नायब तहसीलदार व दो पटवारियों पर केस दर्ज

नायब तहसीलदार व दो पटवारियों पर केस दर्ज

गुरुग्राम नगर निगम की करोड़ों रुपये की जमीन फर्जी दस्तावेजों के जरिए राजस्व विभाग के ऑफिसर व कर्मचारियों की मिलीभगत से एक युवक के नाम किए जाने का मुद्दा सामने आया है. इस घपले में न्यायालय ने राजस्व विभाग के एक नायब तहसीलदार व दो पटवारियों पर रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश दिए हैं.

मार्च 2019 में बलियावास गांव की तीन एकड़ एक कैनाल व 7 मर्ला जमीन नगर निगम की होने के बावजूद उसका मालिकाना हक एक युवक के नाम कर दिया गया था. ऑफिसर मंच के आरटीआई एक्टिविस्ट रमेश यादव को इसका पता चला तो उन्होंने नगर निगम कमिश्नर को इसकी शिकायत दी.इसके बाद जिला उपायुक्त ने जाँच की. इसमें आरोपी दोषी पाया गया.

इसके बाद रमेश यादव ने इसकी शिकायत सेक्टर-56 थाने में दी गई पर पुलिस ने कार्रवाई नहीं की.ऐसे में रमेश यादव मुद्दा दर्ज करवाने के लिए न्यायालय में पहुंचे. उन्होंने बताया कि सात सितंबर को आकृति वर्मा की न्यायालय में सुनवाई हुई. न्यायालय ने इस मुद्दे पर पुलिस से रिपोर्ट मांगी. पुलिस ने बोला कि हमें शिकायत नगर निगम या फिर जिला उपायुक्त से मिलेगी तभी मुद्दा दर्ज करेंगे. इस पर न्यायालय ने बोला कि यह करप्शन का मुद्दा है तो स्पेशल न्यायालय में सुनवाई होगी. इस पर रमेश यादव ने अश्वनी कुमार की स्पेशल न्यायालय में गुहार लगाई.