपलाइन से ट्रैक पर ट्रेन आ गयी. ट्रेन सेफ्टी कोन से टकरा गयी. सेंसर के कारण ट्रेन में इमरजेंसी ब्रेक लग गया. ट्रेन में यात्री इधर-उधर गिर गए. कुछ को चोट भी आई.एलएमआरसी के डायरेक्टर आपरेशन सुशील कुमार सहित तमाम ऑफिसर मौके पर पहुंच गए.नार्थ साउथ कारिडोर पर चल रही सभी ट्रेनों को जहां थी वहीं रोक दिया गया. करीब 4.50 बजे के बाद दोबारा मेट्रो का संचालन प्रारम्भ हुआ.

प्लेटफार्म नम्बर एक पर हड़कंप

घटना प्लेटफार्म नम्बर एक पर हुई. ट्रेन नम्बर एस 09 अप लाइन पर आ रही थी. बंदर ने ट्रैक पर पर सेफ्टी कोन गिराया. इमरजेंसी ब्रेक लगने के बावजूद लोगों को ज्यादा चोट नहीं आयी. आलमबाग सुजानपुरा निवासी अजय ने बताया कि वह झटका लगने से सीट से गिर गए. इसी तरह अशोक ने भी बताया कि उन्हें बहुत ज्यादा तेज झटका लगा.

आज बंदरों को पकड़ने आएगी टीम

वन विभाग की टीम मंगलवार को बंदरों को पकड़ने आएगी. एलएमआरसी के एमडी कुमार केशव ने बताया कि वन विभाग ने इसकी जानकारी दी है. उन्होंने कहाकि अगर विभाग नहीं पकड़वाता है तो एलएमआरसी अपने स्तर से कोशिश करेगा. बंदरों ने सोमवार को ट्रैक पर सेफ्टी कोन गिरा दिया था.इमरजेंसी ब्रेक लगने से ट्रेन रुक गयी. इमरजेंसी लॉक खोलकर ट्रेन की जाँच की गयी. हादसे में किसी यात्री को चोट नहीं आयी है. सभी को सुरक्षित बाहर निकला गया.