निर्मला सीतारमण ने कहा की धीरे-धीरे कम किया जाएगा कॉरपोरेट टैक्स

निर्मला सीतारमण ने कहा की धीरे-धीरे कम किया जाएगा कॉरपोरेट टैक्स

नई दिल्ली: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बोला है कि सरकार वैल्थ क्रिएटर्स यानी अर्थव्यवस्था के विकास में सहयोग देने वाले कारोबारियों की मदद करेगी. इसके लिए400 करोड़ रुपये से अधिक की सालाना टर्नओवर वाली कंपनियों पर भी कॉरपोरेट कर की दर को धीरे-धीरे घटाकर 25 फीसद पर लाया जाएगा. चालू वित्त साल के लिए पिछले महीने पेश आम बजट में सीतारमण ने 400 करोड़ रुपये तक की सालाना टर्नओवर वाली कंपनियों पर कॉरपोरेट कर की दर को 30 फीसद से घटाकर 25 फीसद करने का एलान किया था.

इससे पहले पिछले साल में तत्कालीन वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 250 करोड़ रुपये तक की सालाना टर्नओवर वाली कंपनियों पर कॉरपोरेट आयकर की दर को घटाकर 25 फीसद कर दी थी.राष्ट्रसेविका समिति की ओर से आयोजित एक प्रोग्राम को संबोधित करते हुए निर्मला सीतारमण ने बोला कि कॉरपोरेट कर की दर को क्रमिक रूप से कम किया जाना चाहिए. हालांकि उन्होंने इसकी कोई समय सीमा नहीं बताई. वित्तमंत्री ने पीएम नरेंद्र मोदी के स्वतंत्रता दिवस के मौका पर दिए सम्बोधन में कही गई बात को दोहराया कि सरकार हिंदुस्तान में संपत्ति का सृजन करने वालों को हर तरह का समर्थन देगी.

न्यूजप्रिंट पर राहत की आस नहीं

वित्त मंत्री ने न्यूजपिंट्र पर 10 फीसद कस्टम ड्यूटी को हटाने की मांग लगभग खारिज कर दी. उन्होंने बोला कि यह ड्यूटी घरेलू उत्पादकों को बढ़ावा देने के इरादे से लगाई गई है व जो न्यूजपिंट्र का आयात करना चाहते हैं उन्हें अधिक कर का भुगतान करना पड़ेगा. बताते चलें कि अब तक न्यूजपिंट्र के आयात पर कोई शुल्क नही था. सीतारमण ने इस साल आम बजट में यह ड्यूटी लगा दी थी. जब वित्तमंत्री से पूछा गया कि घरेलू उद्योग अखबारों की मांग को पूरा करने में सक्षम नहीं हैं, तो उन्होंने जवाब दिया कि ऐसा इसलिए है क्योंकि घरेलू मैन्यूफैक्चरिंग की क्षमता का पूरी तरह उपयोग नहीं किया गया है.