मलयेशिया ने कहा कि न्याय नहीं तो जाकिर का प्रर्त्यपण नहीं

नई दिल्ली/कुआलालंपुर: प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपी इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण को लेकर जहां रेड कॉर्नर नोटिस जारी कराने की तैयार कर रही है, वहीं मलयेशिया का बोलना है कि जाकिर का प्रर्त्यपण न करने के अधिकार उसके पास हैं.

स्थानीय मीडिया के मुताबिक, मलयेशिया की पीएम डॉ। महातिर मोहम्मद ने बोला कि अगर जाकिर को न्याय नहीं मिलता तो मलयेशिया के पास अधिकार है कि वह उसका प्रर्त्यपण न करे. महातिर ने साथ ही बोला कि जाकिर को लगता है कि भारतीय न्यायालय में उसके मुद्दे में निष्पक्ष सुनवाई नहीं होगी.

बता दें कि राष्ट्रीय जाँच एजेंसी ने जाकिर के विरूद्ध केस पंजीकृत किया गया था जिसके बाद प्रवर्तन निदेशालय मनी लॉन्ड्रिंग केस की जाँच कर रही है. प्रवर्तन निदेशालय ने जाकिर को भगोड़ा घोषित करने को लेकर मुंबई की विशेष न्यायालय में याचिका दाखिल की है. इस मुद्दे में सुनवाई 19 जून को होगी.
अगर न्यायालय उसे भगोड़ा घोषित कर देती है तो फिर प्रवर्तन निदेशालय जाकिर के विरूद्ध रेड कॉर्नर नोटिस के लिए इंटरपोल का रुख करेगी. मलयेशिया ने 2010 में हिंदुस्तान के साथ प्रर्त्यपण संधि पर हस्ताक्षर किए हैं.