बच्चों को अपने गार्डेन में खेलने से पड़ोसी ने लगाई पाबंदी

बच्चों को अपने गार्डेन में खेलने से पड़ोसी ने लगाई पाबंदी

लोग अपने बच्चों के लिए क्या नहीं करते, उनकी खुशी, उनकी मस्ती और ज़रूरतों के लिए स्वयं की खुशी को पीछे छोड़ देते हैं अपने बच्चों के बारे कोई भी कुछ अनाप-शनाप कहे तो खून खौल उठता है माता-पिता का लगता है बस चले तो गला दबा दो उसका, जिसने बच्चों पर उंगली उठाई ऐसे में एक मां के सामने ऐसी परेशानी आ खड़ी हुई, जिसका निवारण ना सूझने पर उसने लोगो से इस बारे में राय मांगी है

सोशल प्लेटफॉर्म मम्मनेट पर एक स्त्री ने अपनी आपबीती बताते हुए लोगों से सुझाव की मांग की है स्त्री ने बताया कि पड़ोसी ने उसके बच्चों के अपने स्वयं के गार्डेन में खेलने पर पाबंदी लगा दी, और बाकायदा एक धमकी भरा टेक्स्ट भेजकर इस बारे में आगाह किया अब परेशान स्त्री ने पूछा है कि ऐसी स्थिती में उसे क्या करना चाहिए?


महिला को दो बेटे हैं, एक की उम्र 11 वर्ष तो दूसरा 14 वर्ष का है दोनों अपने गार्डेन में फुटबॉल मैच खेलते हैं जिसकी आवाज़ पड़ोसी को एकदम पसंद नहीं लिहाज़ा वो चाहते हैं कि, बच्चे खेलना बंद कर दे या फिर कहीं और चले जाएं इस पर स्त्री ने विरोध दर्ज कराई और चिंता से भी घिर गई क्योंकि वो एक सिंगल पैरेंट है ऐसे में उसे अकेला पाकर पड़ोसी उसपर रूआब जमाना चाहते हैं शायद ऐसे में स्त्री का बोलना है कि उसे वास्तव में कुछ समझ नहीं आ रहा है कि ऐसी स्थिति में उसे क्या करना चाहिए

लोगों की राय, कुछ गलत नहीं कर रहे बच्चे
परेशान मां के अनुसार बच्चों के गार्डेन में खेलने पर विरोध भरा मैसेज भेजने से पहले कभी किसी ने ऐसी कोई बात नहीं की थी अब सीधे नाराजगी और पाबंदी वाले टेक्स्ट के साथ मुझे बताया जा रहा है ऐसे में उसने एग्रीमेंट का ज़िक्र किया, जहां अपने-अपने गार्डेन का पूरी तरह उपयोग और एंजॉयमेंट करने का हर किसी को पूरा अधिकार दिया गया था ऐसे में यूज़र्स ने अपनी राय साझा करते हुए बोला कि वो कुछ गलत नहीं कर रही है बच्चे तो गार्डेन में खेलते हैं वहीं एक ने बोला कि “अगर आप किसी के बगल में रहते हैं और उनके बगीचे से आवाज़ें आ रही है तो ये सामान्य जीवन का हिस्सा है आपके बच्चे कुछ भी गलत नहीं कर रहे हैं” हर किसी ने अपने बचपन में खेल के दौरान जो किया है ये बच्चे भी वहीं करते हैं ऐसे में उन पर रोक लगाना गलत है


दुनिया की सबसे बुजुर्ग एयर होस्टेस इतने साल से कर रही हैं नौकरी

दुनिया की सबसे बुजुर्ग एयर होस्टेस इतने साल से कर रही हैं नौकरी

जब भी हम फ्लाइट में ट्रैवेल करते हैं तो आमतौर फ्लाइट अटेंडेंट या एयर होस्टेस के तौर पर हमारे सामने कुछ खूबसूरत महिलाएं आती हैं वे जितने फिट होती हैं, उतने ही बेहतरीन ढंग से अपना काम भी करती हैं सोचिए, यदि उनकी स्थान कोई दादी मां फ्लाइट अटेंडेंट के तौर पर आपके सामने आएं, तो झटका लगेगा ना ? दरअसल हमें किसी अधेड़ या बुजुर्ग स्त्री को एयर होस्टेस के तौर पर देखने की आदत नहीं है, लेकिन एक दादी मां की उम्र की अमेरिकन स्त्री आज भी फ्लाइट अटेंडेंट के तौर पर काम कर रही हैं

86 वर्ष की अमेरिकन स्त्री बेटी नैश (Bette Nash) दुनिया की सबसे बुजुर्ग एयर होस्टेस हैं, जो पिछले 65 वर्ष से जॉब कर रही हैं ये अपने आपमें एकदम अनोखा वर्ल्ड रिकॉर्ड है बोस्टन की रहने वाली बेटी नैश अमेरिकन एयरलाइंस के लिए फ्लाइट अटेंडेंट का काम करती हैं और वे अब दुनिया की सबसे बुजुर्ग फ्लाइट अटेंडेंट बन चुकी हैं

1957 से कर रही हैं काम
बेटी नैश (Bette Nash) ने एयर होस्टेस के तौर पर अपना करियर वर्ष 1957 से प्रारम्भ किया था, जब आदमी ने पहली सैटेलाइट बनाई थी उस समय उन्हें ये आज़ादी मिलती थी कि वे अपने मन अनुसार रूट का चुनाव कर सकें बेटी न्यूयॉर्क-बोस्ट- वॉशिंगटन डीसी रूट पर ज्यादातर समय जाती थीं एबीसी न्यूज़ के अनुसार ये काम करते हुए बेटी को 65 वर्ष का समय बीत चुका है और इस रूट पर यात्रा करने वालों के लिए वे बहुत जाना-पहचाना चेहरा हैं वे एक ही रूट पर इसलिए जाती हैं, क्योंकि इसके ज़रिये वे हर रात अपने बेटे के साथ घर पर बिता पाती हैं और वे अपने हाइपर सक्रिय मां की देखभाल कर पाते हैं

मर्दों को भी छोड़ा पीछे
आमतौर पर मर्दों को करियर की बात करें तो मर्दों का करियर भी 63 वर्ष का होता है और बेटी उसको भी 2 वर्ष पीछे छोड़ चुकी हैं वे पूरी तरह सक्रिय हैं और अपने यूनिफॉर्म में तैयार होकर काफी अच्छी लगती हैं यदि बेटी सबसे अधिक लंबे समय तक काम करने वाली स्त्री हैं, तो इसी वर्ष ब्राज़ील के एक शख्स ने सबसे अधिक समय तक काम करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था उनका नाम वॉल्टर ऑर्थमन है और वे 84 वर्ष से एक ही कंपनी के लिए काम कर रहे हैं वॉल्टर की उम्र 100 वर्ष हो चुकी है