दिल्ली-एनसीआर में इतने लोगों को बेचा गया डुप्लीकेट फोन

दिल्ली-एनसीआर में इतने लोगों को बेचा गया डुप्लीकेट फोन

UP News: यूपी (Uttar Pradesh) की नोएडा पुलिस (Noida Police) ने गुरुवार को एक ऐसे रैकेट का पर्दाफाश किया, जिसने दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में डुप्लीकेट एप्पल आईफोन (Apple iPhone) बेचकर सैकड़ों लोगों को चूना लगाया. पुलिस ने तीन आरोपियों को अरैस्ट कर उनके कब्जे से 60 डुप्लीकेट आईफोन बरामद किए गए हैं. जिस मॉडल के डुप्लीकेट आईफोन पुलिस ने बरामद किए उनकी बाजार में मूल्य 66,000 रुपये है.

नोएडा के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (मध्य) साद मियां खान ने बताया कि रैकेट ने दिल्ली के एक बाजार से डुप्लीकेट टेलीफोन केवल 12,000 रुपये में खरीदे. फिर वे चीनी औनलाइन शॉपिंग पोर्टल से ₹4,500 की मूल्य वाले असली आईफोन के बॉक्स खरीदेंगे. साथ ही एप्पल के स्टिकर भी खरीदे. बाद में उन्होंने ₹53,000 की रेट से इन्हें बेच दिया.

इस मोबाइल एप्लिकेशन से लोगों को दिलाते थे यकीन

एडीसीपी खान ने बताया कि संदिग्धों ने बॉक्स से इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी (आईएमईआई) नंबर को स्कैन करने के लिए एक मोबाइल एप्लिकेशन का भी उपयोग किया ताकि वे लोगों को विश्वास दिला सकें कि आईएमईआई नंबर वास्तविक हैं.

पुलिस ने बताया कि संदिग्धों की पहचान ललित त्यागी और रजनीश रंजन के रूप में हुई है, जो मूलरूप से बिहार के रहने वाले हैं और अभी नोएडा में रहते हैं. तीसरा आरोपी अभिषेक कुमार सोनभद्र जिले का रहने वाला है और वर्तमान में वाराणसी में रह रहा था. तीनों को नोएडा की सेक्टर-63 पुलिस ने अरैस्ट किया है.

नोएडा में दो लोगों ने कम्पलेन तो सामने आया गिरोह

बता दें कि कुछ दिनों पहले थाना सेक्टर-63 में दो लोगों ने एक ऐसी कम्पलेन की थी. इसके बाद पुलिस ने रैकेट को पकड़ने के लिए काम किया. दोनों ही मामलों में शिकायतकर्ताओं ने बोला कि जब उन्होंने पहली बार आईफोन देखा तो वास्तविक था. लेकिन बाद में उन्होंने देखा तो नकली आईफोन था. पुलिस ने आरोपियों के विरूद्ध गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया है.

एडीसीपी खान ने बताया कि पुलिस ने रैकेट के कब्जे से 60 डुप्लीकेट आईफोन और ₹4.50 लाख नकद बरामद किए हैं. उनके द्वारा उपयोग की जा रही एक रेनॉल्ट डस्टर कार भी बरामद की गई है. उन्होंने बोला कि पुलिस टीम ने संदिग्धों के पास से जाली आधार कार्ड और अन्य डॉक्यूमेंट्स भी बरामद किए हैं.