विराट-रोहित टकराव पर एक बार फिर कहे कोच रवि शास्‍त्री

विराट-रोहित टकराव पर एक बार फिर कहे कोच रवि शास्‍त्री

मुंबई : भारतीय क्रिकेट टीम के कैप्टन विराट कोहली व शॉर्टर फॉर्मेट के महान ओपनिंग बल्लेबाज रोहित शर्मा के बीच मतभेद की खबरों पर अब टीम इंडिया के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने एक बार फिर अपनी जबान खोली है. उन्होंने इस तरह की किसी भी मतभेद से मना करते हुए बोला कि नजरिये में अंतर को मतभेद के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए. शास्त्री पहले भी इस तरह की खबरों को बकवास बता चुके हैं.

कहा- चर्चाओं को बढ़ावा दिया जाना चाहिए

रवि शास्त्री ने खाड़ी देश के एक मीडिया से बात करते हुए बोला कि टीम में जब 15 खिलाड़ी होते हैं तो सब एक तरह से नहीं सोच सकते. कई बार चर्चाओं में ऐसा मौका आता है, जब नजरियों में विभिन्नता होती है व इसकी आवश्यकता है. वह नहीं चाहते कि सब एक ही बात बोलें. रवि शास्त्री ने बोला कि टीम के बीच चर्चाएं होते रहनी चाहिए, तभी नयी रणनीतियों के बारे में सोचा जा सकता है.इसे बढ़ावा दिया जाना चाहिए. इसके लिए खिलाड़ियों को अपनी बात रखने का मौका देना होगा.इसके बाद तय करना होगा कि क्या बेस्ट है.

जूनियर खिलाड़ी भी रख सकता है अपने विचार

शास्त्री ने बोला कि कभी-कभी ऐसा भी होने कि सम्भावना है कि टीम का सबसे जूनियर खिलाड़ी आपके सामने ऐसी स्ट्रेटजी रख दे, जिसके बारे में आपने सोचा भी नहीं होगा व इस पर हमें इस पर विचार करने की आवश्यकता होती है. इसलिए इसे मतभेद के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए.

विराट पहले भी कर चुके हैं खारिज

बता दें कि कैरेबियाई दौरे पर भारतीय टीम के रवाना होने से पहले भी विराट कोहली व रोहित शर्मा के बीच के मतभेद से कैप्टन कोहली समेत कोच शास्त्री ने मना किया था. उन्होंने फिर बोला कि अगर रोहित-कोहली में गंभीर मतभेद होते तो रोहित दुनिया कप में पांच शतक नहीं जड़ पाते. इसके अतिरिक्त विराट व रोहित एक साथ लंबी साझेदारियां भी नहीं कर पाते. उन्होंने बोला कि वह पिछले पांच वर्ष से ड्रेसिंग रूम का भाग हैं. उन्होंने देखा है कि लड़के कैसे खेल रहे हैं व वे कैसे टीम को मजबूत बना रहे हैं. उन्हें अपना कार्य पता है. इस तरह की समाचार बकवास है.