यूरोपियन महिला ने ऑनलाइन भीख मांगकर जुटाए इसने लाख रुपए

नई दिल्ली/दुबई: पुलिस ने एक यूरोपियन महिला को धोखाधड़ी के आरोप में हिरासत में लिया है. पुलिस का बोलना है कि महिला लोगों से औनलाइन भीख मांग रही थी. उसने महज 17 दिनों में ही 34 लाख 81 हजार रुपए जुटा लिए. सोशल मीडिया के भिन्न-भिन्न प्लेटफार्मों पर उसने बच्चों के फोटो पोस्ट कर रखे थे. वह लोगों से कहती थी कि पति ने उसे छोड़ दिया है व उसके सिर पर बच्चों के पालन पोषण की जिम्मेदारी है. पुलिस के मुताबिक- पूर्व पति ने ही महिला की असलियत के बारे में बताया था.

  1. दुबई पुलिस के अपराधी इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट के डायरेक्टर जमाल अल सलेम जालफ ने बताया कि महिला ने फेसबुक, ट्विटर व इंस्टाग्राम पर बच्चों के फोटो पोस्ट किए थे. उसने अपने नाम पर कई औनलाइन खाते बना रखे थे. हालांकि, उन्होंने महिला की पहचान उजागर नहीं की.

  2. बच्चों के पालन पोषण का वास्ता देकर महिला लोगों से भीख मांग रही थी. वह लोगों से कहती थी कि उसका तलाक हो चुका है व बच्चों के पालन पोषण की जिम्मेदारी उस पर है. महिला के पूर्व पति को पता चला तो उसने ई अपराध पोर्टल पर पुलिस को बताया कि बच्चे उसके साथ ही रह रहे हैं.

  3. जालफ का बोलना है कि यूएई में औनलाइन भीख मांगना क्राइम की श्रेणी में आता है. उनका बोलना है कि पुलिस ने रमजान के दौरान भीख मांगने के आरोप में 128 लोगों को अरैस्ट भी किया है. जलाफ के मुताबिक- अगर कोई आदमी या महिला औनलाइन भीख मांगते पाया जाता है तो उस पर कानून के मुताबिक 25 हजार से 50 हजार दिरहम का जुर्माना लगाया जा सकता है.