संक्रमितों की संख्या में हुई खौफनाक बढ़ोतरी, कोरोना से पाकिस्तान के हाल बेहाल       आइसोलेशन में गए किंग सलमान, सऊदी के शाही परिवार पर 'कोरोना' का हमला       संकट में मदद देने के लिए US के बाद इजरायल ने हिंदुस्तान को कहा- शुक्रिया       कोरोना से नहीं हारे जॉनसन: आईसीयू से बाहर आए, डोनाल्ड ट्रंप ने कहा...       अमेरिका ने चाइना को दी Telecom बैन करने की धमकी, कोरोना को लेकर गहराया विवाद       कोरोना: 10 लाख लोगों के लिए सिर्फ 5 बेड, सुविधाओं की कमी से जूझ रहे अफ्रीकी देश       लंदन उच्च न्यायालय ने टाली सुनवाई, दिवालिया घोषित नहीं होगा विजय माल्या       घर आंगन में फिर फुदकने लगी है नन्ही गौरेया       कोरोना: न्यूजीलैंड ने हिंदुस्तान के साथ प्रारम्भ किया था लॉकडाउन       तस्वीरें: लॉकडाउन से पर्यावरण में पड़ी जान, गंगा-यमुना का पानी हुआ साफ       Honor Play 4T व Play 4T Pro हुए लॉन्च, दोनों में मिलेगी 4,000mAh की बैटरी       महाराष्ट्र: उद्धव ठाकरे की कुर्सी पर मंडराया कोरोना का खतरा       वर्ल्ड हैपिनेस रिपोर्ट के बहाने उदित राज ने साधा निशाना, बोले...       पीएम मोदी ने कहा कि भारत कोरोना से निपटने में अपने मित्रों की हरसंभव मदद करने के लिए तैयार       संकट में मदद देने के लिए US के बाद इजरायल ने हिंदुस्तान को कहा...       जानें कैसे करती है कोरोना से बचाव, 350 रुपये में तैयार की पीपीई किट       जेईई मेन के आवेदनकर्ता को मिला सुनहरा मौका       जम्मू और कश्मीर पर टिप्पणी करने पर हिंदुस्तान ने चाइना को घेरा, कहा...       कोरोना के विरूद्ध दिल्ली सरकार की तैयारी, जानें क्या है 'ऑपरेशन शील्ड'       PM मोदी ने वाराणसी बीजेपी जिलाध्यक्ष को किया फोन, कहा...      

यदि चाहते है संभोग सेक्स का भरपूर मज़ा तो करें ये उपाय

यदि चाहते है संभोग सेक्स का भरपूर मज़ा तो करें ये उपाय

यह बात तो आज के समय में हर कोई जानना चाहता है कि संभोग आज के समय में हर किसी के लिए जरूरी है। वहीं आज संभोग के बारें में बड़ा हो या बच्चा हर कोई जानना चाहता है। क्यूंकि कई लोगों का ऐसा मानना है कि संभोग के बारें में आज जितना जाना जाएं उतना कम है। व अब भी कई लोगों को यह भी जानना है कि संभोग ज्यादा से ज्यादा साम्य टाक करने के लिए क्या करें व क्या नहीं। तो चालिये जानते है इसके बारें में

सेक्सुअल प्रॉब्लम्स: यदि आपको स्वप्नदोष (नाइट फॉल) की समस्या है, तो-

– मुलहठी को कूट-पीसकर बारीक़ चूर्ण बना लें। इसे 3 ग्राम की मात्रा में एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर चाटें।

– इलायची के दानों का चूर्ण और शक्कर सम मात्रा में लेकर आंवले के रस में खरल करके गोलियां बना लें। 1-1 गोली सुबह-शाम सेवन करें।

– 150 ग्राम त्रिफला (हरड़, आंवला और बहेड़ा) का बारीक़ चूर्ण लेकर उसमें 30 ग्राम कपूर और 150 ग्राम गुड़ मिलाकर
छोटी-छोटी गोलियां बनाकर रख लें। 1-1 गोली प्रातः काल और रात को सोने से पहले पानी के साथ लें।
– 10 ग्राम ताज़े आंवले का रस, 10 ग्राम गिलोय का रस और चुटकीभर शिलाजीत- सभी को मिलाकर मिश्री के चूर्ण के साथ सुबह-शाम सेवन करने से स्वप्नदोष की शिकायत दूर हो जाती है।
– 10-15 छुहारा घी में भूनकर प्रातः काल चबाकर खाएं और ऊपर से इलायची, शक्कर और कौंच बीज का चूर्ण मिलाकर उबला हुआ दूध पीएं।

शीघ्रपतन (प्री-इजैकुलेशन) की शिकायत होने पर-

– 4-5 छुहारों को दूध में उबालकर खाएं और दूध पीएं। ऐसा सुबह-शाम 2-3 महीने तक करें।

– आंवले का मुरब्बा बनाकर रख लें। 2-3 मुरब्बे हर रोज़ 40 दिनों तक खाएं। इससे सीमन (वीर्य) गाढ़ा होता है और शीघ्रपतन कीसमस्या भी दूर होती है।

– 2 गोली चंद्रप्रभावटी और 3 ग्राम शतावरी चूर्ण सुबह-शाम दूध के साथ लें।

– 10 ग्राम तुलसी के बीज, 20 ग्राम अकरकरा और 30 ग्राम मिश्री का चूर्ण बना लें और उसे बॉटल में भरकर रख दें। सुबह-शाम एक ग्राम चूर्ण दूध के साथ सेवन करें।

– तुलसी की जड़ को सुखाकर चूर्ण बना लें। 1 ग्राम तुलसी का चूर्ण और 1 ग्राम अश्‍वगंधा का चूर्ण मिलाकर खाएं और ऊपर से गौ माता का दूध पीएं।

– 30 ग्राम जैतून का ऑयल और 10 ग्राम दालचीनी ऑयल को मिलाकर रख लें। इस ऑयल की 1-2 बूंद प्राइवेट भाग पर लगाकर मालिश करें।


लॉकडाउन में औनलाइन सुनें संकटमोचन संगीत समारोह

लॉकडाउन में औनलाइन सुनें संकटमोचन संगीत समारोह

हनुमान जन्मोत्सव २०२० (Hanuman Janmotsav 2020): आज हनुमान जयंती है लेकिन कोरोना वाराणसी वायरस के वजह से लगे लॉकडाउन के चलते सारे धार्मिक प्रोग्राम व आयोजन रद्द कर दिए आगये हैं। हनुमान जयंती पर हर वर्ष वाराणसी का मशहूर संकटमोचन संगीत समारोह आयोजित होता है। लेकिन इस वर्ष लॉकडाउन के कारण आप घर बैठे ही औनलाइन माध्यम के जरिये संकटमोचन संगीत समारोह का आनंद ले सकेंगे। मशहूर संगीतकार वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये हनुमान जी के भजन पेश करेंगे।

कार्यक्रम में ये कलाकार देंगे औनलाइन प्रस्तुति:
पंडित जसराज अमेरिका से ही संगीत समारोह में शामिल होंगे, इसके अतिरिक्त गायन में प। राजन-साजन मिश्र, पं। अजय पोहनकर, पं। अजय चक्रवर्ती, उस्ताद राशिद खां, अरमान खां, सुश्री कौशिकी चक्रवर्ती, पं। उल्लास कसालकर , वादन में श्री यूं राजेश-शिवमणि, पं। विश्वजीत राय चौधरी, पं। निलाद्री कुमार, श्री शाकिर खां, उस्ताद मोईनुद्दीन खा-मोमिन खां, पं। भजन सोपोरी-अभय सोपोरी अपनी प्रस्तुति देंगे। नृत्य में पं। राममोहन महराज, पं। कृष्णमोहन महराज के अतिरिक्त तबला पर पं। कुमार बोस, पं। सुरेश तलवलकर, पं। अनिंदों चटर्जी-अनुब्रत चटर्जी, पं। समर साहा, पं। संजू सहाय व उस्ताद अकरम खां-जरगाम खां भी अपनी प्रस्तुति पेश करेंगे।

संकटमोचन मंदिर कॉन्फ्रेंसिंग के अन्य डिजिटल प्लेटफार्म पर प्रसारित करेगा, ताकि हनुमान जी के भक्त व संगीतप्रेमी लाखों लोगों तक यह पहुंच सके। इस बार का आयोजन 12 से 17 अप्रैल तक छह दिवसीय होगा।

सुबह 6 बजे से हनुमान जी का पूजन-अर्चन व बैठकी की झांकी होगी। प्रातः काल 7 बजे से रामायण का पूजन-अर्चन व मानस का एकाह पाठ, रामार्चा पूजन आदि धार्मिक अनुष्ठान पहले की होगी। 9 से 11 अप्रैल तक प्रतिदिन पारंपरिक रूप से रामायण सम्मेलन होगा। मंदिर में ही व्यास जी रामचरित मानस का कथा हनुमान जी को सुनाएंगे। लॉकडाउन चलते यह प्रक्रिया मंदिर के अंदर मंदिर के पुजारी ही करेंगे।

महंत जी ने लोगों से बोला है कि लॉकडाउन का पालन करें व घर पर ही हनुमान जयंती मनाएं व अपनी श्रद्धा और भक्ति घर से ही अर्पित करें। हनुमान जी से कामना करें कि दुनिया इस संकट से जल्द उबरे। उन्होंने बोला कि गोस्वामी तुलसीदास महाराज ने हनुमान जी का नाम संकटमोचन रखा व वह उन्हें सीता माता का वरदान भी प्राप्त है। बजरंगबली इस संकट को काटने में सक्षम हैं। बस उनको बार-बार इस बात की याद दिलानी होती है।