उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने जनपद उन्नाव मे 371 करोड़ की 119 परियोजनाओं का किया लोकार्पण /शिलान्यास

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने जनपद उन्नाव  मे 371 करोड़ की 119 परियोजनाओं का किया लोकार्पण /शिलान्यास

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने आज जनपद उन्नाव में  निराला प्रेक्षागृह में आयोजित कार्यक्रम में जनपद की 371 करोड़ लागत की 119 परियोजनाओं का लोकार्पण/ शिलान्यास किया ,जिसमें 7करोड़ 90 लाख की परियोजनाओं का लोकार्पण व 263 करोड़ की परियोजनाओं के शिलान्यास सम्मिलित हैं।
 उन्होंने जनपद में सभी विधानसभा  विधानसभा क्षेत्रों के लिए 467 करोड़ के नए कार्यों की घोषणा की। उन्होंने कहा जनपद में व  प्रदेश में चहुंमुखी व बहुमुखी विकास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिन परियोजनाओं की घोषणा की गई है, उनके निर्माण कार्य भी शीघ्र से शीघ्र प्रारंभ होंगे। उन्होंने निर्देश दिए कि जिन परियोजनाओं के शिलान्यास व लोकार्पण आज किए गए हैं, सम्बन्धित अधिकारी तत्काल संबंधित स्थल पर जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में लगवायें।
उपमुख्यमंत्री ने अपने सारगर्भित संबोधन में कहा कि कोरोना संक्रमण के संकट काल के बावजूद भी प्रदेश के समस्त जिलों में समान रूप से बिना किसी भेदभाव के विकास किया जा रहा है तथा सबका साथ- सबका विकास -सबका विश्वास और सबका प्रयास के मूल मंत्र के साथ विकास योजनाओं को अमलीजामा पहनाया जा रहा है ।केंद्र सरकार व उत्तर प्रदेश का सरकार की विभिन्न ग्रामीणोन्मुखी विकासोन्मुखी  योजनाओं की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि अब सीधे लाभार्थियों के खाते में पैसा भेजा जा रहा है और बिचौलिए कहीं भी सक्रिय नहीं है । कहा यह भ्रष्टाचार पर एक बहुत बड़ी चोट है।
 उन्होंने कहा कि प्रदेश में कानून व्यवस्था बहुत बेहतर है और भ्रष्टाचार पर पूरी तरह से अंकुश  लगाया गया है।गरीबों, किसानों ,मजदूरों और सर्व समाज के लोगों को उनके हकों को पूरी तरह से मुहैया कराया जा रहा है। उन्होंने कहा देश की सीमाओं पर भी सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध है । मा0प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में कश्मीर में धारा 370 हटाकर  साबित कर दिया है कि देश मे एक विधान- एक निशान  रहेगा।

इस अवसर पर सांसद श्री सच्चिदानंद हरि साक्षी महाराज, विधायक श्री पंकज गुप्ता विधायक श्री अनिल सिंह ,विधायक श्री 
बम्बालाल दिवाकर, विधायक श्री श्रीकांत कटियार, विधायक श्री बृजेश रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शकुन सिंह ,अवधेश कटियार ,आनंद अवस्थी, नीरज गुप्ता राजकिशोर रावत, राधेश्याम रावत ,गंगा प्रसाद वर्मा, गिरजा शंकर गुप्ता सहित अन्य जनप्रतिनिधि , प्रशासनिक अधिकारी मौजूद तथा भारी संख्या में गणमान्य  लोग मौजूद  रहे।


गढ़मुक्तेश्वर मेला को योगी सरकार की अनुमति, कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश

गढ़मुक्तेश्वर मेला को योगी सरकार की अनुमति, कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश

उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस पर लगभग अंकुश लगा चुके सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कोरोना कर्फ्यू पूरी तरह से हटाने के बाद अब एक कदम और आगे बढ़ा दिया है। खुले मैदान में अब किसी तरह के आयोजन की कोई पाबंदी नहीं है। कार्तिक मास में दीपावली के बाद गढ़मुक्तेश्वर में करीब 15 दिन तक मेला लगता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लगने वाले एक बड़े मेले के आयोजन को अनुमति प्रदान कर दी है। उन्होंने हापुड़ में लगने वाले गढ़मुक्तेश्वर मेले के आयोजन को अनुमति दी है। इसके साथ ही निर्देश भी दिया है कि वहां पर सभी स्थान पर कोविड प्रोटोकॉल के साथ भव्य रूप से मेले का आयोजन हो।


अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि कार्तिक मास में बीते दो वर्ष से प्रदेश के हापुड़ जनपद के गढ़मुक्तेश्वर के खादर में लगने वाला कार्तिक मेला स्थगित था। इस बार मुख्यमंत्री योगी ने ऐतिहासिक मेले के आयोजन के लिए निर्णय लिया है। मेले के आयोजन को लेकर अब शासनादेश जारी हो गया है। ऐसे में इस बाद दिवगंत परिजनों के दीपदान के लिए लोग खादर में पहुंच सकते हैं।

अपर मुख्य सचिव ने बताया कि कोरोना संक्रमण से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को निरन्तर सुदृढ़ बनाए रखे जाने व कोविड नियमों के तहत सभी पर्व एवं त्योहारों को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के निर्देश दिए हैं।


हापुड़ जिले के गढ़मुक्तेश्वर में कार्तिक पूर्णिमा पर लगने वाले मेले में कई राज्यों से लाखों श्रद्धालु पहुंचते हैं। यहां लोग अपने पुरखों की आत्मा की शांति के लिए दीपदान करते हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टीम-09 के साथ बुधवार को समीक्षा बैठक के बाद प्रदेश के सभी जिलों में कन्टेंमेंट जोन के बाहर रात का कर्फ्यू समाप्त करने का आदेश दिया था। कोविड प्रोटोकाल के अनुपालन की शर्त के अनुसार रात्रिकालीन कोरोना कर्फ्यू रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक लागू करने के आदेश थे।