एक दिन में हल्दी की इतनी मात्रा का करें सेवन ,आपके शरीर को देगी काफी लाभ

एक दिन में हल्दी की इतनी मात्रा का करें  सेवन ,आपके शरीर को  देगी काफी लाभ

 हल्दी भारतीय संस्कृति और रसोई का बहुत ही अहम हिस्सा है इसके अतिरिक्त हल्दी एक गजब की औषधि है सर्दी खांसी, गले में खराश, शरीर में सूजन, चोट या दर्द, घरेलू उपचार के लिए दादी-नानी का सबसे भरोसेमंद और पसंदीदा चीज हल्दी ही मानी जाती है हल्दी एक ऐसी चीज है जो प्राथमिक इलाज के लिए सबसे सरलता से इस्तेमाल में लाई जाती है इसके उपयोग से अच्छे-अच्छे घाव भर जाते हैं

भारतीय रसोई का हिस्से बने इसे 3500 से अधिक वर्ष हो गए होंगे खाने की रंगत और स्वाद बढ़ाने के अतिरिक्त यह स्वास्थ्य के लिए लाभकारी भी होती है यह तो सभी जानते हैं, लेकिन तभी जब इसे ठीक ढंग से उपयोग किया जाए वहीं, कम ही भारतीय खाना बनाते समय इसका ठीक उपयोग करना जानते होंगे आज हम आपको इसके इस्तेमाल का ठीक उपाय बता रहे हैं  

हल्दी एक बेहतरीन औषधि है
वेदों और पुराणों से लेकर आयुर्वेद साइंस और अब मॉडर्न साइंस भी हल्दी को लेकर सुर्खियों में रहता है आदिकाल से भारतीय ट्रेडिशनल हर्बल नॉलेज हल्दी पर एकतरफा विश्वास करता है हिंदुस्तानियों के इसी विश्वास को परखने के लिए मॉडर्न साइंस ने 4 हजार से अधिक शोध किए हैं हर बार हल्दी एक बेहतरीन औषधि साबित हुई है 

दैनिक उपयोग की प्रक्रिया में हैं कुछ खामियां 
ज्यादातर हल्दी का उपयोग सब्जियों/दालों/व्यजंनों की रंगत बढ़ाने को ध्यान में रखकर किया जाता है ज्यादातर लोगों द्वारा हल्दी के दैनिक उपयोग के ढंग में कुछ खामियां हैं हल्दी का उपयोग करते समय कम ही लोग इस बात को सोचते हैं कि हल्दी से स्वास्थ्य दुरुस्त होने वाली है अब इसे फ्लेवर और कलर के हिसाब से ही अधिक इस्तेमाल में लाया जाता है

हमारा शरीर अंदर से हल्दी को सरलता से पकड़ नहीं पाता है साइंस की भाषा में कहें तो हल्दी की बायोअवेलेबिलिटी (Bioavailability) बहुत कम है वहीं, इसके उपयोग के सामान्य तौर उपायों में कुछ परिवर्तन करते हैं, तो फ्लेवर और रंगत के साथ ही हल्दी अपने गुणों से आपके शरीर को काफी लाभ देगी 

पानी में पूरी तरह से घुलनशील नहीं है हल्दी 
हल्दी आपके शरीर को अधिक से अधिक फायदा पहुंचाए इसके लिए इसे ठीक ढंग से उपयोग करें यहां हम आपको इसका उपाय बता रहे हैं यदि ऐसे आप हल्दी का इस्तेमाल करेंगे, तो आपको पूरे लाभ मिलेंगे सब्जी या दाल फ्राय करते समय हमेशा ध्यान रखें कि जब कढ़ाही में ऑयल या घी डालते हैं, तो सबसे पहले आवश्यकतानुसार हल्दी डालकर उसे तेल/घी में घोल लें इसके बाद फ्राय करने का प्रोसेस प्रारम्भ करें तेल, घी या फैट्स हल्दी को शरीर के भीतर ठीक स्थान पहुंचाने वाले ड्राइवर की तरह काम करते हैं

एक दिन में हल्दी की इतनी मात्रा का सेवन करें
हल्दी एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है, एंटीइनफ्लेमेट्री भी जबरदस्त है और कई तरह की समस्याओं में इसे औषधि के रूप में इस्तेमाल में लाया जाता है एक आदमी दिनभर में 2 चम्मच यानी कि 5-8 ग्राम तक हल्दी कंज्यूम कर सकता है और इतनी मात्रा ही एक दिन के लिए पर्याप्त है चाय या दूध नहीं पीते हैं, तो एक गिलास पानी में आधा चम्मच हल्दी पाउडर और 2 चुटकी काली मिर्च पाउडर डालें और पी लें, यह ड्रिंक एक बेहतरीन टॉनिक की तरह काम करता है 

काली मिर्च से हल्दी की bioavailibility  बढ़ती है
काली मिर्च हल्दी को हमारे शरीर के उन हिस्सों तक पहुंचा आती है, जहां इसकी आवश्यकता होती है दरअसल,  काली मिर्च हल्दी की बायोअवेलेबिलिटी (Bioavailability) में 2000 गुना तक का वृद्धि करती है ये एकदम सच बात है पानी में काफी देर उबालने से भी हल्दी की घुलनशीलता थोड़ी बढ़ाई जा सकती है 


भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस

भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस
कोविड-19 बना जानलेवा, संक्रमण से 5 रोगियों की मौत" : राष्ट्र की राजधानी में एक बार फिर कोविड-19 वायरस जानलेना बन गया है दिल्ली में एक दिन में कोविड के 648 न‌ए मुद्दे सामने आए, जबकि संक्रमण से 5 रोगियों की मृत्यु हो गई है पॉजिटिविटी दर में भी उछाल आया है कोविड-19 संक्रमण रेट 4.29 फीसदी हु‌ई पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोविड-19 के कुल 15103 टेस्ट किए गए और 785 रोगी ठीक हुए

 देश की राजधानी में एक बार फिर कोविड-19 वायरस जानलेना बन गया है दिल्ली में एक दिन में कोविड के 648 न‌ए मुद्दे सामने आए, जबकि संक्रमण से 5 रोगियों की मृत्यु हो गई है पॉजिटिविटी दर में भी उछाल आया है कोविड-19 संक्रमण रेट 4.29 फीसदी हु‌ई पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोविड-19 के कुल 15103 टेस्ट किए गए और 785 रोगी ठीक हुए फिलहाल, दिल्ली में कोविड-19 के कुल 3268 सक्रिय रोगी हैं और कंटोनमेंट जोन की संख्या घटकर 370 हो गई है

भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस

भारत में पिछले 24 घंटों में 16,103 नए मुद्दे सामने आए हैं, जो एक दिन पहले के मुकाबले करीब एक हजार कम है एक्टिव मामलों की संख्या 1 लाख 11 हजार से अधिक हो गई है स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, हिंदुस्तान में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16,103 मुद्दे सामने आए हैं, वहीं 31 लोगों की मृत्यु भी हो गई है इस समय दैनिक पॉजिटिविटी रेट 4.27 प्रतिशत हो गई है जो कि पिछले दिनों के मुकाबले बढ़ी है 

कोरोना वैक्सीनेशन में हिंदुस्तान गवर्नमेंट लगातार आगे

भारत में अब तक 1 अरब 97 करोड़ से अधिक कोविड-19 की वैक्सीन लग चुकी हैं यही वजह है कि कोविड-19 के मामलों के लगातार सामने आने के बावजूद राष्ट्र की स्वास्थ्य प्रबंध पर अधिक असर नहीं पड़ा है कोविड-19 संक्रमित अधिकांश लोग घरों पर ही आईसोलेट होकर अपना उपचार करा रहे हैं