हास्य एक्टिंग के बेताज बादशाह है जॉनी लीवर

हास्य एक्टिंग के बेताज बादशाह है जॉनी लीवर

स्टेज शो पर बतौर मिमिक्री कलाकार अपने करियर की आरंभ करके हास्य एक्टर के रूप में सफलता की बुलंदियों तक पहुंचने वाले हिन्दी सिनेमा के सुप्रसिद्ध एक्टर जॉनी लीवर अपने जबरदस्त एक्टिंग से आज भी दर्शकों के दिलों पर राज कर रहे है .Image result for जॉनी लीवर

जॉनी लीवर मूल नाम जान राव प्रकाश राव जानुमाला का जन्म 14 अगस्त 1957 को आंधप्रदेश में हुआ था. उन्होंने अपनी प्रारंभिक एजुकेशन आंध्र के एक तेलगु स्कूल से पूरी की. घर की आर्थिक स्थिति बेकार रहने के कारण जॉनी लीवर को अपनी स्कूल की पढ़ाई बीच में ही छोड़ देनी पड़ी. इसके बाद वह अपने पिता के कार्य में हाथ बंटाने लगे. बचपन के दिनों से ही जॉनी लीवर का रूझान फिल्मों की ओर था व वह जॉनी वाकर । महमूद व किशोर कुमार की तरह हास्य एक्टर बनना चाहते थे. इसी दौरान उनकी मुलाकात मिमिक्री कलाकार राम कुमार से हुई. उन्होंने जॉनी लीवर की प्रतिभा को पहचानकर उन्हें बतौर मिमिक्री कलाकार कार्य करने की सलाह दी.

इस बीच जॉनी लीवर मुंबई आ गए व अपने पिता के साथ भारत लीवर कंपनी में कार्य करने लगे.कंपनी में जॉनी लीवर अक्सर नामचीन एक्टर की आवाज की नकल करके अपने साथियों का मनोरंजन करते थे. एक बार कंपनी के वार्षिक समारोह में जॉनी लीवर को अपने मिमिक्री प्रोग्राम पेश करने का मौका मिला । उनके प्रोग्राम को देख उनके साथी व मालिक बहुत ज्यादा प्रभावित हुये वउनका नाम जॉनी लीवर रख दिया.

इसके बाद जॉनी लीवर स्टेज पर भी अपने मिमिक्री के प्रोग्राम पेश करने लगे. इसी दौरान उनकी मुलकात संगीतकार जोड़ी कल्याणजी -आनंद जी से हुयी. उन्हें साल 1982 में कल्याणजी -आनंद जी व अमिताभ बच्चन के साथ दुनिया भर में संगीतमय प्रोग्राम के टूर में भाग लेने का मौका मिला.