यूपी में यहां होगी नौकरी की बहार

यूपी में यहां होगी नौकरी की बहार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ में आयोजित प्रबुद्धजन सम्मेलन में उद्यमियों को निवेश के लिए प्रेरित किया तो इसका रिज़ल्ट भी गुरुवार को सामने आया. मेरठ समेत आसपास के कई जिलों में उद्यमियों ने उद्योग विभाग के ऑफिसरों से टेलीफोन पर संपर्क किया. मेरठ में औद्योगिक निवेश के तीन नए प्रस्ताव भी आए. अगले वर्ष फरवरी में लखनऊ में ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट हो रही है. मेरठ मंडल के छह जिलों के लिए प्रदेश गवर्नमेंट की ओर से निवेश के 30 हजार करोड़ के तय लक्ष्य के मुकाबले अभी तक करीब 20 हजार करोड़ के निवेश के लिए 400 से अधिक उद्यमियों के प्रस्ताव आ चुके हैं. 400 से अधिक नयी इंडस्ट्री लगेंगी, जिनसे दो लाख से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा.

उद्योग विभाग के ऑफिसरों को इस माह के अंत तक जिलेवार निवेश के दिए लक्ष्य को पूरा करने के लिए उद्यमियों से निवेश प्रस्ताव प्राप्त करने हैं. गवर्नमेंट की ओर से तैयार की गई औद्योगिक निवेश पर विभिन्न पॉलिसी की उद्यमियों, निवेशकों के साथ जानकारी शेयर की जा रही है. मेरठ जिले का सात हजार करोड़ के निवेश का लक्ष्य है.

उम्मीद है कि करीब दस हजार करोड़ के निवेश प्रस्ताव आ जाएंगे. मेरठ में पसवाड़ा पेपर मिल ग्रुप, बोन फायर, मेरठ पैकेजिंग, सीवीजी कंप्रेश बायोगैस तथा विश्वकर्मा औद्योगिक क्षेत्र बागपत रोड की ओर से निवेश के बड़े प्रस्ताव मिले हैं. निजी औद्योगिक क्षेत्र, फूड पार्क, फ्लेटेड फैक्ट्री कॉम्पलेक्स, टैक्सटाइल पार्क, हाईड्रोजन, बायोगैस प्लांट, पैकेजिंग, कोल्ड फूड चेन प्रोजेक्ट शामिल हैं.

जनपद            निवेश लक्ष्य           निवेश प्रस्ताव            रोजगार मिलेगा
मेरठ              सात हजार करोड़     पांच हजार करोड़         75908
गाजियाबाद      आठ हजार करोड़    साढ़े चार हजार करोड़ 16939
गौतमबुद्धनगर  दस हजार करोड़      पांच हजार करोड़        45947
बुलंदशहर       2500 करोड़           एक हजार करोड़          3176
हापुड़             दो हजार करोड़       आठ हजार करोड़        29039
बागपत           500 करोड़             करीब 300 करोड़         2688

– 400 से अधिक इंडस्ट्री लगेंगी वेस्ट उत्तर प्रदेश में
– 20 हजार करोड़ के करीब निवेश के प्रस्ताव आए
– 30 हजार करोड़ मेरठ मंडल का निवेश लक्ष्य