महंगे होंगे 2-व्हीलर्स, आर्थिक मंदी बिक्री में गिरावट, जाने इसका वजह

महंगे होंगे 2-व्हीलर्स, आर्थिक मंदी बिक्री में गिरावट, जाने इसका वजह

एक तरफ जहां देश की प्रमुख टू-व्हीलर कंपनी बजाज का बोलना है कि ऑटो सेक्टर में सुस्ती के लिए आर्थिक मंदी से ज्यादा ओवर प्रोडक्शन जिम्मेदार है। वहीं दूसरी ओर होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया ने देश में दोपहिया वाहनों की बिक्री में गिरावट के लिए अर्थव्यवस्था की सुस्ती को बड़ी वजह बताया है।

वाहनों के दाम व बढ़ेंगे
होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया (HMSI) के मुख्य कार्यकारी ऑफिसर अधिकारी एवं प्रबंध निदेशक मिनोरु कातो ने बोला कि अगले वर्ष से BS6 उत्सर्जन मानक लागू होने के बाद वाहनों के दाम व बढ़ेंगे। इससे इंडस्ट्री के लिए चुनौती भी बढ़ेगी। कातो ने बोला कि सितंबर, 2018 से बीमा प्रीमियम में हुई बढ़ोतरी, उपभोक्ताओं का GST (GST) में कटौती का इंतजार व BS4 के वाहनों में भारी छूट की उम्मीद ऐसे अन्य कारण हैं, जिनकी वजह से वाहनों की बिक्री घट रही है।

BS6 वाला पहला स्कूटर लॉन्च किया

उन्होंने HMSI के पहले BS6 मानक वाले मॉडल एक्टिवा-125 (Activa 125) स्कूटर पेश किए जाने के मौके पर बोला कि इंडस्ट्री उम्मीद कर रही थी कि जब उपभोक्ता बीमा प्रीमियम में बढ़ोतरी के फायदे के बारे में जान जाएंगे, तो बिक्री में सुधार होगा। उन्होंने बोला कि अब उपभोक्ता GST में कटौती का इंतजार कर रहे हैं। भारतीय अर्थव्यवस्था में सुस्ती की वजह से भी मांग घटी है। कंपनी के BS6 मानक वाले एक्टिवा स्कूटर की शोरूम मूल्य 67,490 रुपए है।

22 वर्ष की सबसे बड़ी गिरावट
देश में लगातार 10वें महीने पैसेंजर व्हीकल की बिक्री (August Auto Sales) कम हुई है। SIAM की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, अगस्त में पैसेंजर व्हीकल (Passenger Vehicles Sales) की बिक्री पिछले वर्ष इसी महीने की तुलना में 31.57 प्रतिशत घटकर 1,96,524 वाहन रह गई। वहीं अगस्त 2018 में 2,87,198 वाहनों की बिक्री हुई थी। ऑटो सेल्स में आई ये 22 वर्ष की सबसे बड़ी गिरावट है। देश के ऑटो सेक्टर की हालत लगातार बिगड़ती जा रही है। सियाम की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 1997-98 के बाद ऑटो सेल्स में किसी भी महीने में आई अब तक की सबसे बड़ी गिरावट है। वहीं, इस दौरान बाइक बिक्री बिक्री गिरकर 3 वर्ष के निचले स्तर पर आ गई है।