मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने अपनी कारों की कीमतें बढ़ाने का किया ऐलान

मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड ने अपनी कारों की कीमतें बढ़ाने का किया ऐलान

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इण्डिया लिमिटेड ने अपनी कारों की कीमतें बढ़ाने का घोषणा किया है. जनवरी 2023 से कंपनी अपने सभी मॉडलों की कीमतों को बढ़ाने का प्लान बना रही है. इस बात की जानकारी मारुति सुजुकी ने शुक्रवार को एक्सचेंज फाइलिंग में दी है. हालांकि, मारुति ने यह नहीं बताया है कि कारों की कीमतों को कितना बढ़ाया जाएगा.

कार कंपनी ने बोला कि वह इन्फ्लेशन और रेगुलेटरी रिक्वायरमेंट्स के कारण कॉस्ट प्रेशर के चलते सभी मॉडलों की कीमतें बढ़ाने का प्लान बना रही है. मारुति ने कहा, ‘कंपनी लागत कम करने और प्राइस इंक्रीज को पार्शियली ऑफसेट करने के लिए अधिकतम कोशिश करती है. हालांकि, अब प्राइस इंक्रीज के जरिए कुछ असर डालना जरूरी हो गया है. कंपनी ने जनवरी 2023 में प्राइस इंक्रीज करने का प्लान बनाया है, जो सभी मॉडलों में भिन्न-भिन्न होगी.

कंपनी ने नवंबर महीने में करीब 1.60 लाख गाड़ियां बेची
एक दिन पहले मारुति सुजुकी ने नवंबर 2022 के अपने ऑटो सेल्स के आंकड़े जारी किए थे. कंपनी ने नवंबर महीने में टोटल 1,59,044 यूनिट्स की सेल्स की है, जो पिछले वर्ष नवंबर के आंकड़ों 1,39,184 यूनिट्स से 14% अधिक है. नवंबर महीने की टोटल सेल्स में 1,35,055 यूनिट्स की डोमेस्टिक सेल्स, 4,251 यूनिट्स की OEM सेल्स और 19,738 यूनिट्स का एक्सपोर्ट्स भी शामिल है.

डोमेस्टिक सेल्स 18% बढ़कर 1,39,306 यूनिट्स हुई
बढ़ती सेल्स के बीच कंपनी के डोमेस्टिक मॉडलों समेत कई सेगमेंट में व्हीकल्स के प्रोडक्शन पर इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट्स की कमी का हल्की असर पड़ा. हालांकि, कंपनी ने इस असर को कम करने के लिए सभी संभव तरीका किए. नवंबर महीने में कंपनी की डोमेस्टिक सेल्स 18% बढ़कर 1,39,306 यूनिट्स हो गई है, जो पिछले वर्ष नवंबर 2021 में 1,17,791 यूनिट्स थी. वहीं मिनी कारों (ऑल्टो, S-प्रेसो) की सेल्स बढ़कर 18,251 यूनिट्स हो गई है, जो पिछले वर्ष 17,473 यूनिट्स रही थी.

कॉम्पैक्ट सेगमेंट में कंपनी ने 72,844 कारें बेची
कॉम्पैक्ट सेगमेंट (स्विफ्ट, सेलेरियो, इग्निस, बलेनो और डिजायर) की सेल्स नवंबर महीने में बढ़कर 72,844 यूनिट्स हो गई है, जो पिछले वर्ष नवंबर 2021 में 57,019 यूनिट्स थी. वहीं मिड-साइज सेडान सियाज की सेल्स 1,554 रही. मारुति ने यूटिलिटी व्हीकल सेगमेंट (विटारा ब्रेजा, S-क्रॉस, एर्टिगा) में इस वर्ष नवंबर में 32,563 गाड़ी बेचे हैं. पैसेंजर व्हीकल्स सेगमेंट (जिसमें कार और वैन शामिल हैं) में नवंबर महीने में 39,746 यूनिट्स की सेल्स हुई.

प्रोडक्शन कैपेसिटी को 1 लाख यूनिट तक बढ़ाने का प्लान
नवंबर महीने के एक्सपोर्ट्स की बात करें तो कंपनी ने 19,738 वाहनों की सेल्स की थी. लाइट कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट में मारुति ने नवंबर 2022 में 2,660 गाड़ी बेचे. इस बीच हाल ही में यह भी बताया गया था कि मारुति सुजुकी इण्डिया को आशा है कि इस वित्तीय साल के अंतिम तक कंपनी का सेल्स नेटवर्क 3,700 के मार्क को छू लेगा. कंपनी के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, बढ़ी हुई मांग को पूरा करने के लिए मानेसर स्थित प्लांट में प्रोडक्शन कैपेसिटी को 1 लाख यूनिट तक बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है.

मारुति ने 3,500 कार सेल्स आउटलेट का आंकड़ा पार किया
मारुति ने 3,500 कार सेल्स आउटलेट का आंकड़ा पार कर लिया है, जो एक दशक पहले के 1,300 डीलरशिप से दोगुना से भी अधिक है. कंपनी ने शुक्रवार को हैदराबाद में अपने 3,500वें आउटलेट, नेक्सा सेल्स यूनिट का उद्घाटन किया. मारुति सुजुकी इण्डिया की वर्तमान में हिंदुस्तान में लगभग 2,250 शहरों और कस्बों में उपस्थिति है. कंपनी ने 2021-22 में 237 सेल्स आउटलेट और इस वित्तीय साल में अप्रैल-अक्टूबर के बीच 170 आउटलेट्स जोड़े हैं.

मार्च में 3,700 आउटलेट्स को छूने की संभावना
मारुति सुजुकी इण्डिया (MSI) के मार्केटिंग एंड सेल्स के सीनियर एक्जीक्यूटिव ऑफिसर शशांक श्रीवास्तव ने बताया, ‘मार्च के अंतिम तक हमारे 3,700 आउटलेट्स को छूने की आसार है.’ वर्तमान में कंपनी के मानेसर और गुरुग्राम दोनों प्लांट में हर वर्ष 15 लाख से अधिक यूनिट्स की क्युमुलेटिव प्रोडक्शन कैपेसिटी है. वहीं इसके अतिरिक्त गुजरात प्लांट से कंपनी की 7.5 लाख यूनिट तक की प्रोडक्शन कैपेसिटी है.