आत्महत्या करने वाले 'गे' की पूरी कहानी, सुनकर हिल गया पूरा देश

आत्महत्या करने वाले 'गे' की पूरी कहानी, सुनकर हिल गया पूरा देश

मुंबई के रहने वाले अविंशू पटेल ने जमाने से आहत होकर आत्महत्या कर ली है। उसने अपने सुसाइड नोट में लिखा कि लोग उसपर ताने कसते हैं, उसे कई तरह से मानसिक व शारीरिक तौर पर प्रताड़ित करते हैं। इसलिए उसने आत्महत्या को चुना। उसने लिखा कि उसकी मृत्यु के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है, लेकिन साथ ही उसने अंग्रेजी व हिन्दी दोनों में फेसबुक पर लंबा सुसाइड नोट लिखा।

बीच पर तैरती मिली थी लाश

चेन्नई के नीलंकरई बीच पर तीन जुलाई को एक नवयुवक की डेड बॉडी मिली। खोजबीन करने पर पता चला कि इस शख्स का नाम अविंशू पटेल है। इसकी आयु करीब 20 वर्ष है। यह चेन्नई के स्पा में कार्य करता है। पुलिस ने बताया अविंशू ने बीच में कूद कर जान दी थी। पुलिस के मुताबिक अविंशू के दोस्तों से पूछताछ करने व उसके द्वारा फेसबुक पर लिखे गए पोस्ट से यह जाहिर होता है कि अविंशू समलैंगिक था। इसी वजह से वह मानसिक तौर पर परेशान भी रहता था। वह मुंबई का रहने वाला था। एक महीने पहले ही चेन्नई में जॉब के लिए आया था। Related image1750 शब्दों का सुसाइड नोट- मुझे छक्का बुलाया जाता है
अविंशू ने सोशल मीडिया में 1750 शब्दों का सुसाइड नोट लिखा है। इसमें उसने कई गंभीर बातें लिखी हैं। उसने लिखा, 'मेरा शरीर लड़के का है। लेकिन में लड़की की तरह चलता हूं। लड़कियों की तरह बोलता हूं। लड़कियों की तरह बर्ताव करता हूं। सारे लोग मुझे देखते हैं। मैंने कई बार प्रयास की कि मैं ऐसा ना करूं। लेकिन यह नैसर्गिक है, स्वाभाविक है। इसमें मेरी क्या गलती है कि मैं गे हूं। '