सरकारी नौकरी करने की ठान चुके युवाओं के लिए सुनहरा अवसर

 सरकारी नौकरी करने की ठान चुके युवाओं के लिए सुनहरा अवसर

खास बातें Sarkari Naukri Result Live Jobs Update: सरकारी नौकर करने की ठान चुके युवाओं के लिए सुनहरा अवसर है  इस समय कई विभागों में बंपर नौकरियां निकली हैं, जिनके लिए आवेदन जारी हैं. इनके लिए योग्य और इच्छुक उम्मीदवार इन भर्तियों के लिए आवेदन कर सकते हैं. दूसरी ओर आज दोपहर 12 बजे छत्तीसगढ़ बोर्ड की ओर से कक्षा दसवीं और बारहवीं कक्षा के बोर्ड परीक्षा रिज़ल्ट की भी घोषणा कर दी जाएगी. रिजल्ट के हर अपडेट के लिए आप इस लाइव ब्लॉग- छत्तीसगढ़ बोर्ड रिज़ल्ट पर जा सकते हैं.  : कर्मचारी चयन आयोग, जेएसएससी समेत विभिन्न विभागों में बंपर भर्तियां, शीघ्र करें आवेदन  Sarkari Naukri Result Live Jobs Update: कर्मचारी चयन आयोग यानी एसएससी ने फेज-10 के अनुसार हजारों पदों पर भर्ती के लिए योग्य उम्मीदवारों से आवेदन आमंत्रित किए हैं. जो भी उम्मीदवार इस भर्ती में शामिल होना चाहते हैं, वह अपना आवेदन कर्मचारी चयन आयोग की आधिकारिक वेबसाइट  ssc.nic.in पर जाकर सभी महत्वपूर्ण दिशा-निर्देशों का पालन कर के पूरा कर सकते हैं.


घूस लेकर चीनी नागरिकों को दिलवाया वीजा

घूस लेकर चीनी नागरिकों को दिलवाया वीजा

सीबीआई ने पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम के बेटे और कांग्रेस पार्टी सांसद कार्ति चिदंबरम के विरूद्ध एक और मामला दर्ज कर उनके करीब 10 ठिकानों पर छापेमारी की ये छापेमारी दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कर्नाटक, पंजाब और ओडिशा में की गई है सीबीआई ने कार्ति चिंदबरम और दूसरे आरोपियों के विरूद्ध जो मामला दर्ज किया है उसमें आरोप है कि कार्ति ने 50 लाख रुपये घूस लेकर गृह मंत्रालय से चीनी नागरिकों को वीजा दिलवाया हैय

चीनी नागरिकों को दिलवाया वीजा

सीबीआई में दर्ज मुद्दे के अनुसार पंजाब के मानसा में तलवंडी साबो पावर प्लांट लग रहा था इस थर्मल पावर प्लांट की क्षमता 1980 मेगा वॉट थी जिसे लगाने का जिम्मा चीन की Shandong Electric Power Construction Corp (SEPCO) को दिया गया था

यही वजह थी कि इस प्लांट को लगाने के लिये चीन के इंजीनियरों को प्रोजेक्ट वीजा दिया गया था लेकिन काम में देरी के चलते कंपनी को अधिक चीनी इंजीनियरों की आवश्यकता थी जिसके लिये वे वीजा स्वीकृति चाहिये थे क्योंकि इससे पहले जो प्रोजेक्ट वीजा दिये गये थे वो तय समय से अधिक हो चुके थे और फिर से वीजा के लिये गृह मंत्रालय से स्वीकृति महत्वपूर्ण थी

एक कपंनी के जरिए 50 लाख की घूस

इसके लिये पावर प्लांट ने कार्ति चिंदबरम को संपर्क किया और फिर 50 लाख रुपयों के बदले कार्ति चिदंबरम ने गृह मंत्रालय से 263 Re-use प्रोजेक्ट वीजा की स्वीकृति दिलवाई ध्यान देने वाली बात ये है कि वर्ष 2011 में जब ये स्वीकृति दिलवाई गई उस दौरान कार्ति के पिता पी चिदंबरम राष्ट्र के गृहमंत्री थे  

एजेंसी के अनुसार चीनी इंजीनियरों को वीजा दिलाने के बदले जो 50 लाख की घूस दी गई थी वो मुंबई की एक कंपनी M/s Bell Tools Ltd के जरिये दी गई थी कार्ति की कंपनी ने कंस्लटेंसी के नाम पर फर्जी बिल इस कंपनी के नाम बनाया जिसके बदले ये रिशवत दी गई