त्योहार में बच्चों को चॉकलेट की स्थान फल

त्योहार में बच्चों को चॉकलेट की स्थान फल

त्योहारों का सीजन प्रारम्भ हो गया है. इसमें आपस में मिलना-जुलना बढ़ जाता है. लोग प्यार से बच्चों को टॉफी व चॉकलेट गिफ्ट करते हैं. यह उन्हीं बच्चों को ही दें जो फिजिकली रूप से ज्यादा एक्टिव हों.
टॉफी-चॉकलेट में अधिक मात्रा में आर्टीफिशियल स्वीटनर व कैलोरी होता है. पौष्टिक चीजें बिल्कुल नहीं होती हैं. इससे बच्चों में फैट की चर्बी बढऩे के साथ कम आयु में डायबिटीज व हार्ट डिजीज की संभावना हो जाती है. इससे छोटे बच्चों में अस्थमा व एलर्जी का अटैक बढ़ सकता है. डार्क चॉकलेट में कैफीन की मात्रा अधिक होती है चॉकलेट अधिक खाने से बच्चों में तनाव, चिड़चिड़ापन बढ़ता है.
यह होने कि सम्भावना है विकल्प
इनकी स्थान बच्चों को मौसमी फल व सूखे मेवे गिफ्ट करें. इसेे खाने से बच्चों की इम्युनिटी बढ़ती है.बीमारियों से बचाव होगा. आप चाहें तो कम चीनी-घी की घर में बनीं मिठाइयां या फिर ड्रायफ्रूट् से बनी मिठाइयां गिफ्ट कर सकते हैं.