लू लगने की पहचान कैसे करें अपनाएं ये टिप्स

लू लगने की पहचान कैसे करें अपनाएं ये टिप्स

Heat wave Symptoms: गर्मी में लू लगने का खतरा काफी अधिक होता है जिसके कारण रोगी की मृत्यु तक हो सकती है लेकिन क्या आप जानते हैं कि लू लगने के लक्षणों से बचने के लिए किन हेल्थ टिप्स को अपनाना चाहिए इस बारे में जानने के लिए हमने एक्सपर्ट से बात की और उन्होंने लू से बचने के प्रभावशाली टिप्स के बारे में बताया

Heat Stroke: लू लगने पर क्या होता है?
जेपी हॉस्पिटल के डिपार्टमेंट ऑफ इंटरनल मेडिसिन के सीनियर कंसल्टेंट डाक्टर प्रवीण नरुला ने बताया कि हीटस्ट्रोक का मतलब शारीरिक तापमान का अत्यधिक बढ़ना होता है जो कि आमतौर पर धूप में अधिक देर रहने या शारीरिक मेहनत करने से होता है जिसकी वजह से शरीर अंदरुनी गर्मी को कंट्रोल करने में असक्षम हो जाता है हीट स्ट्रोक को ही लू लगना कहते हैं, जो कि हीट इंजरी का सबसे गंभीर रूप है इस कंडीशन में शारीरिक तापमान 40.60 डिग्री सेल्सियस या उससे अधिक हो जाता है एक्सपर्ट आगे बताते हैं कि हीट स्ट्रोक पर यदि तुरंत मेडिकल सहायता ना मिले, तो ऑर्गन फेलियर, गंभीर डिहाइड्रेशन, बेहोशी या फिर मृत्यु तक हो सकती है

Heat Stroke Symptoms: लू लगने की पहचान कैसे करें?
हीट स्ट्रोक या लू का खतरा सबसे अधिक बच्चों, 65 साल से बड़े लोग, अधिक देर तक शारीरिक मेहनत करने वाले, दिल या फेफड़ों की रोग के रोगी और बीपी की या एंटीडिप्रेसेंट दवाएं लेने वाले लोगों को होता है लू लगने के कारण आपको निम्नलिखित लक्षण देखने को मिल सकते हैं जैसे-

  • मसल्स क्रैम्प
  • ड्राई स्किन
  • अत्यधिक थकावट
  • कंफ्यूजन
  • सिरदर्द
  • उल्टी
  • तेज धड़कन
  • गहरे रंग का पेशाब
  • त्वचा का पीला होना, आदि

Tips to prevent heat stroke: लू से स्वयं को कैसे बचाएं?

  1. ढीले, हल्के और हल्के रंग के कपड़े पहनें
  2. डिहाइड्रेशन से बचने के लिए थोड़ी-थोड़ी देर में लिक्विड लेते रहें
  3. शराब पीने से डिहाइड्रेशन हो सकती है, इसलिए दूर रहें
  4. खीरा, खरबूजा, अनार और केला जैसे लू से बचाने वाले फूड खाएं
  5. गर्मी में अधिक मेहनत वाले काम ना करें
  6. पानी वाली एक्सरसाइज करें, जैसे स्विमिंग
  7. अगर आप बाहर हैं, तो छांव में रहने की प्रयास करें और बार-बार पानी पीते रहें
  8. पंखे में रहना बेहतर है, लेकिन बेहद गर्मी में एसी की सहायता से तापमान और उमस से बचा जा सकता है
  9. टोपी, सनग्लास, सनस्क्रीन और पूरे शरीर को ढकने वाले हल्के कपड़ों से सनबर्न से बचाव करें
  10. बंद कार में किसी शिशु को 5-10 मिनट से अधिक ना रहने दें
  11. गर्मी से एसी और एसी से गर्मी में जाते हुए थोड़ी देर सामान्य तापमान में रहें
  12. अगर आपको हीट स्ट्रोक के लक्षण दिखते हैं, तो तुरंत चिकित्सक की सहायता लें

भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस

भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस
कोविड-19 बना जानलेवा, संक्रमण से 5 रोगियों की मौत" : राष्ट्र की राजधानी में एक बार फिर कोविड-19 वायरस जानलेना बन गया है दिल्ली में एक दिन में कोविड के 648 न‌ए मुद्दे सामने आए, जबकि संक्रमण से 5 रोगियों की मृत्यु हो गई है पॉजिटिविटी दर में भी उछाल आया है कोविड-19 संक्रमण रेट 4.29 फीसदी हु‌ई पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोविड-19 के कुल 15103 टेस्ट किए गए और 785 रोगी ठीक हुए

 देश की राजधानी में एक बार फिर कोविड-19 वायरस जानलेना बन गया है दिल्ली में एक दिन में कोविड के 648 न‌ए मुद्दे सामने आए, जबकि संक्रमण से 5 रोगियों की मृत्यु हो गई है पॉजिटिविटी दर में भी उछाल आया है कोविड-19 संक्रमण रेट 4.29 फीसदी हु‌ई पिछले 24 घंटों के दौरान दिल्ली में कोविड-19 के कुल 15103 टेस्ट किए गए और 785 रोगी ठीक हुए फिलहाल, दिल्ली में कोविड-19 के कुल 3268 सक्रिय रोगी हैं और कंटोनमेंट जोन की संख्या घटकर 370 हो गई है

भारत में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16 हजार से अधिक केस

भारत में पिछले 24 घंटों में 16,103 नए मुद्दे सामने आए हैं, जो एक दिन पहले के मुकाबले करीब एक हजार कम है एक्टिव मामलों की संख्या 1 लाख 11 हजार से अधिक हो गई है स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, हिंदुस्तान में पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 16,103 मुद्दे सामने आए हैं, वहीं 31 लोगों की मृत्यु भी हो गई है इस समय दैनिक पॉजिटिविटी रेट 4.27 प्रतिशत हो गई है जो कि पिछले दिनों के मुकाबले बढ़ी है 

कोरोना वैक्सीनेशन में हिंदुस्तान गवर्नमेंट लगातार आगे

भारत में अब तक 1 अरब 97 करोड़ से अधिक कोविड-19 की वैक्सीन लग चुकी हैं यही वजह है कि कोविड-19 के मामलों के लगातार सामने आने के बावजूद राष्ट्र की स्वास्थ्य प्रबंध पर अधिक असर नहीं पड़ा है कोविड-19 संक्रमित अधिकांश लोग घरों पर ही आईसोलेट होकर अपना उपचार करा रहे हैं