IND vs BAN ODI: सैमसन और ईशान विकल्प के तौर पर तैयार

IND vs BAN ODI: सैमसन और ईशान विकल्प के तौर पर तैयार

नई दिल्ली न्यूजीलैंड में वनडे सीरीज हारने के बाद अब टीम इण्डिया बांग्लादेश पहुंच चुकी है यहां दोनों राष्ट्रों के बीच 3 वनडे की सीरीज खेली जानी है इसका पहला मुकाबला 4 दिसंबर को है इस सीरीज के जरिए टीम इण्डिया अगले वर्ष हिंदुस्तान में होने वाले वनडे वर्ल्ड कप की तैयारियों की आरंभ करेगी रोहित शर्मा की बतौर कप्तान वापसी हुई है वहीं, बाकी दो सीनियर खिलाड़ी विराट कोहली, केएल राहुल भी टीम में लौटे हैं हालांकि, टीम सेलेक्शन अब भी प्रश्नों के घेरे में हैं क्योंकि न्यूजीलैंड के लिए जो 14 खिलाड़ी चुने गए थे, उनमें से 8 बांग्लादेश के विरूद्ध वनडे सीरीज की टीम में नहीं हैं

इसमें शुभमन गिल, सूर्यकुमार यादव और संजू सैमसन, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव जैसे खिलाड़ी शामिल हैं अब इन 8 खिलाड़ियों को बाहर करने का आधार क्या है? इस प्रश्न का उत्तर शायद बीसीसीआई या टीम मैनेजमेंट के पास ही हो

खैर, इस बारे में बात फिर कभी आज उन दो खिलाड़ियों की बात, जिनके लिए बांग्लादेश दौरा अहम है अब समय आ गया है कि टीम को इन्हें कद या पिछले प्रदर्शन नहीं, बल्कि हालिया खेल और टीम की आवश्यकता के हिसाब से आंकना चाहिए इन दो खिलाड़ियों के नाम हैं शिखर धवन और ऋषभ पंत इन दोनों खिलाड़ियों के लिए बांग्लादेश के विरूद्ध वनडे सीरीज अहम होगी यदि इस सीरीज में यह अपने कद के मुताबिक, प्रदर्शन करने में असफल रहे तो फिर भारतीय टीम मैनेजमेंट के लिए इनसे आगे देखने का समय आ गया है क्योंकि धवन और पंत की स्थान लेने के लिए खिलाड़ी तैयार हैं

ऐसे में केवल पिछले प्रदर्शन और सीनियर होने के नाते इन्हें बार-बार मौका देने का फैसला, उन खिलाड़ियों के लिए मायूस करने वाला होगा, जो लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं फिर भी टीम में उनकी स्थान बैकअप खिलाड़ी के तौर पर ही है

पंत में एक्स फैक्टर नजर नहीं आ रहा

ऋषभ पंत बीते 1 वर्ष से लिमिटेड ओवर फॉर्मेट में कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं उन्हें भले ही एक्स फैक्टर खिलाड़ी माना जाता है लेकिन, बीते 12 महीने में टी20 और वनडे में तो उनके इस रुतबे वाली पारियां शायद ही किसी ने देखी हों इसमें कोई संदेह नहीं कि पंत टैलेंटेट खिलाड़ी हैं और उनकी बेखौफ बल्लेबाजी, आज जिस तरह से क्रिकेट खेली जा रही है, उससे एकदम मेल खाती है लेकिन, वो टेस्ट के प्रदर्शन को वनडे, टी20 में अबतक दोहराने में असफल रहे हैं

सैमसन और ईशान विकल्प के तौर पर तैयार

पंत ने 2022 में वनडे की 10 पारियों में 37.33 की औसत से 336 रन बनाए हैं उन्होंने 1 शतक और दो अर्धशतक भी लगाए हैं इसी अवधि में उनकी स्थान लेने के सबसे बड़े दावेदारों में शुमार संजू सैमसन और ईशान किशन का प्रदर्शन देखें तो यह दोनों पंत से पीछे नहीं हैं संजू ने 2022 में 9 वनडे पारियों में 71 की औसत से 284 रन बनाए हैं वहीं, ईशान ने 6 पारियों में 207 रन बनाए हैं इन दोनों ने पंत के बराबर दो अर्धशतक लगाए हैं वहीं, यदि टी20 में देखें तो पंत ने 2022 में अब तक 21 पारियों में 132.8 के हड़ताल दर से 364 रन बनाए हैं उनके बल्ले से एक अर्धशतक निकला

इसी दौरान, ईशान किशन ने 16 पारियों में 127 के हड़ताल दर से 476 रन बनाए हैं किशन ने 3 अर्धशतक लगाए हैं सैमसन को इस वर्ष 6 टी20 खेलने का ही मौका मिला है इसमें उन्होंने 158 के हड़ताल दर से 179 रन बनाए हैं यानी वनडे और टी20 दोनों ही फॉर्मेट में हिंदुस्तान के पास पंत से आगे देखने के लिए दो खिलाड़ी उपस्थित हैं

धवन से आगे देखने का समय आ गया

धवन भले ही इस वर्ष वनडे में हिंदुस्तान के लिए सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं उन्होंने 19 मैच में 670 रन बनाए हैं लेकिन, उनका हड़ताल दर कठिनाई बढ़ाने वाला है वो टॉप ऑर्डर में खेलते हैं ऐसे में धीमा हड़ताल दर टीम की मुसीबत बढ़ा सकता है शिखर कद्दावर खिलाड़ी हैं और रोहित के साथ उनकी सलामी जोड़ी हिट रही है लेकिन, हाल के दिनों में वो अपनी उपयोगिता साबित करने में असफल रहे हैं कम से कम एक टॉप ऑर्डर बल्लेबाज से, जिस तरह की आरंभ दिलाने की आशा की जाती है, वो उसमें असफल रहे हैं

तीसरे ओपनर के तौर पर शुभमन गिल अब एकदम साफ दावेदार हैं उनका हालिया रिकॉर्ड भी बहुत बढ़िया है गिल ने 2022 में वनडे में अब तक 12 पारियों में 70 की औसत और 102 के हड़ताल दर से 638 रन बनाए हैं वो 1 शतक और 4 अर्शतक लगा चुके हैं ऐसे में बांग्लादेश दौरे पर यदि धवन का बल्ला नहीं चला तो फिर टीम मैनेजमेंट को कड़ा निर्णय लेने से हिचकना नहीं चाहिएक्योंक विश्व कप में 11 महीने से कम का समय बचा है ऐसे में हर खिलाड़ी को सेटल होने के लिए पर्याप्त मौके मिलने चाहिए