यूपी में कोरोना ढाएगा कहर, मतगणना में टूटे नियमों पर SC का क्‍या होगा रुख

यूपी में कोरोना ढाएगा कहर, मतगणना में टूटे नियमों पर SC का क्‍या होगा रुख

लखनऊ: तमाम आशंकाओं के बावजूद उत्‍तर प्रदेश निर्वाचन आयोग ने सुप्रीम कोर्ट में ठीक वैसा ही हलफनामा दिया जैसा कभी अयोध्‍या मामले में कल्‍याण सिंह की सरकार ने दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने भी इस पर भरोसा किया और रविवार को सभी ने देखा कि प्रदेश के कई जिलों में मतगणना के दौरान सारे नियम टूट गए। पुलिस को कई स्‍थानों पर बल प्रयोग भी करना पड़ा। सवाल है कि इस लापरवाही का खामियाजा क्‍या पूरे प्रदेश की जनता को भुगतना होगा। क्‍या कोरोना का कहर प्रदेश पर टूटेगा और इससे भी बड़ा सवाल है कि इतनी बड़ी आबादी को स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा देने के लिए क्‍या उत्‍तर प्रदेश सरकार तैयार है।

उत्‍तर प्रदेश में पंचायत चुनाव कराने का फैसला इलाहाबाद हाईकोर्ट का है लेकिन इससे पहले यूपी सरकार ने कई मामलों में हाईकोर्ट के फैसले को नहीं माना। सुप्रीम कोर्ट में अपील की। सरकारी अधिकारियों के बच्‍चों को प्राथमिक स्‍कूलों में शिक्षा दिलाने का फैसला आज तक कागजों में ही बना हुआ है। इससे साफ है कि सरकार भी वही चाहती थी, जो हाईकोर्ट ने किया और सरकार ने हाईकोर्ट की आड़ का सहारा लिया है। पंचायत चुनाव के लिए कराए गए मतदान के दौरान बड़ी तादाद में कर्मचारी कोरोना के चपेट में आए। मतगणना शुरू होने के एक दिन पहले तक 706 प्राथमिक शिक्षकों की कोरोना से मौत हो चुकी थी। इस पर चिंता जताते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई की लेकिन आयोग की दलीलों पर भरोसा करते हुए मतगणना की अनुमति दे दी।

सुप्रीम कोर्ट का टूटा भरोसा

सुप्रीम कोर्ट ने राज्‍य निर्वाचन आयोग की तैयारियों पर भरोसा किया। मतगणना की अनुमति दी। आयोग के अधिकारियों ने भरोसा दिलाया कि कोरोना टेस्‍ट के बाद ही मतगणना स्‍थल में लोगों को प्रवेश दिया जाएगा। मतगणना स्‍थल के बाहर भीड़ एकत्र नहीं होने देंगे लेकिन सारे वादे टूटते देखे गए। सभी ने देखा कि मतगणना स्‍थलों के बाहर भारी भीड़ जुटी रही। कई जिलों में पुलिस ने बल प्रयोग भी किया लेकिन बड़ी लापरवाही पूरे प्रदेश में देखने को मिली है। इससे स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्र के विशेषज्ञ डरे हुए हैं।

विशेषज्ञों का मानना है कि 15 मई को देश में कोरोना पीक का समय माना जा रहा है लेकिन यूपी में पंचायत चुनाव और मतगणना में हुई लापरवाही का खामियाजा बड़ी आबादी को भुगतना पड़ सकता है। आने वाले दिनों में ग्रामीण क्षेत्रों से बड़े पैमाने पर कोरोना संक्रमित मिल सकते हैं और इनके इलाज की पर्याप्‍त व्‍यवस्‍था मौजूद नहीं है। शहरी क्षेत्रों में ही मिल रहे मरीजों के मामले में स्‍वास्‍थ्‍य विभाग पस्‍त हो चुका है। संसाधन फेल हो चुके हैं ऐसे में अगर आने वाले दिनों में ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति भयावह होती है तो इसके लिए प्रदेश सरकार का पंचायत चुनाव कराने का फैसला और मतगणना पर रोक नहीं लगाने संबंधी सुप्रीम कोर्ट का फैसला दोनों ही जिम्‍मेदार होंगे।


यूपी में पिछले 24 घंटे में सामने आए कोविड-19 के 23333 नए मामले

यूपी में पिछले 24 घंटे में सामने आए कोविड-19 के 23333 नए मामले

लखनऊ: यूपी में पिछले 24 घंटे में Covid-19 के 23,333 नए मुद्दे सामने आए हैं इस दौरान 34,636 लोग डिस्चार्ज हुए और 296 लोगों की मौत दर्ज की गई प्रदेश में कुल सक्रिय मुद्दे 2,33,981 हैं वहीं अब तक कुल 15,03,490 मुद्दे सामने आ चुके हैं इससे पहले यूपी में कोविड-19 वायरस संक्रमण को काबू करने के लिए 30 अप्रैल से लागू कर्फ्यू की अवधि रविवार को 17 मई तक बढ़ा दी गई

सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने बताया, 'प्रदेश में लागू कोविड-19 कर्फ्यू अब आनें वाले 17 मई तक लागू रहेगा ' उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार ने यह निर्णय Covid-19 के बढ़ते मामलों पर कारगर रोक लगाने के मकसद से किया है इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर बाकी सभी दुकानें और प्रतिष्ठान बंद रहेंगे

30 अप्रैल से लागू है उत्तर प्रदेश में कर्फ्यू
बताते चलें कि यूपी में पिछली 30 अप्रैल से कर्फ्यू लागू है प्रारम्भ में इसे तीन मई तक लागू किया गया था, लेकिन बाद में इसकी अवधि छह मई तक बढ़ा दी गई थी बाद में इसे और विस्तार देते हुए 10 मई तक कर दिया गया था, जिसे अब बढ़ाकर 17 मई किया गया है


कोरोना वैक्सीन की पहली डोज के बाद हो जाए कोविड-19 तो डरे नहीं       बीते 24 घंटे में 3.29 लाख नए केस आए, 3876 मरीजों ने गंवाई जान       योगी सरकार के कोविड प्रबंधन का कायल हुआ डब्‍ल्‍यूएचओ       देश में अब तक 17.27 करोड़ से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन       अफगानिस्तान में भारतीय राजनयिक विनेश कालरा का मृत्यु       जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी को लिखी पांच पन्नों की चिट्ठी, कहा...       कोविड-19 मुद्दे में केन्द्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय को दी अति उत्साह में निर्णय ना लेने की सलाह, कहा...       Ghazipur में गंगा नदी में दर्जनों लाशें दिखने से मचा हड़कंप       राहुल का प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी पर जोरदार हमला, कहा...       नगालैंड और तेलंगाना सरकार ने लिया संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला!       सना मकबूल ने मनोकिनी में शेयर की कातिलाना फोटोज, तस्वीरों ने लूटा फैंस का दिल       शेफाली जरीवाला ने ट्रांसपेरेंट टॉप में दिखाईं ग्लैमरस अदाएं, देखें फोटोज       ये है दुनिया का सबसे अनोखा रेस्टोरेंट, हवा में ले सकते हैं खाना खाने का आनंद       अपने चेहरे को चमकदार और खूबसूरत बनाये रखने के लिए अपनाएं ये देसी तरीके       लम्बे समय तक ब्यूटीफुल और यंग दिखने के लिए फॉलो करें ये टिप्स       आखिर महिलाएं रोमांस के लिए क्यों करती है सर्दियों का इंतजार       अलाना पांडे के बोल्ड बिकिनी अवतार ने गर्माया इंस्टा का माहौल       अगर पैसे कमाने के बावजूद घर में नहीं टिकता है पैसा, तो...       घर में गलत दिशा में लगी घडी भी आपको कर सकती है बर्बाद       मौसमी बीमारी के कारण बन्द नाक को खोलने के उपाय