ये कैसा सम्मान, भारत-चीन युद्ध में मिला था विशेष अवॉर्ड

ये कैसा सम्मान, भारत-चीन युद्ध में मिला था विशेष अवॉर्ड

हैदराबाद: इंदिरा गांधी के शासनकाल में कई सैनिकों को निकाला गया था, जिसमें हैदराबाद के पूर्व सेना के जवान शेख अब्दुल करीम (Sheikh abdul kareem) का नाम भी शामिल है। बता दें कि शेख अब्दुल करीम को साल 1971 में हुए भारत और चीन के युद्ध में स्टार मेडल के साथ विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया था, इसके बावजूद वे आज परिवार का जीवनयापन करने के लिए हैदराबाद के सड़कों पर ऑटो रिक्शा चला रहे हैं।

सैनिक को मिल चुका है विशेष पुरस्कार
देश सेवा के लिए काम कर चुके करीम ने अपनी निजी जिंदगी के बारे में बताया, “ मैंअपने पिता की मृत्यु के बाद 1964 में भारतीय सेना में भर्ती हुआ था। मेरे पिता पहले ब्रिटिश सेना के लिए काम करते थे और बाद में वह भारतीय सेना में शामिल हो गए।” उन्होंने आगे बताया, “1971 के भारत-चीन युद्ध के दौरान मेरी तैनाती लाहौल क्षेत्र में हुआ था। इसके लिए मुझे स्टार मेडल से सम्मानित किया गया और 1971 में विशेष पुरस्कार भी मिला।”

जमीनी मामला
करीम ने बताया कि उस दौर में इंदिरा गांधी के शासनकाल चल रहा था। उनके शासनकाल में कई जवानों को सेना से निकाला गया था। इस निष्कासन में मेरा भी नाम शामिल था। उन्होंने बताया कि जब वे सेना में थे, तभी उन्होंने सरकारी जमीन के अपील की थी। इस अपील के बाद उन्हें गोलापल्ली गांव में 5 एकड़ जमीन प्राप्त हुई, लेकिन करीब 20 साल बाद उस जमीन में 7 लोगों का हिस्सा लगा। जब इसकी शिकायत की तो उन्हें 1 एकड़ जमीन पेश की गई। लेकिन उस जमीन का दस्तावेज आज तक तैयार नहीं हुआ है।

सैनिक ने सरकार से की अपील
करीम ने सरकार ने यह अनुरोध किया है कि बेघर हुए पूर्व सैनिकों को वो डबल बेडरूम फ्लैट दिए जाए, जो गरीबों को मुहैया कराया जाता है। उन्होंने सरकार से अपील करते हुए कहा है, “सेवा पदक जीतने के बावजूद मुझे सरकार की तरफ से किसी भी प्रकार की पेंशन या कोई वित्तीय सहायता नहीं मिली है। मैं केंद्र सरकार से आर्थिक रूप से कमजोर पूर्व सैनिकों की सहायता करने का भी अनुरोध करता हूं।”

ऑटो-रिक्शा चला रहा है पूर्व सैनिक
71 वर्ष के करीम ने कहा, “मैंने नौ साल तक सेना के जवान के रूप में इस देश को अपनी सेवाएं दीं, लेकिन मुझे हटा दिया गया और अब 71 साल की उम्र में एक ऑटो-रिक्शा चला रहा हूं। मेरे परिवार को खाना खिलाना मुश्किल हो गया है। मेरे पास अपना घर भी नहीं है जिससे मैं अपने परिवार की देखभाल कर सकूं।”


अखिलेश ने कहा कि लखनऊ कैंसर इंस्टीट्यूट को कोरोना मरीजों के लिए खोले योगी सरकार

अखिलेश ने कहा कि लखनऊ कैंसर इंस्टीट्यूट को कोरोना मरीजों के लिए खोले योगी सरकार

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखनऊ कैंसर संस्थान को कोविड-19 के मरीजों के लिए खोले जाने का सुझाव सरकार को सोमवार ट्वीट करके दिया है।

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को एक ट्वीट में कहा,‘‘इस मेडिकल इमरजेंसी के दौर में सपा के समय शुरू हुआ ‘लखनऊ कैंसर संस्थान’ का विशाल परिसर पहले चरण में 750 एवं कुल 1250 बेड के लिए स्थान उपलब्ध कराएगा।‘‘

उन्होंने आगे लिखा,‘‘सपा ने डेढ़ साल में जिस कैंसर इंस्टीट्यूट को बनाया था, उसे भाजपा सरकार अपने चार साल के कार्यकाल के बाद कोविड के लिए तो खोल दे।‘‘

उल्लेखनीय है कि पिछले नवरात्र में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चक गंजरिया सिटी सुलतानपुर रोड पर ‘लखनऊ कैंसर संस्थान’ का लोकार्पण किया था और तब उन्होंने कहा था कि शुरुआत में इसकी क्षमता 54 बिस्तरों की है जिसे जल्द ही 750 बिस्तरों वाला कर दिया जायेगा। योगी ने कहा था कि अगले चरण में इस इंस्टीट्यूट को 1250 बेड की क्षमता का किये जाने का लक्ष्य है। 


गर्मियों में बीमारियों से बचने के लिए ध्यान रखें ये विशेष बातें       राजेश खन्ना के बंगले में जमीन पर बैठते थे डायरेक्टर-प्रोड्यूसर       अथिया शेट्टी ने किया rumoured बॉयफ्रेंड KL Rahul को बर्थडे विश       रिजिजू ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में डबल डिजिट में पदक आने की उम्मीद       कुम्भ मेले से लौटने वाले लोग बढ़ा सकते हैं कोरोना महामारी को : संजय राउत       अखिलेश ने कहा कि लखनऊ कैंसर इंस्टीट्यूट को कोरोना मरीजों के लिए खोले योगी सरकार       राज ठाकरे ने कहा कि प्रवासी मजदूर हैं महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के तेजी से फैलने के लिए जिम्मेदार       योगी सरकार के मंत्री ने ही लखनऊ में कोरोना हालात पर उठाए सवाल, CM पृथक-वास में       किसी वर्ग का नहीं, सबका होता है मुख्यमंत्री: योगी आदित्यनाथ       यूपी में कोरोना का कहर, योगी सरकार ने उठाए ऐहतियाती कदम       रमजान समेत अन्य त्योहारों को लेकर बोले सीएम योगी       उत्तरप्रदेश में टूटा Corona का कहर, एक दिन में मिला इतने नए केस       दिल्ली के बाद UP में भी लगा Lockdown, बंद रहेंगे सभी बाजार और दफ्तर       High Level मीटिंग के दौरान Nude दिखे कनाडा के सांसद       हवा के जरिए फैलता है कोरोना, 'द लांसेट' की रिपोर्ट में मिले पक्के सबूत       कोरोना वायरस रोधी टीके है कम असरदार, चीन के अधिकारी का दावा       रेप की घटनाओं पर इमरान खान का बेतुका बयान, कहा...       फ्रांस से तीन और राफेल विमान बिना रुके पहुंचे भारत       हर्षवर्धन ने साधा निशाना, मोदी सरकार को रास नहीं आए मनमोहन के कोरोना पर सुझाव       अभी अभी: मनमोहन सिंह कोरोना वायरस से संक्रमित, एम्स में भर्ती