स्टोक्स और हर्षा भोगले के बीच ट्विटर वार , ऑलराउंडर ने कहा...

स्टोक्स और हर्षा भोगले के बीच ट्विटर वार , ऑलराउंडर ने कहा...

दीप्ति शर्मा मांकडिंग टकराव थमता नजर नहीं आ रहा है. इसको लेकर खेल जगत दो धड़ों में बंट गया है. लगातर एक के बाद एक बयानों की बौछार ने इस मुद्दे को और गरमा दिया है. शुक्रवार को हर्षा भोगले ने इस मुद्दे पर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया और दीप्ति शर्मा का समर्थन किया. इतना ही नहीं हर्षा ने इंग्लैंड के कल्चर पर भी प्रश्न उठा दिया और इंग्लिश मीडिया को जमकर खरी-खोटी सुनाई. ऐसे में इंग्लैंड क्रिकेट टीम के टेस्ट कैप्टेन बेन स्टोक्स ने हर्षा के बयान पर पलटवार किया.

हर्षा के पोस्ट के उत्तर में स्टोक्स ने लिखा, ‘हर्षा, मांकड़ पर लोगों के ओपिनियन के बीच आप कल्चर को क्यों ला रहे हैं?’

सके बाद स्टोक्स लिखते हैं, ‘2019 वर्ल्ड कप फाइनल को हुए 2 वर्ष गुजर चुके हैं. आज भी मुझे कई भारतीय फैंस के मैसेज आते हैं जो मुझे क्या कुछ नहीं कहते. क्या इस बात से आपको कोई कठिनाई नहीं है? क्या ये कल्चर से जुड़ी बात है? एकदम नहीं. ओवर-थ्रो वाले मुद्दे पर लोग पूरे विश्व से मुझे मैसेज करते हैं. ठीक उसी तरह केवल इंग्लैंड से नहीं बल्कि पूरे विश्व से लोगों ने मांकड़ पर अपनी बात रखी है. उसके बारे में आप क्या बोलना चाहेंगे? क्रिकेट खेलने वाला इंग्लैंड ऐसा एक राष्ट्र नहीं है जिसने इस मामले पर अपनी बात रखी हो.

हर्षा ने दीप्ति के समर्थन में क्या बोला था?
भारतीय कमेंटेटर हर्षा भोगले ने सोशल मीडिया पर दीप्ति शर्मा मांकडिंग टकराव को लेकर अपनी बात रखी थी. उनका बोलना है कि इंग्लैंड की मीडिया ने दीप्ति को टारगेट किया है. हर्षा ने सोशल मीडिया पर एक लंबी-चौड़ी पोस्ट के जरिए इंग्लिश मीडिया के प्रति अपना गुस्सा जाहिर किया है.

हर्षा ने पोस्ट में लिखा, ‘मुझे ये देख कर कठिनाई होती है कि इंग्लिश मीडिया का एक बड़ा हिस्सा एक ऐसी लड़की पर प्रश्न खड़े कर रहा है जिसने नियमों के मुताबिक गेम खेला और जो गलत ढंग से रन लेने की प्रयास कर रही थी उसे कुछ नहीं बोला गया.

इस पोस्ट में न केवल उन्होंने इंग्लैंड को करार उत्तर दिया बल्कि ऑस्ट्रेलिया को भी आड़े हाथों लिया. उनका बोलना है कि इंग्लैंड को लगता है जो वो मानते हैं वही ठीक है और ये उनके कल्चर में शामिल है. ऐसी कई बातें हर्षा ने अपने पोस्ट में लिखी और दीप्ति के रनआउट का समर्थन किया.

क्या है पूरा मामला?
भारतीय स्त्री क्रिकेट टीम ने तीसरे वनडे मैच में इंग्लैंड को 16 रन से हराकर सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप कर लिया. हालांकि हिंदुस्तान की जीत से अधिक चर्चा स्पिनर दीप्ति शर्मा द्वारा इंग्लैंड की खिलाड़ी चार्ली डीन को रन आउट किए जाने की रही. डीन गेंद फेंके जाने से पहले ही क्रीज से बाहर निकल गई थी. दीप्ति ने उन्हें रन आउट कर दिया. इसके बाद क्रिकेट जगत इस डिबेट में दो खेमों में बंटा नजर आया.

मांकडिंग खत्म, अब रन आउट बोला जाएगा
एक अक्टूबर 2022 से इंटरनेशनल क्रिकेट में मांकडिंग आउट नहीं होगा. अब यह रन आउट माना जाएगा. ICC ने इसे अमान्य कर दिया है. दुनिया में क्रिकेट संचालित करने वाली संस्था की चीफ एग्जीक्यूटिव कमेटी ने हाल ही में मांकडिंग को रन आउट की श्रेणी में डाल दिया है.