पराजय से निराश न हों, हम अमेठी नहीं छोड़ेंगे : राहुल गांधी

पराजय से निराश न हों, हम अमेठी नहीं छोड़ेंगे : राहुल गांधी

अमेठी: लोकसभा चुनाव में अपने परिवार की परंपरागत सीट अमेठी से पराजित होने के बाद बुधवार को पहली बार यहां पहुंचे। राहुल ने इस दौरान निर्मला शैक्षिक संस्थान में कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंगकी। मीटिंग में शामिल रहे कार्यकर्ताओं के मुताबिक, राहुल गांधी ने बोला कि वह अमेठी नहीं छोड़ेंगे, व वह लगातार यहां आते रहेंगे। उन्होंने बोला कि उनकी बहन प्रियंका वाड्रा भी यहां आती रहेंगी।राहुल ने कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाया व बोला कि वे पराजय से निराशा न हों, व क्षेत्र में जाकर पार्टी को मजबूत करें। उन्होंने आगे बोला कि अब वह वायनाड से सांसद हैं, इसलिए ज्यादा समय उन्हें वहां देना होगा।Related image

फिर भी यहां के कार्यकर्ताओं को जब भी उनकी आवश्यकता होगी, वह हर समय उनके साथ खड़ा रहेंगे। इस दौरान, कार्यकर्ताओं के साथ राहुल की मीटिंग में प्रवेश न मिलने पर नाराज कांग्रेस पार्टीकार्यकर्ताओं ने गेट के बाहर जिलाध्यक्ष योगेंद्र मिश्र के विरूद्ध नारेबाजी की।

इस बीच, अमेठी में जगह-जगह पोस्टर लगाए गए हैं, जिसमें संजय गांधी अस्पताल को लेकर राहुल गांधी से जवाब मांगा गया है। पोस्टर में लिखा है, "न्याय दो न्याय दो, मेरे परिवार को न्याय दो, दोषियों को सजा दो, इस अस्पताल में जिंदगी बचाई नहीं गंवाई जाती है। प्रातः काल से ही यह पोस्टर अमेठी में चर्चा का विषय है।