गुजरात ने चालान घटाया, बंगाल ने कहा...

गुजरात ने चालान घटाया, बंगाल ने कहा...

पश्चिम बंगाल में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू नहीं होगा. सीएम ममता बनर्जी ने साफ किया कि वे नए मोटर व्हीकल नियम को लागू नहीं करेंगी क्योंकि उनके सरकारी अधिकारियों की ऐसी राय है इससे आम लोगों पर बोझ बढ़ जाएगा. ममता बनर्जी ने बोलाकि जुर्माने की रकम बढ़ाया समस्या का हल नहीं है. इसे 'मानवीय दृष्टिकोण' से देखने कीआवश्यकता है. ममता बनर्जी बंगाल के बीरभूम जिले में पत्रकारों से बात कर रही थीं.

ममता बनर्जी की तरफ से यह बयान ऐसे वक्त पर दिया गया है जब एक दिन पहले गुजरात सरकार ने चालान की राशि कम कर दी है.

गडकरी बोले- प्रदेश सरकार घटा सकती है जुर्माना

उधर, नए मोटर व्हीकल एक्ट में वजनदार जुर्माने को लेकर लोगों की चिंता के बाद राजमार्ग एवं सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बोला कि प्रदेश सरकार जुर्माना घटाने का निर्णय कर सकती है व यह उनपर निर्भर करता है. उन्होंने बोला कि नए नियम सिर्फ लोगों की जिंदगी बचाने के लिए की गई प्रयास है.

राज्य सरकारों द्वारा जुर्माने की रकम कम करने के निर्णय पर उन्होंने बोला कि मैं इस पर यही बोलना चाहता हूं कि जुर्माने से मिली रकम प्रदेश सरकारों की ही मिलेगी. प्रदेशसरकार जुर्माना घटाने का निर्णय कर सकती है. उन्होंने बोला कि केन्द्र का मकसद सड़क परिवहन को सुरक्षित बनाना है. गडकरी ने साथ ही जोड़ा कि अगर लोग नियमों का पालन करेंगे तो उन्हें जुर्माना भरने की आवश्यकता नहीं है.

गुजरात सरकार ने 90 प्रतिशत तक कम किए जुर्माने

बता दें कि गुजरात सरकार ने जुर्माने को 90% तक कम करने का ऐलान किया है. कुछ अन्य सरकारें भी भविष्य में ऐसा ऐलान कर सकती हैं. गडकरी ने इस पर कहा, हिंदुस्तानमें हर वर्ष सड़क एक्सीडेंट में 1 लाख 50 हजार से अधिक लोगों की मृत्यु होती है. उसमें से 65% लोगों की आयु 18 से 35 वर्ष के बीच होती है. हर वर्ष 2 से 3 लाख लोग सड़कएक्सीडेंट के कारण दिव्यांग हो रहे हैं. हम युवाओं के जान की मूल्य समझते हैं. इसलिए हम कड़ा यातायात नियम लेकर आए.