अमरीकी उद्योगपति रॉस पेराट का 89 साल की आयु में निधन

अमरीकी उद्योगपति रॉस पेराट का 89 साल की आयु में निधन

नई दिल्ली/टेक्सास: 1990 के दशक में दो बार अमरीकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बने टेक्सन के अरबपति रॉस पेरोट का निधन 89 साल की आयु में मंगलवार को हो गया. उन्होंने 1962 में अपनी खुद की कंपनी स्थापित करके कंप्यूटर डेटा उद्योग का नेतृत्व किया. उन्होंने 1992 में कई अभियान चलाए, जो बहुत ज्यादा प्रचलित थे. उन्होंने संतुलित बजट की वकालत की व विदेश में नौकरियों की आउटसोर्सिंग को खत्म करने की मांग की.

सफल स्वतंत्र उम्मीदवार

उन्हें अमेरिकी इतिहास में सबसे पास स्वतंत्र उम्मीदवारों में से एक माना जाता था. उन्होंने डेमोक्रेट को बिल लाने में क्लिंटन की मदद की. सुधार पार्टी के गठन के बाद पेरोट 1996 में फिर से राष्ट्रपति पद की दौड़ में भाग लिया. एच रॉस पेरोट अमरीकी मूल के थे. उन्होंने एक समझदार प्रौद्योगिकी उद्यमी के रूप में प्रतिष्ठा बनाई व अमरीकी दिग्गजों की मदद करने व विदेश में अमरीकी बंधकों को मुक्त कराने का कोशिश किया.

आईबीएम के लिए सेल्समैन बने

टेक्सास में जन्मे पेरोट यूनाइटेड स्टेट्स नेवी में सेवारत होने के बाद आईबीएम के लिए सेल्समैन बन गए. 1962 में उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक डाटा सिस्टम की स्थापना की, जो डेटा प्रोसेसिंग सर्विस कंपनी थी.Perot ने 1988 में Perot Systems की स्थापना की. पेरोट ने वियतनाम युद्ध के मामले को जोरशोर से उठाया व सरकार की निंदा की. राष्ट्रपति जॉर्ज एच डब्ल्यू बुश के कार्यकाल के दौरान, पेरोट पॉलिटिक्स में तेजी से सक्रिय हो गए व उन्होंने खाड़ी युद्ध व उत्तरी अमरीकी मुक्त व्यापार समझौते के समर्थन का कड़ा विरोध किया.