पाकिस्तान में पत्रकारों पर हमले के मामलों में 40 फीसद की बढोतरी

पाकिस्तान में पत्रकारों पर हमले के मामलों में 40 फीसद की बढोतरी

पाकिस्तान में पत्रकारों पर हमले के मामलों में चालीस फीसद की वृद्धि हुई है। विडंबना ये है कि पाक की राजधानी इस्लामाबाद पत्रकारों के लिए सबसे ज्यादा खतरनाक जगह है। पाकिस्तान फ्रीडम नेटवर्क ने अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी है। समाचार एजेंसी आइएएनएस के मुताबिक पत्रकारों के साथ होने वाली घटनाओं में आधे से ज्यादा इस्लामाबाद में ही होती हैं। सिंध प्रांत दूसरे नंबर पर है। यहां पर पत्रकारों के उत्पीड़न के 38 केस हैं। पंजाब में भी इतनी ही घटनाएं हुई हैं।

इस सूची में खैबर पख्तूनख्वा और गुलाम कश्मीर क्षेत्र भी है। पिछले साल मई से इस साल अप्रैल तक पत्रकारों के साथ 148 घटनाएं हुईं। जिनमें 22 मामलों में पत्रकारों पर प्राणघातक हमला किया गया और छह पत्रकारों की हत्या कर दी गई। उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले ही अमेरिका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिकंन ने मानवाधिकार संगठन की रिपोर्ट के हवाले से कहा था कि पाकिस्तान में मीडिया स्वतंत्र नहीं है। यहां मीडिया संस्थानों और पत्रकारों का सुरक्षा बलों और उग्रवादियों दोनों के द्वारा उत्पीड़न किया जाता है।

वहीं समाचार एजेंसी एएनआइ के मुताबिक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने देश में प्रतिबंधित कट्टरपंथी संगठन तहरीक ए लब्बैक के आगे पूरी तरह घुटने टेक चुके हैं। अब इमरान खान कट्टरपंथियों के ईशनिंदा कानून को पूरी दुनिया में लागू करने के एजेंडे को आगे बढ़ाने में लग गए हैं। उनका इरादा है कि इस कानून को पूरी दुनिया में लागू कराया जाए। इसके लिए वह मुस्लिम देशों को लामबंद करने में जुट गए हैं। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि ईशनिंदा के मामले में सभी मुस्लिम देश एक जुट हों। फ्रांस की तरह ईशनिंदा के मामले अगर सामने आते हैं, तो उस देश के साथ व्यापार करने पर पाबंदी लगाई जाए।


अफगानिस्तान में टैंकरों में लगी आग, सात की मौत

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के निकट एक साथ कई टैंकरों में आग लगने से हुए हादसे में सात लोगों की मौत हो गई, 14 से ज्यादा लोग घायल हो गए। यह पूरी तरह स्पष्ट नहीं हुआ है कि यह तोड़फोड़ की घटना थी या महज दुर्घटना। ये सभी गैसोलीन के टैंकर थे। जानकारी दी गई है कि पहले एक टैंकर में आग लगी, उसके बाद अन्य टैंकर भी आग की चपेट में आ गए। घटना के बाद राजधानी के कुछ हिस्से में बिजली बंद कर दी गई। तालिबान के प्रवक्ता जबीबुल्लाह मुजाहिद ने कहा कि उनका इस घटना में कोई हाथ नहीं है। 


डॉक्‍टर एंथनी फाउची ने कहा कि कोविड-19 महात्रासदी से जूझ रहा भारत, व्‍यापक टीकाकरण एकमात्र हल

डॉक्‍टर एंथनी फाउची ने कहा कि कोविड-19 महात्रासदी से जूझ रहा भारत, व्‍यापक टीकाकरण एकमात्र हल

अमेरिका के सबसे बड़े संक्रामक रोग जानकार डॉक्‍टर एंथनी फाउची ने बोला है कि हिंदुस्तान कोविड-19 वायरस महामारी के कहर से जूझ रहा है और दुनिया के अन्‍य राष्ट्रों को सहायता के लिए आगे आना चाहिए. फाउची ने बोला कि हिंदुस्तान अस्‍पताल के बिस्‍तरों, ऑक्‍सीजन की कमी, पीपीई किट और अन्‍य चिकित्‍सा उपकरणों की कमी से जूझ रहा है और अमेरिका जैसे राष्ट्रों की इसमें सहायता करनी चाहिए. उन्‍होंने बोला कि इस महासंकट से उबरने के लिए एकमात्र दीर्घकालिक तरीका बड़े पैमाने पर लोगों का टीकाकरण है.

डॉक्‍टर फाउची का यह बयान ऐसे समय पर आया है जब शनिवार को आधिकारिक आंकड़े के अनुसार इस महामारी से 4 हजार लोगों की मृत्यु हो गई. उन्होंने इस खतरनाक महामारी से निपटने के लिए घरेलू एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कोविड-रोधी टीके के उत्पादन को बढ़ाने पर जोर दिया. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रमुख चिकित्सा सलाहकार फाउची ने एबीसी न्यूज को दिए इंटरव्यू में कहा, 'इस महामारी का पूरी तरह से खात्मा करने के लिए लोगों का टीकाकरण किया जाना चाहिए.'


'टीका निर्माण के लिए हिंदुस्तान को सहायता देनी चाहिए'
फाउची ने बोला कि हिंदुस्तान दुनिया का सबसे बड़ा टीका निर्माता देश है. उन्हें अपने संसाधन मिल रहे हैं, न केवल भीतर से, बल्कि बाहर से भी. उन्होंने कहा, 'यही कारण है कि अन्य राष्ट्रों को या तो हिंदुस्तान को उनके यहां टीका निर्माण के लिए सहायता देनी चाहिए अथवा टीके दान देने चाहिए.' डाक्टर फाउची ने एक प्रश्न के उत्तर में बोला कि हिंदुस्तान को तत्काल अस्थायी हॉस्पिटल बनाने की आवश्यकता है, जिस तरह करीब एक वर्ष पहले चाइना ने किया था.

उन्होंने कहा, 'आपको ऐसा करना ही होगा. आप हॉस्पिटल में बिस्‍तर नहीं होने पर लोगों को गलियों में नहीं छोड़ सकते. ऑक्सीजन के दशा बहुत गम्भीर हैं. मेरा मतलब है कि लोगों को ऑक्सीजन नहीं मिल पाना वास्तव में दुखद है.' फाउची ने बोला कि तात्कालिक तौर पर हॉस्पिटल के बिस्तरों, ऑक्सीजन, पीपीई किट और अन्य चिकित्सा आपूर्ति की समस्या है. उन्होंने वायरस के प्रसार की रोकथाम के लिए देशव्यापी लॉकडाउन की आवश्यकता पर भी जोर दिया.


भारत में Covid-19 की दूसरी लहर में हो रही मौतों से विश्व स्वास्थ्य संगठन चिंतित, कहा...       कोरोना वैक्सीन की पहली डोज के बाद हो जाए कोविड-19 तो डरे नहीं       बीते 24 घंटे में 3.29 लाख नए केस आए, 3876 मरीजों ने गंवाई जान       योगी सरकार के कोविड प्रबंधन का कायल हुआ डब्‍ल्‍यूएचओ       देश में अब तक 17.27 करोड़ से अधिक लोगों को लगी वैक्सीन       अफगानिस्तान में भारतीय राजनयिक विनेश कालरा का मृत्यु       जेपी नड्डा ने सोनिया गांधी को लिखी पांच पन्नों की चिट्ठी, कहा...       कोविड-19 मुद्दे में केन्द्र सरकार ने उच्चतम न्यायालय को दी अति उत्साह में निर्णय ना लेने की सलाह, कहा...       Ghazipur में गंगा नदी में दर्जनों लाशें दिखने से मचा हड़कंप       राहुल का प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी पर जोरदार हमला, कहा...       नगालैंड और तेलंगाना सरकार ने लिया संपूर्ण लॉकडाउन का फैसला!       सना मकबूल ने मनोकिनी में शेयर की कातिलाना फोटोज, तस्वीरों ने लूटा फैंस का दिल       शेफाली जरीवाला ने ट्रांसपेरेंट टॉप में दिखाईं ग्लैमरस अदाएं, देखें फोटोज       ये है दुनिया का सबसे अनोखा रेस्टोरेंट, हवा में ले सकते हैं खाना खाने का आनंद       अपने चेहरे को चमकदार और खूबसूरत बनाये रखने के लिए अपनाएं ये देसी तरीके       लम्बे समय तक ब्यूटीफुल और यंग दिखने के लिए फॉलो करें ये टिप्स       आखिर महिलाएं रोमांस के लिए क्यों करती है सर्दियों का इंतजार       अलाना पांडे के बोल्ड बिकिनी अवतार ने गर्माया इंस्टा का माहौल       अगर पैसे कमाने के बावजूद घर में नहीं टिकता है पैसा, तो...       घर में गलत दिशा में लगी घडी भी आपको कर सकती है बर्बाद