वायरल

इस देश के पास है सबसे ज्यादा सोना, जानकर उड़ जाएंगे होश

सोना, यानी गोल्ड आज के समय में निवेश का एक बेहतरीन विकल्प माना जाता है दुनिया के भिन्न-भिन्न राष्ट्र अपने पास गोल्ड रिजर्व कायम रखते हैं, जिसके जरिए वो दूसरे राष्ट्रों से सौदा भी कर सकते हैं भिन्न-भिन्न राष्ट्रों में सोने की खुदाई भी चलती रहती है ऐसे में क्या कभी आपने सोचा है कि धरती पर कितना सोना है? (How much gold on Earth) हमने कितना सोना खोदकर बाहर निकाल लिया और कितना अभी भी निकाला जाना बाकी है? इसके अतिरिक्त वो कौन सा राष्ट्र (Country with largest gold reserves) है, जिसके पास सबसे अधिक सोना है? जब आपको पता चलेगा, तो आपके होश उड़ जाएंगे

सबसे पहले जान लीजिए कि किस राष्ट्र के पास सबसे अधिक सोना (Which country has maximum gold) है फोर्ब्स इण्डिया की मार्च 2024 की एक रिपोर्ट के अनुसार, वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल ने वर्ष 2023 के चौथे क्वार्टर के हिसाब से कहा कि अमेरिका के पास सबसे अधिक सोना है इस राष्ट्र के पास 8,133.46 टन सोने का भंडार है इसके बाद जर्मनी दूसरे जगह पर है, जिसके पास 3,352.65 टन गोल्ड रिजर्व है और तीसरे जगह पर इटली है, जिसके पास 2,451.84 टन गोल्ड है हिंदुस्तान की बात करें तो हमारे पास 803.58 टन गोल्ड रिजर्व उपस्थित है

धरती में है कितना सोना
बीबीसी की वर्ष 2020 की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे ने अंदाजा लगाया है कि धरती के अंदर 50 हजार टन गोल्ड रिजर्व है जिसका खनन होना बाकी है पर अब तक कितने सोने का खनन हो चुका है? आपको बता दें कि करीब 1,90,000 टन सोना अब तक खनन के जरिए निकाला जा चुका है हालांकि, ये केवल एक रफ आंकड़ा है आपको जानकर आश्चर्य होगी कि दुनिया में अब तक सोने का सबसे बड़ा साधन साउथ अफ्रीका का विटवॉटर्सरैंड बेसिन है जहां से दुनिया के 30 प्रतिशत सोने का खनन हो चुका है मीडिया की मानें तो अभी चीन सोने का खनन करने वाला राष्ट्र है वहीं दुनिया का सबसे बड़ा गोल्ड माइन अमेरिका के नवादा में है

4 मीटर मोटी सोने की परत
एक चौंकाने वाली बात तो वैज्ञानिकों ने भी बताई है थ्योरी में ये माना जाता है कि धरती के गर्भ में, यानी धरती के कोर में इतना सोना है कि वो उसकी 4 मीटर मोटी परत से पूरी धरती ढक सकती है मगर धरत के कोर तक खुदाई अभी असंभव है आदमी अभी उतनी नीचे नहीं पहुंच पाया, कि उसे धरती के गर्भ का हाल पता लग पाए

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button