सोनिया गांधी चुनी गईं कांग्रेस संसदीय दल की नेता

सोनिया गांधी चुनी गईं कांग्रेस संसदीय दल की नेता

संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) अध्यक्ष सोनिया गांधी को शनिवार प्रातः काल कांग्रेस पार्टी संसदीय दल का नेता चुना गया. लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को भारी पराजय वउसके बाद कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी की तरफ से पद छोड़ने के निर्णय के एकसप्ताह बाद कांग्रेस पार्टी संसदीय दल की मीटिंग में इसका ऐलान किया गया है. मोदी के नेतृत्व में एनडीए ने 352 सीटों पर शानदार जीत पंजीकृत की है. जबकि कांग्रेस पार्टीमात्र 52 सीटों पर सिमट कर रह गई.

लोकसभा में कांग्रेस पार्टी का नेता चुनने के लिए शनिवार को कांग्रेस पार्टी संसदीय दल की संसद भवन के केंद्रीय कक्ष में मीटिंग आयोजित की गई.

इससे पहले, पार्टी में बड़ा तबका कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को संसदीय दल के नेता की जिम्मेदारी लेने की मांग कर रहा था. ऐसी चर्चा थी कि अगर वह संसदीय दल के नेता नहीं बनते हैं, तो पार्टी के वरिष्ठ नेता शशि थरूर या मनीष तिवारी को नेता चुना जा सकता है. कांग्रेस पार्टी के पास लोकसभा में सिर्फ 52 सांसद हैं. ऐसे में दूसरी बार पार्टी को लोकसभा में नेता विपक्ष का पद नहीं मिल पाएगा.

1999 में इसी तरह की स्थिति का कांग्रेस पार्टी को करना पड़ा था सामना

इससे पहले, 15 मई 1999 को लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी को इसी तरह की स्थिति का सामना करना पड़ा था. उस वक्त तत्कालीन कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने उस वक्त पार्टी के सीनियर नेता शरद पवार, पीए संगमा व तारिक अनवर की तरफ से उनके विदेशी मूल को लेकर पीएम उम्मीदवार के तौर पर विरोध को देखते हुए पद सेत्याग पत्र दे दिया था.

लोगों का आभार जताने वायनाड जाएंगे राहुल :

लोकसभा चुनाव में जीत के बाद कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी पहली बार 7 व 8 जून को वायनाड भ्रमण पर रहेंगे. इस दौरान वह मतदाताओं का शुक्रिया अदा करेंगे.

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बोला कि राहुल गांधी लोगों का आभार जताने के लिए वायनाड के सभी विधानसभा क्षेत्रों का दौरा करेंगे. वह लगातार वहां के लोगों के सम्पर्कमें रहेंगे. वायनाड से राहुल गांधी ने चार लाख 31 हजार वोटों से जीत हासिल की थी.चुनाव में यूडीएफ ने 20 में से 19 सीट पर जीत पंजीकृत की थी. राहुल ने वायनाड के लिए अलग ट्विटर अकाउंट भी बनाया है. राहुल वायनाड नाम के इस ट्विटर हैंडल से उन्होंने अंग्रेजी व मलयालम में भ्रमण से संबंधित ट्विटर हैंडल से लिखा है है.