Mercedes ने लॉन्च की 1 करोड़ से महंगी कार

Mercedes ने लॉन्च की 1 करोड़ से महंगी कार

जर्मनी की लग्जरी वाहन निर्माता कंपनी मर्सिडीज बेंज ने प्रीमियम लग्जरी सेगमेंट में हिस्सेदारी बढ़ाने को ध्यान में रखते हुए भारतीय मार्केट में नयी एमपीवी वी-क्लास एलीट लॉन्च की है। इस कार शोरूम मूल्य 1.10 करोड़ रुपए रखी गई है। कंपनी के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी ऑफिसर मार्टिन श्वेंक ने बोला कि वी-क्लास एलीट, वी-क्लास एक्सप्रेशन व वी-क्लास एक्सक्लूसिव का एडवांस्ड वर्जन है। इसे स्पेन में तैयार किया जाएगा व हिंदुस्तान में बेचा जाएगा। वी-क्लास एक्सप्रेशन व वी-क्लास एक्सक्लूसिव की शोरूम कीमतें क्रमश: 68.40 लाख रुपए व 81.90 लाख रुपए हैं।

कितनी है मर्सिडीज की हिस्सेदारी
उन्होंने बोला कि कंपनी हर महीने एक नया प्रोडक्ट डिस्प्ले करने पर विचार कर रही है। श्वेंक ने बोला कि लग्जरी वाहन मार्केट में मर्सिडीज बेंज की करीब 40 फीसदी हिस्सेदारी है। उन्होंने कहा, 'हम चौथी तिमाही में आक्रामक ढंग से प्रोडक्ट पेश करना जारी रखेंगे व अगले वर्ष से हर महीने एक नयी कार पेश करने पर विचार किया जा रहा है। ' एक सवाल के जवाब में उन्होंने बोला कि बीएस4 की स्थान बीएस6 उत्सर्जन मानक लागू किए जाने के बाद भी कंपनी हर महीने नया प्रोडक्ट पेश करने के अपने प्रस्ताव के साथ आगे बढ़ रही है। मिल रहे हैं बिक्री में सुधार के संकेत
उन्होंने कंपनी के लिए किसी लक्ष्य का आंकड़ा देने से बचते हुए कहा, 'हम अपनी बिक्री के प्रदर्शन, विशेषकर त्योहारी मौसम में बिक्री से संतुष्ट हैं। बिक्री में सुधार के शुरुआती इशारा मिलने लगे हैं। ' ये पूछे जाने पर कि क्या कंपनी अपने भारतीय कारखानों में बीएस-4 वाहनों का प्रोडक्शन एक जनवरी 2020 से बंद कर देगी, श्वेंक ने कहा, 'निश्चित, जनवरी से ऐसा ही होगा। '

क्या हैं फीचर्स
उन्होंने बोला कि वी-क्लास एलीट में कई शानदार विशेषता हैं, जिनमें मसाज की सुविधा वाली सीटें, क्लाइमेट कंट्रोल, रिमोट से कंट्रोल होने वाले दरवाजे, 15 स्पीकरों वाला सराउंड साउंड सिस्टम आदि शामिल हैं। ये कार बीएस-6 उत्सर्जन मानकों के अनुकूल होगी व छह सीटों वाले लंबे व्हील बेस वर्जन में उपलब्ध होगी। हिंदुस्तान में एक हजार से अधिक वी-क्लास गाड़ियां बेची गईं हैं।

कितनी रही बिक्री
उल्लेखनीय है कि मर्सिडीज बेंज इंडिया की बिक्री इस वर्ष के पहले नौ महीनों में 9,915 यूनिट्स रहीं। ये पिछले वर्ष की समान अवधि के 11,789 यूनिट्स की तुलना में 16 फीसदी कम है। हालांकि, कंपनी ने बोला है कि अक्टूबर के पहले सप्ताह में उसने 10 हजार गाड़ियों की बिक्री के स्तर को पार कर लिया है। उसे सारे वर्ष के दौरान बिक्री में वृद्धि की उम्मीद है।