कैंसर व ट्यूमर में रोबोटिक सर्जरी रहती है मददगार

कैंसर व ट्यूमर में रोबोटिक सर्जरी रहती है मददगार

रोबोटिक सर्जरी एक तरह की अत्याधुनिक लेप्रोस्कोपिक सर्जरी है जिसमें जटिलताओं की संभावना की दर बेहद कम या न के बराबर रह जाती है. यह पूरी तरह से कम्प्यूटर असिस्टेड सर्जरी है. इसमें एक मशीन ऑपरेशन करती है, जिसे विशेषज्ञ नियंत्रित करते हैं.रोबोटिक सर्जरी के दौरान रोगी के शरीर से अधिक रक्तस्त्राव नहीं होता व जटिलाएं कम हो जाती हैं.Image result for कैंसर व ट्यूमर में रोबोटिक सर्जरी रहती है मददगार

सर्जरी की आरंभ कब हुई ( Robotic Surgery First Used )
रोबोटिक सर्जरी का प्रायोगिक उपयोग 90 के दशक में प्रारम्भ हो गया था तथा इसकी उपयोगिता को देखते हुए साल 2000 में इसे अनुमोदित किया गया.

कैसे की जाती है ( Robotic Surgery Procedures )
रोबोट जैसी एक मशीन, जिसके दो नहीं बल्कि चार हाथ होते हैं. इनमें से एक हाथ में कैमरा व बाकी में आवश्यकता के अनुसार भिन्न-भिन्न उपकरण लगे होते हैं. इन्हें पास ही रखे एक कंसोल से विशेषज्ञ नियंत्रित व संचालित करता है. वहीं सहायक सर्जन मरीज के पास खड़ा होकर मदद करता है.

रोबोटिक सर्जरी सुरक्षा की दृष्टि से कितनी सुरक्षित है? ( Is Robotic Surgery Safe )
इसमें कुशल सर्जन व अत्याधुनिक तकनीक दोनों का उपयोग होता है. साथ ही रोबोटिक सिस्टम में बहुत अच्छे नियंत्रण तंत्र व इन बिल्ड विशेषता होते हैं. जिससे कई बार सर्जरी के दौरान सर्जन के गलत संचलन खुद-ब-खुद रुक जाते हैं.


रोबोटिक सर्जरी के मुख्य फायदे क्या हैं? ( Robotic Surgery Benefits )
इसमें उपकरण को 360 डिग्री व सातों दिशाओं में सरलता से घुमा सकते हैं. साथ ही रोगग्रस्त अंग या जिस भाग की सर्जरी की जा रही है उसे कितना भी जूम करके देख सकते हैं. इससे जटिलताओं की संभावना घट जाती है. शरीर के अंदरुनी हिस्से में दक्ष ढंग से टांके लगाना संभव है. सर्जन को थकान वमरीज के शरीर से अधिक ब्लीडिंग का खतरा भी कम होती है.

यूरोलॉजी में किस सर्जरी में यह उपयोगी है? ( Robotic Technology In Urology )
किडनी में ट्यूमर की स्थिति में पार्शियल नेफे्रक्टॉमी, प्रोस्टेट कैंसर के लिए रेडिकल प्रोस्टेक्टॉमी, पेशाब की थैली के कैंसर के लिए रेडिकल सिस्टेक्टॉमी व अनेक रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी के लिए रोबोटिक सर्जरी उपयोगी है. यह सर्जरी थोड़ी महंगी है.