पीएम मोदी ने कहा, G-20 सम्मेलन में आतंकवाद व जलवायु बदलाव से निपटने पर होगी चर्चा

पीएम मोदी ने कहा, G-20 सम्मेलन में आतंकवाद व जलवायु बदलाव से निपटने पर होगी चर्चा

नई दिल्ली: पीएम नरेंद्र मोदी G-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए जापान पहुंच गए हैं. अपनी दूसरी पारी में नए आत्मविश्वास से लबरेज प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी का यह दूसरा जरूरी विदेशी दौरा है.अपनी जापान यात्रा से पहले प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को बोला कि जापान में जी 20 शिखर सम्मेलन में आतंकवाद व जलवायु बदलाव जैसी वैश्विक चुनौतियोंपर चर्चा की जाएगी. पीएम ने यह भी बोला कि यह पिछले पांच सालों के हिंदुस्तान के विकास के अनुभव को साझा करने के लिए एक मंच भी होगा.

जी-20 सम्मलेन में पीएम मोदी

जी 20 शिखर सम्मेलन के लिए जापान रवाना होने से पहले अपने बयान में, प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने बोला कि वह अन्य वैश्विक नेताओं के साथ संसार के सामने उपस्थित प्रमुख चुनौतियों व अवसरों पर चर्चा करने के लिए तत्पर हैं. उन्होंने कहा, "महिला सशक्तिकरण, डिजिटलाइजेशन व आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से जुड़े मामले व सतत विकास लक्ष्यों को हासिल करने में प्रगति इस समय संसार के जरूरीएजेंडे हैं. इसके अतिरिक्त आतंकवाद व जलवायु बदलाव जैसी बड़ी वैश्विक चुनौतियों के निवारण के लिए हमारे साझा कोशिश भी इस शिखर सम्मेलन का एक मुख्य मामला होगा."

क्या बोला पीएम ने

प्रधानमंत्री ने बोला कि शिखर सम्मेलन बहुपक्षवाद के लिए हिंदुस्तान के समर्थन को व भी सुदृढ़ करेगा. पीएम ने बोला कि तेजी से बदलती संसार में नियम-आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था के संरक्षण के लिए यह जरूरी है. उन्होंने कहा, "शिखर सम्मेलन पिछले पांच सालों के हिंदुस्तान के मजबूत विकास के अनुभव को साझा करने के लिए एक मंच होगा, जिसने लोगों को सरकार द्वारा प्रगति वस्थिरता के मार्ग पर चलने के लिए एक शानदार जनादेश प्रदान करेगा."

2022 में जी-20 शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा भारत

मोदी ने बोला कि जी -20 शिखर सम्मेलन 2022 की मेजबानी हिंदुस्तान करेगा. पीएम ने बोला कि देश के लिए यह एक बेहद उपयुक्त मौका होगा. इस वर्ष आजादी की 75 वीं वर्षगांठ की याद में 'न्यू इंडिया' की आरंभ की जाएगी. आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि पीएम का शिखर सम्मेलन में संसार भर के नेताओं के साथ कई बैठकें करने का प्रोग्राम है. सबसे पहले वह जापान के पीएम से मिलेंगे. पीएम ने जापान रवाना होने से पहले बोला कि वह द्विपक्षीय व वैश्विक महत्व के जरूरी मुद्दों पर प्रमुख राष्ट्रों के नेताओं के साथ मिलने के लिए तत्पर हैं.