असदुद्दीन ओवैसी ने मॉब-लिचिंग पर संघ प्रमुख को घेरा

असदुद्दीन ओवैसी ने मॉब-लिचिंग पर संघ प्रमुख को घेरा

हैदराबादः एआईएमआईएम के अध्यक्ष व हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत के मॉब-लिचिंग पर दिए बयान को लेकर निशाना साधा है. दरअसल संघ प्रमुख भागवत ने नागपुर के रेशिमबाग मैदान में विजयादशमी समारोह को संबोधित करते हुए बोला था कि लिंचिंग की उत्पत्ति पश्चिमी राष्ट्रों में हुई है. इसे हिंदुस्तान पर नहीं थोपा जाना चाहिए. ये हिंदुस्तान को बदनाम करने की साजिश है. हिंदुस्तान छोड़ में इतनी विविधताओं के बाद भी लोग एक साथ शांति से रहते हैं. उन्होंने बोला था कि शब्द 'लिंचिंग' भारतीय लोकाचार से उत्पन्न नहीं हुआ है, बल्कि एक अलग धार्मिक पाठ से आता है.

उनके इस बयान पर तीखी रिएक्शन जाहीर करते हुए ओवैसी ने बोला कि मुस्लिम, दलित व यहां तक कि हिंदू भी देश की भीड़तंत्र द्वारा रची गई घटनाओं के शिकार हुए हैं. उन्होंने पूछा, 'क्या ये घटनाएं मॉब लिंचिंग नहीं हैं'. इसके अतिरिक्त हैदराबाद के सांसद ओवैसी द्वारा मॉब लिंचिंग के अपराधियों को महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे से प्रेरित बताया.

ओवैसी ने इस दौरान तत्कालीन प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी की मर्डर के बाद नयी दिल्ली में हुए 1984 के सिख विरोधी दंगों का भी जिक्र किया. उन्होंने बोला कि तब भी मॉब लिंचिंग की घटनाएं हुई थीं.ओवैसी यहां मध्य महाराष्ट्र में कल्याणराव घुगरे स्टेडियम में एआईएमआईएम उम्मीदवार इकबाल पाशा के समर्थन में एक चुनावी रैली में बोल रहे थे. उन्होंने संघ के हिंदू देश वाले बयान की भी जमकर आलोचना की .