आर सी बी के पूर्व गेंदबाज का बड़ा बयान

आर सी बी के पूर्व गेंदबाज का बड़ा बयान

IPL 2022 सीजन के मुकाबले जारी हैं इस सीजन कई नए खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से प्रभावित किया भारतीय खिलाड़ियों के अतिरिक्त जोस बटलर और वनेंदू हसरंगा जैसे विदेशी खिलाड़ियों ने बहुत बढ़िया प्रदर्शन किया है जोस बटलर इस सबसे अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं, वहीं वनेंदू हसरंगा अब तक 23 विकेट ले चुके हैं हसरंगा सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में चहल के साथ संयुक्त रूप से पहले नंबर है पिछले कुछ वर्षों में वनेंदू हसरंगा का प्रदर्शन बहुत बढ़िया रहा है वर्ष 2021 में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाजों की फेहरिस्त में वनेंदू हसरंगा के अतिरिक्त तबरेज शम्सी भी शामिल थे लेकिन इसके बावजूद आईपीएल मेगा ऑक्शन में शम्सी को कोई खरीददार नहीं मिला

आईपीएल में मुझे बेहद मौके नहीं मिले

साउथ अफ्रीका के गेंदबाज तबरेज शम्सी वर्ष 2016-18 तक रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) का हिस्सा थे वहीं, राजस्थान रॉयल्स (RR) ने एंड्रयू टॉय के रिप्लेसमेंट के तौर पर शम्सी को अपनी टीम में शामिल किया लेकिन उस सीजन शम्सी को राजस्थान रॉयल्स (RR) के लिए महज 1 मैच खेलने का मौका मिला अब साउथ अफ्रीका के इस गेंदबाज ने बड़ा बयान दिया है उन्होंने बोला कि आईपीएल में उन्हें बेहद मौके नहीं मिले, यदि उन्हें पर्याप्त मौके मिलते तो वह किसी भी टीम को ट्रॉफी जितवाने में बड़ी किरदार निभा सकते थे उन्होंने आगे बोला कि मैं इससे परेशान नहीं हूं, लेकिन कभी-कभी सोचता हूं मुझे आईपीएल में खेलना बहुत पसंद है साथ ही मुझे अपनी क्षमताओं पर बहुत भरोसा है

मैंने साबित किया कि मैं मैच विनर हूं

तबरेज शम्सी ने बोला कि एक खिलाड़ी के तौर पर अपनी क्षमताओं को दिखाने के लिए पर्याप्त मौके मिलने चाहिए हालांकि, मेरे कैरियर के शुरूआत में ऐसा नहीं हो सका क्योंकि उस समय टीम में इमरान ताहिर थे, इस वजह से मुझे बहुत अधिक मौके नहीं मिल रहे थे लेकिन जब इमरान ताहिर रिटायर हुए तो मुझे लगातार मौके मिलने लगे उसके बाद मैंने दिखाया कि मैं टीम के लिए मैच जीत सकता हूं साथ ही मैं नंबर-1 बॉलर बना आंकड़े बताते हैं कि तबरेज शम्सी ने पिछले कुछ वर्षों में बहुत बढ़िया प्रदर्शन किया है उन्होंने अब तक 47 टी20 मैचों में 57 विकेट निकाले है

 

 


मुंबई को मिली सीजन की 10वीं हार

मुंबई को मिली सीजन की 10वीं हार

IPL 2022 के 65वें मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद ने मुंबई इंडियंस को रोमांचक मोड़ पर 3 रनों से मात दी. यह मुकाबला अंतिम गेंद तक पहुंचा. भुवनेश्वर कुमार ने विकेट मेडन 19वां ओवर डालकर हैदराबाद को जीत दिलाई. अंतिम 13 गेंदों में मुंबई को 19 रन चाहिए थे. इसके बाद 18वें ओवर की अंतिम गेंद पर 18 गेंदों पर 46 रन बनाकर खेल रहे टिम डेविड पवेलियन लौट गए. इसके बाद भुवी ने 19वें ओवर में कमाल किया फिर 20वां ओवर लेकर आए फजलहक फारूखी ने 19 रन नहीं बनने दिए. इस तरह लगातार पांच हार के एसआरएच को छठी जीत मिली.

सनराइजर्स हैदराबाद हालांकि अभी भी पॉइंट्स टेबल में 12 अंकों के साथ आठवें जगह पर है लेकिन टेक्निकली उसकी प्लेऑफ की उम्मीदें अभी भी बरकरार हैं. वहीं मुंबई इंडियंस को 13वें मुकाबले में सीजन की 10वीं हार का सामना करना पड़ा. मुंबई टेबल में 6 पॉइंट्स के साथ अंतिम जगह पर बनी है. 9वें जगह पर है 13 में से 9 मैच हारने वाली चेन्नई सुपर किंग्स. पांच बार की चैंपियन टीम अब अपना अंतिम मुकाबला दिल्ली कैपिटल्स के साथ खेलेगी.

भुवी ने पलटा मैच का रुख

आपको बता दें इस मैच में टॉस हारकर पहले खेलने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद ने निर्धारित 20 ओवर में 6 विकेट पर 193 रन बनाए थे. उत्तर में मुंबई इंडियंस की टीम भी पूरे ओवरों में 7 विकेट खोकर 190 रन ही बना सकी. हैदराबाद के लिए राहुल त्रिपाठी ने सर्वाधिक 76 रनों की पारी खेली थी. इसके अतिरिक्त प्रियम गर्ग ने 42 और निकोलस पूरन ने 38 रन बनाए थे. दूसरी तरफ से मुंबई के लिए टिम डेविड ने 18 गेंदों पर 46 रनों की आतिशी पारी खेली लेकिन टीम को जीत नहीं दिला पाए.

मैच मुंबई के पक्ष में था और 13 गेंदों पर 19 रनों की आवश्यकता थी. इसी बीच नटराजन के 18वें ओवर में चार छक्के लगाने के बाद अंतिम गेंद पर डेविड रन आउट हो गए. फिर 19वें ओवर में भुवनेश्वर कुमार ने पहली गेंद पर बिना खाता खोले संजय यादव को आउट किया और पूरा ओवर मेडन निकाल दिया. इस ओवर ने मैच का रुख पलट दिया. उमरान मलिक ने हैदराबाद के लिए सर्वाधिक चार विकेट झटके.