बांदा। मर्का थाना क्षेत्र में गुरुवार दोपहर उफनाती यमुना की बीच धारा में नाव पलट गई

बांदा। मर्का थाना क्षेत्र में गुरुवार दोपहर उफनाती यमुना की बीच धारा में नाव पलट गई

बांदा. मर्का थाना क्षेत्र में गुरुवार दोपहर उफनाती यमुना की बीच धारा में नाव पलट गई. नाव में सवार 30 से अधिक लोग डूब गए, इनमें 15 तैर कर किसी तरह बाहर निकल आए. चार लोगों के मृत शरीर गोताखोरों ने निकाल लिए हैं. इनमें दो महिलाएं, एक पुरुष और एक बच्चा है. बाकी अभी लापता हैं. कुल 17 लोग अभी भी लापता हैं. एसडीआरएफ की टीमें उनकी तलाश कर रही हैं.

मर्का से हर रोज सैकड़ों लोग नावों से यमुना पार कर फतेहपुर, प्रयागराज आते-जाते हैं. नाविक एक बार में नाव में 40-50 लोगों को एक ओर से दूसरी ओर ले जाते हैं. गुरुवार दोपहर करीब ढाई बजे मर्का से नाव में करीब 50 लोग सवार होकर फतेहपुर जा रहे थे. पानी का बहाव तेज होने से नाव बीच धारा में अनियंत्रित हो गई. उसमें लगा पाल तेज हवा में एक तरफ उड़ा और नाव पलट गयी. नाव में सवार सभी लोग पानी में समा गए. नाविक समेत जिन 15 लोगों को तैरना आता था, उनमें कोई बांस तो कोई नाव में रखे ट्यूब के सहारे बाहर निकल आया. नाविक को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. तैरकर बाहर निकले लोगों ने बताया कि नाव में करीब 50 लोग सवार थे, इसके अतिरिक्त उसमें तीन बाइक और सात साइकिलें भी लदी थीं.

 

नाव पलटने की सूचना पर डीएम अनुराग पटेल, एसपी अभिनन्दन, डीआईजी विपिन मिश्रा और राज्यमंत्री रामकेश निषाद यमुना किनारे पहुंच गए. गोताखोरों को यमुना में उतारा गया. जिले में उपस्थित एक एसडीआरएफ की टीम भी उतरी. टीम ने तीन मृत शरीर बाहर निकाले हैं, इनमें फतेहपुर की फुलवा (45), राजरानी (40) और मर्का के दिनेश का एक वर्ष का बेटा किशन शामिल है. एक की पहचान नहीं हो सकी है. पुलिस ने नाविक बाबू निषाद को हिरासत में ले लिया है. उसने बताया पतवार टूटने से दुर्घटना हो गया.