यहां के लोग लोग अपने पूरे शरीर पर गुदवाते हैं राम नाम के टैटू

यहां के लोग लोग अपने पूरे शरीर पर गुदवाते हैं राम नाम के टैटू

यहां 100 सालों से भी ज्यादा लंबे वक्त से छत्तीसगढ़ की रामनामी समाज में एक अनोखी परंपरा चली आ रही है। इस समाज के लोग पूरे शरीर पर राम नाम का टैटू बनवाते हैं, लेकिन न मंदिर जाते हैं और न ही मूर्ति पूजा करते हैं। इस तरह के टैटू को लोकल लैंग्वेज में गोदना कहा जाता है। दरअसल, इसे भगवान की भक्ति के साथ ही सामाजिक बगावत के तौर पर भी देखा जाता है। टैटू बनवाने के पीछे है इनकी बगावत की कहानी।

यूं तो भारत को विविधताओं वाला देश कहा जाता है, यहां कि कुछ प्रथा व परंपरा ऐसी है जो हमें अचंभे में डाल देती है।यहां हर धर्म के लोग और हर धर्म का अलग-अलग स्वरुप देखने को मिलता है। भारत में एक ऐसा ही राज्य है छत्तीसगढ़ जहां एक अनोखी परंपरा है जिसे 'रामनामी' के नाम से जाना जाता है।

कहा जाता है कि 100 साल पहले गांव में हिन्दुओं के ऊंची जाति के लोगों ने इस समाज को मंदिर में घुसने से मना कर दिया था। इसके बाद से ही इन्होंने विरोध करने के लिए चेहरे सहित पूरे शरीर में राम नाम का टैटू बनवाना शुरू कर दिया। लोगों का मानना है कि, रामनामी समाज को रमरमिहा के नाम से भी जाना जाता है। कई लोग इस परंपरा को पिछले 50 सालों से निभा रहे हैं। वहां के लोग बताते हैं, जिस दिन मैंने ये टैटू बनवाया, उस दिन मेरा नया जन्म हो गया। 50 साल बाद उनके शरीर पर बने टैटू कुछ धुंधले से हो चुके हैं, लेकिन उनके इस विश्वास में कोई कमी नहीं आई है। रामनामी जाति के लोगों की आबादी तकरीबन एक लाख है और छत्तीसगढ़ के चार जिलों में इनकी संख्या ज्यादा है। सभी में टैटू बनवाना एक आम बात है।

इस समाज में पैदा हुए लोगों को शरीर के कुछ हिस्सों में टैटू बनवाना जरूरी है। खासतौर पर छाती पर और दो साल का होने से पहले। टैटू बनवाने वाले लोगों को शराब पीने की मनाही के साथ ही रोजाना राम नाम बोलना भी जरूरी है। ज्यादातर रामनामी लोगों के घरों की दीवारों पर राम-राम लिखा होता है। इस समाज के लोगों में राम-राम लिखे कपड़े पहनने का भी चलन है, और ये लोग आपस में एक-दूसरे को राम-राम के नाम से ही पुकारते हैं।

नखशिख राम-राम लिखवाने वालों ने बताया कि रामनामियों की पहचान राम-राम का गुदना गुदवाने के तरीके के मुताबिक की जाती है। शरीर के किसी भी हिस्से में राम-राम लिखवाने वाले रामनामी। माथे पर राम नाम लिखवाने वाले को शिरोमणि। और पूरे माथे पर राम नाम लिखवाने वाले को सर्वांग रामनामी और पूरे शरीर पर राम नाम लिखवाने वाले को नखशिख रामनामी कहा जाता है।


शबनम के वायरल फोटो का सामने आया बड़ा सच, इस महिला कैदी के साथ किया गया बरेली जेल शिफ्ट

शबनम के वायरल फोटो का सामने आया बड़ा सच, इस महिला कैदी के साथ किया गया बरेली जेल शिफ्ट
सात परिजनों की हत्या की दोषी अमरोहा के बावनखेड़ी की शबनम की कुछ दिन पहले एक अन्य महिला बंदी के साथ हंसते हुए वायरल हुई फोटो रामपुर जिला कारागार की ही थी। डीएम के स्तर से कराई गई जांच में इस बात की पुष्टि हो जाने के बाद शबनम और फोटो में साथ मौजूद महिला बंदी को बरेली जेल में शिफ्ट कर दिया गया है। जेल के भीतर फोटोग्राफी पर दो बंदी रक्षक निलंबित किए गए हैं।
सात परिजनों की हत्या की दोषी शबनम को फांसी की सजा सुनाई जा चुकी है। वर्ष 2008 में हुए बाबनखेड़ी कांड के खुलासे के बाद शबनम को मुरादाबाद जेल में रखा गया था। वर्ष 2019 में उसे रामपुर जेल भेज दिया गया था। तब से शबनम रामपुर की जेल में ही बंद थी।
मथुरा जेल में शबनम की फांसी की तैयारियों के बीच कुछ दिन पहले उसका एक अन्य महिला के साथ हंसते हुए फोटो वायरल हुआ था। फोटो चर्चा में आने के बाद रामपुर जेल प्रशासन ने इसे पुरानी तस्वीर बताते हुए कहा था कि फोटो रामपुर जेल के भीतर का नहीं है।
 
डीएम आंजनेय कुमार सिंह ने इसकी जांच के निर्देश दिए थे। जांच में फोटो रामपुर जेल के भीतर का ही माना गया है। फोटो में साथ मौजूद महिला आरती शर्मा भी रामपुर जेल की बंदी है। उसे भी हत्या के एक मामले में आजीवन कारावास की सजा हो चुकी है।
इस जानकारी के बाद डीएम के आदेश पर शबनम और आरती शर्मा को बरेली जेल शिफ्ट कर दिया गया है। साथ ही जेल के भीतर कैमरा पहुंचने और फोटो खिंचकर वायरल होने के मामले को गंभीर लापरवाही मानते हुए बंदी रक्षक नाहिद बी और शुएब खान को निलंबित कर दिया गया है। पूरे प्रकरण की जांच मुरादाबाद कारागार के जेलर को सौंपी गई है।
जिला कारागार से शबनम का फोटो वायरल होने के मामले में प्रथम दृष्टया दो बंदी रक्षकों की भूमिका सामने आई है। दोनों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही जिलाधिकारी के आदेश पर फोटो में दिखने वाली शबनम और अन्य एक महिला बंदी आरती शर्मा को रामपुर से बरेली जेल भेज दिया गया है। पूरे मामले की विभागीय जांच मुरादाबाद के जेलर को सौंपी गई है।

पीडी सलोनिया, जेल अधीक्षक, रामपुर

सोने के दाम में भारी गिरावट, फटाफट चेक करें नया रेट       7th pay commission: कर्मचारियों के लिए खुशखबरी       इन राशियों के लिए खुल रहे हैं सफलता के द्वार, जानें       महाशिवरात्रि स्पेशल, भगवान शिव एक पत्नी और दो पुत्रों के पिता नहीं, जानें       विष्णु का प्रिय शंख, भोलेबाबा की पूजा में वर्जित, आखिर क्यों       Beautiful to Bold! वुमेन्स डे पर अपने जीवन की खास स्त्रियों को भेजें ये मैसेज       Lovely Ladies! बढ़ती आयु में इन 8 बातों की टेंशन छोड़कर खुलकर जिएं       दुनिया में इस स्मार्टफोन को सबसे ज्यादा लोग करते हैं पसंद       सोशल मीडिया पर छेड़छाड़, बचाव के लिए करें ये काम       Flipkart सेल: इन स्मार्टफोन्स पर मिल रहा बड़ा डिस्काउंट       भुलकर भी एक साथ न खाएं ये चीजें, हो सकता है ये बड़ा नुकसान       तेजी से कम होगी पेट की चर्बी, सोने से पहले करें इस चीज का सेवन       इस तरह शरीर में बहने लगेगी पॉजिटिविटी, कई रोंगों का रामबाण उपचार है भ्रामरी प्राणायाम       ज्‍यादा खाने पर नुकसान भी पहुंचा सकते हैं ड्राई फ्रूट्स       खाना खाते वक्‍त क्‍या आप भी पीते हैं पानी?       बिना GYM जाए तेजी से कम होगा वजन, रोज 15 मिनट घर बैठे करें यह काम       Women’s Day: महिला डॉक्टर ने प्रग्नेंसी के दौरान किया ऐसा काम       खाने में ज्यादा नमक है जहर की तरह       मिलावटी चीजों से रहें सतर्क, ऐसे करें पहचान, खान-पान होगा शुद्ध       दुनिया का सबसे धनी बोर्ड बीसीसीआई महिला इवेंट को लेकर सबसे पीछे!