अमरीकी न्यायालय से ट्रंप को बड़ा झटका, लगा 20 लाख डॉलर का जुर्माना

अमरीकी न्यायालय से ट्रंप को बड़ा झटका, लगा 20 लाख डॉलर का जुर्माना

नई दिल्ली/न्यूयॉर्क: अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को महाभियोग की जाँच के बीच एक दूसरा झटका लगा है. न्यूयॉर्क की एक न्यायालय ने ट्रंप पर 20 लाख डॉलर (करीब 15 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया है. ट्रंप पर उनके चैरिटेबल फाउंडेशन के गलत प्रयोग का आरोप साबित हुआ है.Image result for अमरीकी न्यायालय से ट्रंप को बड़ा झटका, लगा 20 लाख डॉलर का जुर्माना

ट्रंप फाउंडेशन बंद करने के आदेश

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, ट्रंप ने अपने चैरिटेबल फाउंडेशन को अपने सियासी व बिजनेस से जुड़े फायदों के लिए किया था. इन आरोपों न्यूयॉर्क न्यायालय में जज सैलियन स्क्रापुला ने गुरुवार को सुनवाई की. आरोपों के ठीक साबित होने के बाद अपने आदेश में उन्होंने बोला कि ट्रंप फाउंडेशन बंद कर दिया जाए. इसके साथ ही न्यायालय ने आदेश दिया है कि फाउंडेशन के बाकी बचे करीब 17 लाख डॉलर के करीब फंड को दूसरे गैर फायदेमंद संगठनों (NGO) में बांट दिया जाए.

ट्रंप व उनके परिवार पर लगा था आरोप

आपको बता दें कि पिछले वर्ष न्यूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल लेटिटिया जेम्स ने ट्रंप के विरूद्ध मुकदमा दर्ज कराया था. अटॉर्नी ने अमरीकी राष्ट्रपति व उनके परिवार के विरूद्ध शिकायत दर्ज कराई थी. शिकायत में बोला गया कि ट्रंप व उनका परिवार अवैध तरीका से इस फाउंडेशन का प्रयोग कर रहा था. ट्रंप परिवार ने फाउंडेशन का फंड अपने व्यापार व राष्ट्रपति चुनाव के दौरान अपने चुनाव प्रचार (कैंपेन) में किया.

28 लाख डॉलर के कंपनशेसन की उठी थी मांग

अदालत में अटॉर्नी जनरल जेम्स ने मुकदमा दायर करते वक्त राष्ट्रपति ट्रंप पर 2.8 मिलियन (28 लाख) डॉलर के कंपनशेसन की मांग की थी. हालांकि, गुरुवार को सुनाए गए अपने निर्णय में जज स्क्रापुला ने इस राशि को घटाकर 20 लाख डॉलर कर दिया है. यहां आपको गौरतलब है कि इस फाउंडेशन के एडवोकेट ने पहले इस मुकदमे को पॉलिटिक्स से प्रेरित बताया था.