वीजा समस्या के चलते IPL 2021 के लिए नहीं पहुंच सका अफगानिस्तान का ये खिलाड़ी

वीजा समस्या के चलते IPL 2021 के लिए नहीं पहुंच सका अफगानिस्तान का ये खिलाड़ी

संयुक्त अरब अमीरात यानी यूएई में होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल के 14वें सीजन के दूसरे चरण से पहले सनराइजर्स हैदराबाद की टीम के सामने बड़ी मुसीबत आ खड़ी हो गई है। उनकी टीम के स्टार स्पिनर और अफगानिस्तान के खिलाड़ी मुजीब उर रहमान वीजा की दिक्कत की वजह से अभी तक टीम से नहीं जुड़ पाए हैं। ये भी स्पष्ट नहीं है कि वे कब तक टीम से जुड़ पाएंगे।

वहीं,  अफगानिस्तान के ही उनके साथी स्पिनर राशिद खान और मुहम्मद नबी यूएई पहुंच गए हैं और इस समय क्वारंटाइन में हैं। सूत्रों के अनुसार, "मुजीब कब अपनी टीम के साथ जुड़ेंगे, इसकी कोई स्पष्ट तारीख नहीं है। उनके प्रवेश वीजा पर अभी भी काम किया जा रहा है और जल्द ही इस पर अपडेट आना चाहिए।" मालूम हो कि हैदराबाद की टीम को अपना पहला मुकाबला 22 सितंबर को दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ खेलना है।

कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) और दक्षिण अफ्रीका-श्रीलंका के बीच हुई सीरीज में खेलने वाले आइपीएल खिलाड़ियों को थोड़ी राहत दी गई है। इन खिलाड़ियों के लिए छह दिन की जगह दो दिन का क्वारंटाइन पूरा करना होगा, क्योंकि इन्हें बबल से बबल में ट्रांसफर होना है। सूत्र ने बताया, "वे पहले दिन अपने कमरे में आएंगे और फिर अगले दिन उनका परीक्षण किया जाएगा और परिणाम आने के बाद में वे टीम के साथ जुड़ सकते हैं।"

अफगानिस्तान में सत्ता अब तालिबान के हाथ में है। ऐसे में सरकारी कार्य कैसे किए जाएं और उनकी प्रकिया क्या होगी, शायद इस बात से वे लोग वाकिफ नहीं हैं। इसी बात का खामियाजा अफगानिस्तान के लोगों को भुगतना पड़ रहा है, क्योंकि एक खिलाड़ी के लिए वीजा तुरंत मिल सकता है, लेकिन इसके लिए खिलाड़ी जहां का निवासी है, वहां से अनुमति मिलनी चाहिए और सारी प्रक्रिया पूरी की जानी चाहिए।


विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

विसे की ताबड़तोड़ पारी से जीती नामिबिया, नीदरलैंड्स को छह विकेट से दी शिकस्त

नामिबिया ने डेविड विसे के ताबड़तोड़ अर्धशतक से बुधवार को यहां टी-20 विश्व कप के पहले दौर के ग्रुप-ए के मैच में अपने से ऊंची रैंकिंग की नीदरलैंड्स को छह गेंद रहते छह विकेट से हरा दिया। दक्षिण अफ्रीका के लिए भी टी-20 मैच खेल चुके विसे ने 40 गेंदों पर चार चौके और पांच छक्के की मदद से नाबाद 66 रन बनाए। इसके चलते नामिबिया ने 19 ओवर में चार विकेट पर 166 रन बनाकर जीत दर्ज की। नीदरलैंड्स ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में चार विकेट पर 164 रन का स्कोर बनाया था।


लक्ष्य का पीछा करते हुए नामिबिया ने नौ ओवर में 52 रन पर तीन विकेट गंवा दिए थे, लेकिन 36 साल के विसे ने अकेले दम पर नीदरलैंड्स को छह गेंद बाकी रहते हराने में मदद की। उन्होंने प्रतिद्वंद्वी टीम के कप्तान पीटर सीलार पर छक्का लगाकर महज 29 गेंद में करियर का पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक पूरा किया।


उन्होंने कप्तान गेरहार्ड इरास्मस (32) के साथ चौथे विकेट के लिए 51 गेंद में 93 रन की साझेदारी की। अंत में जेजे स्मिट ने आठ गेंद में नाबाद 14 रन बनाए। स्मिट ने 19वें ओवर की अंतिम दो गेंद पर दो चौके लगाकर टीम की जीत सुनिश्चित की। पदार्पण कर रही नामिबिया की पहले दौर के मैच में यह पहली जीत थी।


इससे पहले नीदरलैंड्स के सलामी बल्लेबाज मैक्स ओडोड (70) ने लगातार दूसरा अर्धशतक जड़ा और कोलिन एकरमैन (35) के साथ 82 रन की साझेदारी की। ओडोड की 57 गेंद की पारी में छह चौके और एक छक्का शामिल था। इस जीत से नामिबिया सुपर-12 चरण की दौड़ में बनी हुई है और पहले दौर के अंतिम मैच में उसे इसके लिए आयरलैंड को हराना होगा। वहीं, दो मैच हारने के बाद नीदरलैंड्स के अगले चरण में पहुंचने की संभावना काफी कम है।