मेयर को भारी पड़ा अपने ही पार्षदों से झगड़ा

मेयर को भारी पड़ा अपने ही पार्षदों से झगड़ा

रुड़की बीजेपी ने हरिद्वार ज़िले के नगर रुड़की के मेयर गौरव गोयल को 6 वर्ष के लिए पार्टी से बाहर कर दिया पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने गोयल को अनुशासनहीनता, पार्टी पार्षदों से टकराव के साथ करप्शन के आरोपों और पार्टी विरोधी गतिविधियों को इस निर्णय का कारण बताया इस बड़े एक्शन के बाद जिला अध्यक्ष ने पार्षदों के साथ एक बैठक में बोला कि पार्टी का यह निर्णय ठीक है और अब शहर का विकास ठीक तरह से होगा मेयर ने इस बारे में यही बोला है कि समय आने पर वह अपनी बात रखेंगे

1 जुलाई को भाजपा ने गोयल को बाहर को रास्ता दिखाया, तो आज 2 जुलाई को जिला अध्यक्ष जयपाल सिंह चौहान रुड़की पहुंचे और नगर निगम के कुछ पार्षदों के साथ बैठक की उन्होंने पार्टी के फैसला को ठीक करार देते हुए गोयल पर लंबे समय से पार्टी की रीति नीति से हटकर काम करने के आरोप मढ़े चौहान ने कहा, ‘गोयल को समझाने की प्रयास कई बार की गई लेकिन मामला सुलझा नहीं उनका एक कथित ऑडियो भी वायरल हुआ था, जिससे पार्टी की किरकिरी भी हुई थी पार्टी ऐसा बर्ताव लंबे समय तक बर्दाश्त नहीं कर सकती अब पार्षद अपने क्षेत्र के विकास कार्य अच्छी तरह से करेंगे

किस आधार पर निकाले गए मेयर?
गोयल को भाजपा ने 2019 में भी निकाय चुनाव के दौरान निष्कासित किया था, तब पार्टी से बगावत कर वह निर्दलीय चुनाव लड़े थे बाद में वह बीजेपी में दोबारा आ तो गए लेकिन मेयर बनने के बाद से ही पार्षदों के साथ उनका सामंजस्य नही बन सका बीजेपी ने गोयल को प्रमुख रूप से ये आरोप लगाकर निष्कासित किया

— अपनी ही पार्टी के पार्षदों के साथ विवाद
— 25 लाख रुपये की घूस मुद्दे में जांच विचाराधीन
बीजेपी के नेतृत्व और प्रदेश संगठन के विरूद्ध बयानबाजी
करप्शन को बढ़ावा देने के लिए पार्टी पर मनगढ़ंत आरोप
— रुड़की शहर के विकास में बाधा डालना

इन आरोपों पर बीजेपी के प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार ने बोला कि गोयल के रवैये से पार्टी की साख और छवि को क्षति पहुंची इसलिए पार्टी विरोधी गोयल को निकाल दिया गया वहीं, इन आरोपों और पार्टी के एक्शन पर गोयल ने बोलने से साफ इनकार कर दिया उन्होंने यही बोला कि समय आने पर वह सब कुछ बताएंगे

एक घोटाले पर जिपं अध्यक्ष का इस्तीफा!
असल में उत्तराखंड में कई स्थान बीजेपी संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारी गंभीर आरोपों, विवादों और अंदरूनी कलह में घिर रहे हैं न्यूज़18 ने हाल ही आपको बताया था कि कैबिनेट मंत्री धनसिंह रावत के क्षेत्र श्रीनगर गढ़वाल में मेयर पद के दावेदारों के बीच किस तरह कलह चल रही है इसी बीच, रुद्रप्रयाग में भी एक घोटाले के चलते भाजपाई ज़िला पंचायत अध्यक्ष के इस्तीफा देने की नौबत आ गई

हमारे संवाददाता शैलेंद्र रावत की रिपोर्ट के अनुसार जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह को शुक्रवार को इस्तीफा देना पड़ा इस्तीफे के बावजूद विपक्षी सदस्यों ने फ्लोर टेस्ट में हिस्सा लिया और शाह को अविश्वास प्रस्ताव पास कर पद से हटा दिया विपक्ष का बोलना है कि जो भी आरोप अविश्वास प्रस्ताव देते समय उन्होंने लगाए, उन सब विषयों को भी वोटिंग से पहले सदन में रखा गया जिला पंचायत सदस्यों का बोलना है कि मनमानी से निर्णय करने, सदस्यों की अनदेखी करने और केदारनाथ में कथित गद्दी गद्दा घोटाले की गाज शाह पर गिरी