लोगों की जान बचाने के लिए बनाए कड़े नियम : गडकरी

लोगों की जान बचाने के लिए बनाए कड़े नियम : गडकरी

नई दिल्ली: केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने मंगलवार को बोला कि जो भी प्रदेश नया मोटर व्हीकल एक्ट (New Motor Vehicle Act) लागू होने के बाद जुर्माने की रकम करना चाहते हैं उन्हें उससे कोई असहमति नहीं है। गडकरी ने न्यूज़18 से एक्सक्लूसिव वार्ता में बोलाकि ये कड़े जुर्माने सड़क दुर्घटनाओं को कम करने व ज्यादा से ज्यादा लोगों की जान बचाने के लिए लगाए गए हैं।

गडकरी का ये बयान ऐसे समय आया है जब गुजरात सरकार (Gujarat Government) ने एक दिन पहले ही नए मोटर व्हीकल एक्ट के जुर्माने को कम करने की घोषणा की है। उन्होंने बोला कि 1 सितंबर से नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हो गया है अब इसे लेकर प्रदेश निर्णय करें कि वह इसे लेकर क्या करते हैं।

गडकरी बोले-डरने की ज़रूरत नहीं
गडकरी ने ये भी बोला कि जो लोग नियम-कानून का उल्लंघन नहीं करते हैं उन्होंने डरने की ज़रूरत नहीं है उन्हें कुछ भी देने की ज़रूरत नहीं है। उन्होंने बोला कि यही समय है जब लोगों को इस कानून समझना को चाहिए क्योंकि हमारे देश में रोड दुर्घटना में सबसे ज्यादा मौतें होती हैं।

मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम 2019 के लागू होने के बाद जो नए नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं उन पर ट्रैफिक पुलिस कड़ी निगरानी रख रही है। इसे लेकर विभिन्न प्रदेश सरकार या तो विरोध कर रही हैं या जुर्माने की रकम में परिवर्तन ला रही हैं।

कानून को हल्के में ले रहे थे लोग
1 सितंबर से मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम 2019 के लागू होने के बाद, पुलिस द्वारा यातायात नियमों के उल्लंघन के लिए भारी चालान सुर्खियों में बना हुआ है। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बोलाकि कड़े नियमों की बहुत आवश्यकता थी क्योंकि लोगों ने ट्रैफिक कानूनों को बहुत हल्के में लिया था।लोगों के मन में न तो इसे लेकर कोई भय था व न ही कानून का सम्मान था।

गुजरात सरकार द्वारा नए मोटर वाहन (संशोधन) अधिनियम, 2019 के तहत किए गए बदलाव इस प्रकार हैं:

- गुजरात में नए अच्छा स्ट्रक्चर का हेलमेट नहीं पहनने पर जुर्माने की रकम को 500 रुपये कर दिया है। एमवी एक्ट के तहत ये रकम 1000 रुपये है।

-सीट बेल्ट नहीं पहनने पर 1000 रुपये की स्थान 500 रुपये का जुर्माना लगेगा।

- गुजरात में बिना ड्राइविंग लाइसेंस के वाहन चलाने पर दोपहिया वाहनों के लिए 2000 रुपये का जुर्माना व बाकी के लिए 3000 रुपये का जुर्माना लगेगा। जबकि नए नियम के तहत इसे 5000 रुपये कर दिया गया है।

- अगर लाइसेंस, बीमा, पीयूसी, आरसी बुक नहीं है, तो जुर्माना नए मोटर वाहन अधिनियम के अनुसार होगा। इसमें पहली बार 500 रुपये का जुर्माना व दूसरी बार जुर्माना 1000 रुपये होगा।

- ट्रिपल राइडिंग के लिए, एमवी एक्ट में 1000 रुपये जुर्माना है जिसे बदलकर 100 रुपये कर दिया गया है।

- नए एमवी एक्ट के तहत प्रदूषण वाले वाहन चलाने पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगता है, जबकि गुजरात में यह छोटे वाहनों के लिए 1000 रुपये व बड़े वाहनों के लिए 3000 रुपये होगा।