कांगो में संघर्ष विराम का उल्लंघन करने पर विद्रोहियों ने की 50 नागरिकों की हत्या

कांगो में संघर्ष विराम का उल्लंघन करने पर विद्रोहियों ने की 50 नागरिकों की हत्या

बेनी (कांगो), 2 दिसंबर (एपी)

कांगो में एम23 उपद्रवियों पर संघर्ष विराम का उल्लंघन करने का आरोप लगाते हुये सेना ने बृहस्पतिवार को बोला कि इस हफ्ते की आरंभ में उन्होंने कम से कम 50 नागरिकों की मर्डर कर दी है. हालांकि विद्रोही संगठन ने इससे इनकार किया है. इसके साथ ही सेना ने बोला कि यह हमलों से आम लोगों की सुरक्षा करेगी. अंगोला में हाल ही में हुई बैठक में क्षेत्रीय नेताओं ने संघर्ष विराम को लेकर अल्टीमेटम जारी करते हुये बोला था कि हाल के महीनों में एम23 ने जिन शहरों पर अतिक्रमण कर लिया है, वहां से भी उसे हटना होगा, नहीं तो पूर्वी अफ्रीकी क्षेत्रीय बल इसमें हस्तक्षेप करेंगे. क्षेत्रीय नेताओं के इस बयान के एक हफ्ते के भीतर ही सेना का यह ताजा बयान आया है. संयुक्त देश शांति मिशन (मोनुस्को) ने बोला है कि यह हिंसा मंगलवार को किशिशे गांव में हुयी और बड़ी संख्या में आम लोग हताहत हुये हैं. यह क्षेत्र क्षेत्रीय राजधानी गोमा से करीब 70 किलोमीटर दूर है. एक क्षेत्रीय नागरिक संस्था समूह ने बृहस्पतिवार को बताया कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि ब्विटो के निकट खेतों से और अधिक संख्या में मृत शरीर बरामद किये गये हैं. समूह ने बोला कि हमले के बाद से अन्य नागरिक लापता हैं. वहीं न्यूयॉर्क में संयुक्त देश महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने बताया कि मोनुस्को को क्षेत्र में एम23 और माई-माई उग्रवादियों के बीच संघर्ष की खबरें मिली हैं. इस बीच कांगो की सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल सिल्वेन एकेंजी बोमुसा इफोमी ने बयान जारी कर किशिशे गांव में हुयी मृत्यु के लिये रवांडा के सुरक्षा बलों और एम23 को उत्तरदायी बताया है. कांगो लंबे समय से रवांडा पर उपद्रवियों का समर्थन करने का आरोप लगाता आ रहा है जिससे उसने हमेशा इंकार किया है. एम23 के सियासी प्रवक्ता लॉरेंस कन्यूका ने किशिशे गांव में हुयी हिंसा में उनके संगठन के शामिल रहने के आरोपों का खंडन करते हुये इसे बेबुनियाद करार दिया है.