गर्लफ्रेंड को घुमाने के बहाने ले गया जंगल और फिर की हत्या

गर्लफ्रेंड को घुमाने के बहाने ले गया जंगल और फिर की हत्या

छत्तीसगढ़ से श्रद्धा हत्याकांड जैसी ही घटना सामने आई है. बस फर्क इतना है कि श्रद्धा हत्याकांड में जहां क्रिमिनल ने मर्डर के पश्चात् मृत शरीर के टुकड़े किए थे, तो वहीं इस मुद्दे में पहले शख्स ने प्रेमिका को जंगल में गोली मारी, फिर सबूत छिपाने के लिए मृत शरीर को जला दिया. क्रिमिनल ने प्रेमिका को छत्तीसगढ़ के रायपुर से ओडिशा में ले जाकर इस पूरे हत्याकांड को अंजाम दिया. पुलिस ने क्रिमिनल शख्स को अरैस्ट कर लिया है. 

दरअसल, छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले की रहने वाली 21 वर्षीय तनु कुर्रे रायपुर के निजी बैंक में काम करती थी. वह 21 नवंबर को अपने दोस्त सचिन अग्रवाल के साथ बालंगीर निकली थी. मगर इसके बाद तनु के घरवालों ने उससे बात करने का कोशिश किया, मगर टेलीफोन पर उनकी बात नहीं हो सकी. तनु के घरवालों का आरोप है कि सचिन ओडिशा पहुंचने के पश्चात् से उसे अपने परिवार के लोगों से भी बात नहीं करने दे रहा था. हालांकि, सचिन तनु के क़त्ल के बाद घरवालों को गुमराह करने के लिए उनसे चैट पर बात कर रहा था. 

तनु के घरवालों का जब उससे संपर्क नहीं हो पा रहा था, तो उन्होंने रायपुर पुलिस के पास उसके लापता होने की कम्पलेन दर्ज कराई. तहकीकात के चलते ही रायपुर पुलिस को पता चला कि बालंगीर में एक जला हुआ मृत शरीर बरामद हुआ है. मृत शरीर के फोटो के आधार पर घरवालों ने तनु के मृत शरीर की पहचान कर ली. फिर बालंगीर पुलिस ने केस दर्ज कर तहकीकात आरम्भ की. पुलिस को सबसे पहला संदेह उसके प्रेमी सचिन अग्रवाल पर हुआ. सचिन अग्रवाल लगातार अपनी लोकेशन बदल रहा था. पुलिस ने टेलीफोन की लोकेशन के आधार पर उसे अरैस्ट कर लिया. पुलिस के अनुसार, क्रिमिनल ने पूछताछ में मर्डर करने की बात कबूल कर ली है. पुलिस पूछताछ में क्रिमिनल ने बताया कि उसे संदेह था कि तनु का किसी और से संबंध है इसके चलते वह तनु को घुमाने के बहाने बालंगीर ले गया. उसने तनु को जंगल में ले जाकर उसका क़त्ल कर दिया. फिर मृत शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर जला दिया.