कपिल मिश्रा ने कहा कि ओवैसी मुझे गाली दे रहा है, क्योंकि मैंने आतंक के विरूद्ध बोलने का साहस किया       बिहार विधानसभा में CAA-NRC पर हंगामा, मुख्यमंत्री नितीश बोले...       सीएस प्रोफेशनल व एग्जीक्यूटिव के परिणाम घोषित, यहां देखें रिजल्ट       495 पदों के लिए निकली भर्ती, सैलेरी 1.77 लाख रुपए       कर्मचारी चयन आयोग के 1355 पदों पर भर्ती, जल्द से जल्द करें आवेदन       ऐसे करें इम्तिहान की तैयारी, गारंटेड होगा सिलेक्शन       उपनिरीक्षक, हेड कांस्टेबल पदों के लिए निकली भर्ती, फटाफट करें अप्लाई       इस दिन जारी होंगे राजस्थान बोर्ड 10वीं के एडमिट कार्ड       लाइब्रेरियन समेत कई भर्ती इम्तिहान की तिथि जारी       8वीं पास के लिए निकली बम्पर सरकारी नौकरी, जल्द करें आवेदन       आज ssc.nic.in पर जारी होगा एसएससी सीएचएसएल रिजल्ट       11 बड़ी भर्तियों में फंसे हुए हैं 1.60 लाख पद, देखें पूरी लिस्ट       इसरो यंग साइंटिस्ट प्रोगाम युविका 2020: आवेदन की अंतिम तिथि जानें       साइबर अपराध कंसल्टेंट के पदों पर भर्तियां, करें आवेदन       उन्नीस हजार से अधिक पद रिक्त, यहां जानेें पूरा विवरण       Indian Navy MR Result 2020 आधिकारिक वेबसाइट पर जारी       Sarkari Naukri 2020 Updates: UPSC और SSC ने हजारों पदों पर निकाली भर्ती       पीयू प्रारम्भ करेगा चार वर्षीय होटल मैनेजमेंट एवं टूरिज्म कोर्स       RBSE 8वीं बोर्ड इम्तिहान 14 मार्च से इस तरह से करें आवेदन       हिन्दुस्तान कॉपर लिमिटेड में 120 पदों पर भर्तियां, इस दिन करें आवेदन      

अरविंद केजरीवाल दिल्ली चुनाव में धमाकेदार जीत के बाद करेंगे ये...

अरविंद केजरीवाल दिल्ली चुनाव में धमाकेदार जीत के बाद  करेंगे ये...

दिल्ली विधानसभा चुनाव के परिणाम घोषित हो चुके हैं। इस चुनाव में आम आदमी पार्टी ने जोरदार जीत हासिल की है। वही आप को 70 सीटों में से 62 सीटों पर जीत मिली है। व भाजपा के खाते में 8 सीटें आई थी। इस चुनाव में आप को 5 सीटों का नुकसान हुआ है। इस को लेकर ही आप पार्टी ने आठ सीटों पर पराजय की समीक्षा की है।

जानकारी के अनुसार, इस मीटिंग में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेता व प्रत्याशी भी सम्मिलित हुए। इस मीटिंग में हारी हुई एक-एक सीट की समीक्षा की गई। इसके अलावा पराजय के कारणों पर विस्तार से बात हुई। इसी के साथ ही प्रत्याशियों से भी पराजय की कारणों को भी विस्तार से चर्चा की गई। इस मीटिंग में अरविंद केजरीवाल ने सभी नेताओं को आदेश दिए कि जिन सीटों पर पार्टी की पराजय हुई है, वहां पर जनता से लगातार सम्पर्क बनाया जाए। इसी के साथ केजरीवाल ने बताया कि जनता की समस्याओं व उनके कार्य का तुरंत निवारण हो। आप संयोजक ने बताया कि जनता से व करीबी संबंध स्थापित किया जाए ताकि पार्टी पर भरोसा कायम हो सके। केजरीवाल के इस प्रस्ताव पर सभी नेताओं ने एक स्वर में सहमति जताई हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मीटिंग में सभी नेताओं ने इस बात पर आश्चर्य जताया हैं कि इतना कार्य करने के पश्चात् भी आम आदमी पार्टी की आठ सीटों पर पराजय क्यों हुई? जिन सीटों पर बहुत कम अंतर से पराजय हुई, उन पर विशेष बात हुई। इनमें लक्ष्मी नगर की सीट सबसे जरूरी है। चुनाव नतीजों में यहां आप के नितिन त्यागी भाजपा के अभय वर्मा से महज आठ सौ वोट के अंतर से पराजय गए थे। वही पार्टी के सभी नेताओं को अरविंद केजरीवाल ने आदेश दिया कि जनता के बीच सरकार के कार्य पर लगातार चर्चा हो। जिससे सरकार की योजनाओं से जिन लोगों को लाभ हो रहा, उनसे लगातार सम्पर्क बनाए रखने को बोला गया हैं। आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में लगातार तीसर बार जीत पर अपना नाम कायम किया हैं। अरविंद केजरीवाल आने वाली 16 फरवरी को तीसरी बार सीएम पद के लिए शपथ लेंगे।


बिहार विधानसभा में CAA-NRC पर हंगामा, मुख्यमंत्री नितीश बोले...

बिहार विधानसभा में CAA-NRC पर हंगामा, मुख्यमंत्री नितीश बोले...

पटना: बिहार विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA), राष्ट्रीय जनसंख्या पंजी (NPR) व राष्ट्रीय नागरिक पंजी (NRC) को लेकर बहुत ज्यादा हंगामा हुआ. इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बोला कि NPR 2010 के प्रारूपों के मुताबिक ही होना चाहिए, इसके लिए प्रदेश सरकार ने केन्द्र को एक लेटर भी लिखा है.

नीतीश कुमार ने विधानसभा में बोला कि ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को अपने जन्मदिन का पता नहीं है. इन सबको देखते हुए केन्द्र को लेटर लिखा गया है. प्रदेश सरकार द्वारा 15 फरवरी 2020 को भेजे गए लेटर में साफ़ बोला गया है कि NPR पुराने फॉर्मेट में ही कराया जाना चाहिए. मुख्यमंत्री नितीश ने विपक्षी दलों को संशय में नहीं रहने का आग्रह करते हुए बोला कि लेटर में लिंग के कॉलम में ट्रांसजेंडर को जोड़ने का भी आग्रह किया गया है.

नितीश कुमार ने बोला कि NRC को लेकर कोई चर्चा ही नहीं हुई है. इसके बारे में विस्तार से चर्चा किए बगैर केवल पीएम नरेंद्र मोदी के बयान का उल्लेख किया जा सकता है, जिसमें पीएम स्पष्ट कर चुके हैं कि NRC पर अभी तक कोई विचार नहीं किया गया है. नीतीश ने सदन में बोला कि बिहार में NRC, NPR को लेकर बेवजह का माहौल बनाया जा रहा है.

Loading...