सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के मास्टरमाइंड पकड़ा गया: सूत्र

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के मास्टरमाइंड पकड़ा गया: सूत्र

नई दिल्ली: पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का मास्टरमाइंड गोल्डी बराड़ को लेकर बड़ी समाचार सामने आई है हिंदुस्तान की खुफिया एजेंसियों के सूत्रों की मानें तो गोल्डी बराड़ को कैलिफोर्निया में हिरासत में लिया गया है इंटरनेशनल सोर्स से हिंदुस्तान की खुफिया एजेंसियों को एक बड़ा इनपुट मिला है कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड का मास्टरमाइंड कुख्यात और इंटरनेशनल गैंगस्टर गोल्डी बराड़ को कैलिफोर्निया में 20 नवंबर या उससे पहले डिटेन कर लिया गया है हालांकि, अब तक कैलिफोर्निया की तरफ से इस मुद्दे में कोई आधिकारिक बयान हिंदुस्तान गवर्नमेंट को नहीं मिला है

खुफिया विभाग रॉ, आईबी, दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल और पंजाब इंटेलिजेंस को इस तरह के इनपुट्स जरूर मिले हैं कि कैलिफोर्निया में गोल्डी बराड़ को लेकर बड़ी हलचल हुई है और उसे वहां पर लोकेट कर पकड़ा गया है बता दें कि मीडिया इण्डिया ने सबसे पहले इस बात का खुलासा किया था कि गोल्डी बराड़ ने कनाडा से अपना नया ठिकाना कैलिफोर्निया में बनाया है और उस दौरान उसने कैलिफोर्निया के शहर सैक्रामेंटो, FRIZOW, और Salt lake को अपना सेफ हाउस बनाया हुआ था गोल्डी बराड़ कैलिफ़ोर्निया के FRESNO सिटी में लंबे समय वक्त से रह रहा था

सूत्रों की मानें तो बीते कुछ समय से कनाडा में पेशे से ट्रक ड्राइवर गोल्डी बराड़ को वहां जबरदस्त खतरा महसूस हो रहा था उसके पीछे एक वजह यह भी थी कि कनाडा में मूसेवाला के बेतहाशा फैंस उपस्थित हैं और बमबीहा गैंग के अनेक बड़े गैंगस्टर और लॉरेंस बिश्नोई समेत गोल्डी बराड़ गैंग के दर्जनों शत्रु भी वहीं रहते हैं

खुफिया सूत्रों से मिली डानकारी के मुताबिक, गैंगस्टर गोल्डी बराड़ ने कैलिफोर्निया में SACRAMENTO सिटी में कानूनी सहायता के जरिये सियासी शरण की अपील लगाने की प्रयास की है ताकि वह पकड़े जाने पर हिंदुस्तान न आ पाए इसके लिए गोल्डी ने दो कानूनी जानकारों से भी सहायता लेनी चाही है, जिनमें से एक वकील ने गोल्डी का अपराधिक बैकग्राउंड पता चलने पर उसका मुकदमा लड़ने से मना कर दिया उसके बाद उसने एक अन्य वकील की सहायता ली

सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक, यह गोल्डी का एक पैंतरा था ताकि वह हिंदुस्तान वापस न आ सके और इसके लिए यदि गोल्डी कैलिफोर्निया में कोई छोटा-मोटा क्राइम भी कर देता है तो जब तक उस क्राइम की सुनवाई पूरी नही होती, तब तक गोल्डी वहां पकड़े जाने के बाद भी वह हिंदुस्तान डिपोर्ट होने से बच जाएगा यह पैंतरा इसके पहले भी कई अपराधी, गैंगस्टर और आतंकवादी दूसरे राष्ट्रों में अपनाते आए हैं बता दें कि कहीं भी सियासी शरण तब ली जाती है, जब आप यह दिखाने की प्रयास करें कि आप जिस राष्ट्र के रहने वाले हैं, वहां आप पर जुल्म हुआ है और वहां आपको न्याय नहीं मिल पाएगा