अगर बच्चे को बार-बार आती है हिचकी, तो...

अगर बच्चे को बार-बार आती है हिचकी, तो...

नई दिल्ली: नवजात शिशु के हिचकी लेते ही माता पिता अक्सर परेशान हो जाते हैं| लेकिन हम आपको बता दे की बच्चे का हिचकी लेना एक सामान्य घटना हैं और इसे लेकर चिंता नहीं करनी चाहिए| फेफड़ों के नीचे मौजूद झिल्ली की मांसपेशियों में संकुचन होता हों तो हिचकियां आती हैं| हिचकियां कई कारणों से आ सकती हैं|

करें ये उपाय:

शिशु को अचानक हिचकी आने लगे तो घबराएं नहीं| आमतौर पर हिचकियां अपने आप थोड़ी देर में ठीक हो जाती हैं| आप बच्चे की पीठ सहला सकते हैं|

बच्चे को सीधा पकड़ें, उसकी चिन अपने कंधे पर टिकाएं| बच्चे की पीठ पर ऊपर की तरफ हाथ ले जाते हुए मसाज करें| इससे उसे डकार आने में मदद मिलेगी|

दूध पिलाने के दौरान यदि शिशु को हिचकियां आने लगे तो थोड़ा ठहर जाए| हिचकी बंद होने के बाद फिर पिलाएं|

अगर बच्चे को बोतल से दूध पिलाते हैं तो दूध पिलाने के दो तीन मिनट के बाद उसे डकार ज़रूर दिलाएं|

अगर बार-बार हिचकियां गैस संबंधी समस्याओं या कॉलिक से भी आती हैं| अगर आपके बच्चे को ऐसा हर दो या तीन घंटे में हो रहा है तो उसके डॉक्टर को बताएं|

सांस संबंधी समस्या के कारण भी हिचकियां आती हैं| इसलिए बेहतर है कि हिचकियों की समस्या होने पर बच्चे को एक बार डॉक्टर के पास ले जाएं|