वायरल

आखिर कैसें यहां अचानक ही गायब हो जाते हैं लोग, कारण जानकर हो जाएंगे हैरान

कई बार आदमी काम और पारिवारिक झगड़ों से इतना थक जाता है कि वह कहीं दूर जाकर बस जाना चाहता है. जहां उसका न तो कोई दोस्त है और न ही कोई रिश्तेदार ताकि वह शांतिपूर्ण जीवन जी सके और अपनी ख़्वाहिश के मुताबिक जी सके. लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगी कि दुनिया के एक राष्ट्र में लोग ऐसा कर रहे हैं. और ये चलन वहां कई वर्षों से चला आ रहा है दरअसल, जापान में लोग कई वर्षों से ऐसा करते आ रहे हैं. जापान में ऐसा करने को जोहात्सु बोला जाता है, जिसका अर्थ है वाष्पित हो जाना. यहां कई लोग ऐसे गायब हो गए हैं कि उनके परिवार वालों को आज तक उनके बारे में पता नहीं चल पाया है.

कुछ कंपनियाँ नियमित रूप से उन लोगों की सहायता करती हैं जो अपने परिवार से दूर जाना चाहते हैं. इसके बदले में उन्हें कंपनियों को भारी भरकम फीस चुकानी पड़ती है जापान में ऐसे कई मुद्दे सामने आए हैं जब लोग नियमित रूप से काम के लिए घर से निकलते थे और फिर कभी वापस नहीं लौटते थे. इन लापता लोगों को जापान में जोहात्सु बोला जाता है. अधिकतर मामलों में देखा गया है कि परिजनों द्वारा काफी खोजबीन करने के बाद भी कोई सुराग नहीं मिल पाया है

आपको बता दें कि जापान में इस तरह के गायब होने के पीछे का कारण पारिवारिक और जॉब का तनाव या भारी ऋण है. जब लोग गायब होने का निर्णय करते हैं, यानी जोहात्सु बन जाते हैं, तो कंपनियां उन्हें ऐसा करने में सहायता करती हैं. इस काम को ‘नाइट मूविंग सर्विस’ बोला जाता है. ये कंपनियां लोगों को नयी जीवन प्रारम्भ करने में सहायता करती हैं और उन्हें गुप्त स्थानों पर आवास भी मौजूद कराती हैं.

एक रिपोर्ट के मुताबिक, 1990 के दशक में नाइट मूविंग कंपनी प्रारम्भ करने वाले शो हत्तोरी का बोलना है कि गायब होने के पीछे का कारण हमेशा नकारात्मक नहीं होता है. दरअसल, कुछ लोग नया काम प्रारम्भ करने या विवाह करने के लिए भी ऐसा करते हैं. उनका बोलना है कि पहले लोग आर्थिक तंगी के कारण गायब हो रहे थे, लेकिन अब यह सामाजिक कारणों से भी होने लगा है. रिपोर्ट में बोला गया है कि दशकों तक जोहात्सु पर अध्ययन करने वाले समाजशास्त्री हिरोकी नाकामोरी का बोलना है कि इस शब्द का इस्तेमाल पहली बार 1960 के दशक में लापता लोगों के लिए किया गया था

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button